Get Even More Visitors To Your Blog, Upgrade To A Business Listing >>

Panchatantra Stories in Hindi Written / पंचतंत्र की कहानी इन हिंदी

Panchatantra Stories in Hindi Written मित्रों इस पोस्ट में पंचतंत्र की हिंदी कहानी दी गयी है।  आपको यह पंचतंत्र की कहानी जरूर पसंद आएगी।

Panchatantra Stories in Hindi Written Short ( पंचतंत्र की कहानी ) 

हिरन, बन्दर और मगरमच्छ , ये एक बड़े से जंगले में रहते थे. उस जंगले के बीचो बीच एक तालाब भी था. उस तालाब के नज़दीक हिरन और एक बन्दर रहते थे.

हिरन और बन्दर बहुत ही अच्छे और पक्के दोस्त थे. और ये दोनों हमेशा एक दुसरे के साथ ही रहते थे. जो तालाब था उस में ये दोनों पानी पीने के लिए जाते थे. इस तालाब में एक विशाल मगरमच्छ  भी रहता था.

इसके साथ-साथ उस तालाब के आसपास वो दोनों एक ज़मीन पर उगा घास खा कर खुश रहते थे. उस जंगले में उस हिरन के अलावा कोई भी हिरन नहीं रहता था, इसलिए वो हिरन अकेलापन महसूस कर रहा था.

जहाँ पे हिरन और बन्दर पानी पीने के लिए जाते थे. उस में वो विशाल नदी का मगरमच्छ हिरन का शिकार करना चाहता था, लेकिन उस  मगरमच्छ को कोई भी मौका नहीं मिलता था उस हिरन का शिकार करने के लिए.

इसके साथ-साथ उस मगरमच्छ को ये भी पता था कि वो हिरन बहुत ही स्पूर्ति वाला है, और पानी के बहार इस हिरन का शिकार हो ही नहीं सकता.

मगरमच्छ सोचता था कि किसी भी तरह ये पानी में उतर जाये तो ही इसका शिकार कर सकता हूँ. लेकिन हिरन इतना चालाक था कि वो हर रोज़ पानी उस तालाब के किनारे ही पीता था.

एक दिन हिरन और बन्दर पानी पीते समय आपस में एक दुसरे के साथ बात कर रहे थे.

Hiran : पता नहीं, इतनी बड़े जंगले मैं-में क्यों अकेला हिरन हूँ?

Bandar : हाँ दोस्त, में भी यही सोचता हूँ, लेकिन जब तक हम दोनों साथ हैं. तब तक हमे चिंता करने की कोई जरुरत नहीं हैं. हम
एक दुसरे का ख्याल  रख सकते है, और हम ख़ुशी-ख़ुशी अपनी ज़िन्दगी जी लेंगे.

Hiran : हाँ दोस्त, तुम तो सही बात कह रहे हो. में तुम्हारे ही भरोसे यहाँ जी रहा हूँ. हिरन की बात सुन कर मायूस मन से बन्दर ने कहा ?

Bandar : वैसे भी हमारे पास रहने की जगह तो हैं. और खाने को ये ताजी-ताजी घास हैं. इसके साथ-साथ हमें पानी पीने के लिए ये तालाब का शुद्ध पानी भी है, और इन चीजो के लिए हमें क्या चाहिए ?

Hiran : हिरन ने कूदते हुवे कहा, अगर इस जंगल में हिरन का झुंड होता तो में यहा पर घर बसा कर अपना परिवार बना सकता था. मेरा
भी छोटा सा परिवार होता और में भी अपने बच्चों को अपने जीवन के के बारे में सुनाता.

Bandar : हिरन की बात सुनकर बन्दर जोर-जोर से हसने लगा, और इसके साथ-साथ ये दोनों घास  खाने लगे.

दूसरी तरफ तालाब के पानी में चुप कर मगरमच्छ इन दोनों की बातें सुन रहा था. वो समझ गया कि हिरन दूसरी हिरन की झुंड की
तलाश में हैं. और परिवार बनाने के लिए बेताब भी हैं. मगरमच्छ ने इसी कमजोरी का फायदा उठाने का सोचा.

मगरमच्छ सोचता रहा कि मैं  किस तरह इस हिरन को अपने झांसे में लूँ. एक दिन इस मगरमच्छ ने एक योजना बनाई.

पहले दिन  हिरन पानी पीने के लिए उस तालाब के पास गया. लेकिन उस तालाब के अन्दर पहले से ही मगरमच्छ इसका इंतिजार कर
रहा था. जब हिरन पानी पीने के लिए बैठा तो  मगरमच्छ ने अपने आप से बात करने का नाटक किया.

मगरमच्छ बोला, में बहुत ज्यादा तंग आ चूका हूँ,पानी में रहने वाले इन हिरन  के झुण्ड से. इनसे अच्छा तो वो पानी के बाहर रहने वाला हिरन है. जो कि किसी को भी परेशान ही नहीं करता हैं.

Hiran : पानी से आने वाली आवाज़ सुन कर हिरन चौंक  गया. लेकिन उसको लगा कि शायद उसके मन का कोई वहम होगा. या फिर
इसके कान बजे होंगे. और ये समझ कर हिरन पहले दिन चला गया.

दुसरे दिन : लेकिन दुसरे दिन वो मगरमच्छ छुपकर पानी में बैठा था. और जैसे ही हिरन पानी पीने के लिए आया तो मगरमच्छ ने बोला, ”  तौबा – तौबा इन हिरन  से मेरा जीना बहुत ही ज्यादा मुश्किल हो गया है. पता नहीं बच्चों को ऐसे कैसे खेलने भेज देते है, यहाँ के हिरन. ”

Hiran : इस बार हिरन को लगा कि ये उसका वहम नहीं, बल्कि सच में ये हो रहा हैं. ये सोचकर हिरन ने आवाज़ लगाई, ” कौन है वहाँ पानी में ? ”

बस मगरमच्छ को इसकी मौके  का इंतिजार था. वो तुरंत बाहर आया और बोला, ” माफ़ करना मुझे, में आपको डराना नहीं चाह रहा था. लेकिन यहाँ पानी के निचे रहने वाले हिरन और उनके बच्चे मुझे बहुत तंग करते हैं. ”

Hiran : क्या पानी के अन्दर भी हिरन रहते हैं?

मगरमच्छ : हाँ, तुम्हारे अलावा बाकि सारे हिरन पानी के अन्दर ही रहते हैं. इसलिए तुम बाहर अकेले हो.  मगरमच्छ अब आगे बात
करता, लेकिन उससे पहले ही बन्दर ने हिरन को आवाज लगई. और हिरन तुरंत अपने दोस्त बन्दर के पास चला गया. लेकिन मगरमच्छ
को लगा ये बन्दर मेरी बात बिगाड़ देगा.

Hiran : हिरन बन्दर के पास जा कर पहले दिन से ही सभी बातें इस बन्दर को बोलने लगा.

Bandar : बन्दर सारा कुछ समझ गया हिरन का शिकार करने के लिए ये मगरमच्छ की चाल हैं.  हिरन ने अपने दोस्त को ये भी बताया कि मेरे अलावा बाकि सारे हिरन उस तालाब में रहते हैं.

इस पर बन्दर ने इस हिरन को बोला कि ये सब उस मगरमच्छ की चाल हैं. लेकिन हिरन अपने दोस्त की बात ही नहीं समझ पा रहा था.

इस बन्दर की बात सुनकर हिरन ने कहा, ” पर तुम्हे कैसे पता है कि पानी के अन्दर हिरन नहीं रहते? हो सकता है कि मगरमच्छ सच बोल रहा हो. ”

अब बन्दर समझ गया कि हिरन अपने अकेलेपन  से ज्यादा दुखी हैं, उसको समझाने के लिए बातें नहीं चलेगी. उसको सचाई
दिखानी होगी, तभी हिरन को समझ आएगा सब कुछ.

तीसरे दिन : जब तीसरे दिन हिरन के पास पानी पीने के लिए गया तो उसके साथ बन्दर एक सूखी लकड़ी लेके उसके पीछे-पीछे गया.
आज भी मगरमच्छ नाटक करने के लिए पानी के अन्दर छुपा हुवा था. जैसे ही हिरन पानी पीने के लिए झुका तो तुरंत मगरमच्छ बोलने
लगा.

मगरमच्छ : अरे ये हिरन के बच्चे कितना ज्यादा शैतानी करते हैं. पानी के बाहर देखो वो हिरन कितना शांत रहता हैं. उसकी तरह शांत
रहना सीखो.

मगरमच्छ की बात सुन कर हिरन ने कहा, ” अगर मैं भी पानी के अन्दर आ जाऊं , तो क्या तुम मुझे उन बच्चो से मिला सकते हो ? ”

हिरन की बात सुनकर मगरमच्छ खुश हो गया. और ये हिरन का शिकार करने के लिए तैयार हो गया.

तभी बन्दर ने जल्दी उस लकड़ी को पानी में डुबाया. और  मगरमच्छ को लगा कि ये हिरन का पैर हैं. उसने उछल कर लड़की
को अपने झपेड में पकड़ लिया.

मगरमच्छ का ये रूप देख कर हिरन बहुत ही ज्यादा डर गया और ये हिरन अपने दोस्त के साथ इस तालाब के किनारे से दूर भाग गया. फिर हिरन ने अपने दोस्त बन्दर से कहा, ” मेरी जान बचने के लिए में तुम्हारा जीवन भर आभारी रहूँगा. में पागल हूँ, जो मगरमच्छ की बातो में आ गया. और अब में तुम्हे छोड़ कर कही भी नहीं जाऊँगा। ”

बन्दर ने मुस्कुराते हुए कहा, ” कोई बात नहीं दोस्त, में तुम्हे यही बताना चाह रहा था, मगर अब तुम समझ गए. ”

Conclusion :- अगर आपको हमारी ये कहानी Panchatantra Stories in Hindi Written अच्छी लगी होगी, तो फिर इस कहानी Best Panchatantra Stories in Hindi Written को अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करना. ताकि वो भी जान सखे दोस्ती किस तरह से निभाई जाती हैं दूसरी कहानियां नीचे की लिंक पर क्लिक करके पढ़ें।

1- Website se paise kaise kamaye

2- Bedtime Stories in Hindi For Kids / बच्चों की हिंदी कहानियां जरूर पढ़ें।

3- Jalpari Ki Kahani Hindi Written / जलपरी की कहानी इन हिंदी जरूर पढ़ें।

4- Panchatantra Stories in Hindi For Class 8 / पंचतंत्र की कहानी हिंदी में

The post Panchatantra Stories in Hindi Written / पंचतंत्र की कहानी इन हिंदी appeared first on Akbar Birbal Story in Hindi.



This post first appeared on Akbar Birbal Story In Hindi, please read the originial post: here

Share the post

Panchatantra Stories in Hindi Written / पंचतंत्र की कहानी इन हिंदी

×

Subscribe to Akbar Birbal Story In Hindi

Get updates delivered right to your inbox!

Thank you for your subscription

×