Get Even More Visitors To Your Blog, Upgrade To A Business Listing >>

वृषभ जयंती : गौ दान का हैं विशेष महत्व

सूर्य का वृषभ सक्रांति में प्रवेश ही वृषभ सक्रांति (vrishabha jayanti ) कहलाता हैं, इस वर्ष वृषभ सक्रांति    (Vrishabha Sakranti 15 मई 2018 ) को होगी. हिन्दू धर्म में ज्योतिष का महत्वपूर्ण स्थान हैं, यहाँ हर व्यक्ति का नाम उसके राशि के अनुसार रखा जाता हैं. हिन्दू धर्म ज्योतिष विद्या के अनुसार बारह रशिया होती हैं, और सूर्य परिक्रमा करते हुए हर राशि में जब प्रवेश करता हैं, इसी घटना को अर्थात राशि परिवर्तन की घटना को सक्रांति कहा जाता हैं.

बारह राशियों के अनुसार वर्ष में बारह सक्रांति होती हैं, सौतमंडल में हर ग्रह परिक्रमा करते हुए प्रत्येक राशि में प्रवेश करता हैं, और हर ग्रह राशि में प्रवेश उस राशि के लिए कोई न कोई महत्वपूर्ण घटना का करक होता हैं,.सूर्य के परिवर्तन से कौन सी राशि के लिए समय अनुकूल या प्रतिकूल रहेगा,सूर्य का ये राशि परिवर्तन भी एक महत्वपूर्ण घटना हैं.

Sankranti 2018 Date

vrishabha jayanti

सूर्य के बारह राशियों में प्रवेश की घटना ही संक्रांति (Sankranti Date) कहलाती हैं, बारह राशियों के अनुसार ही वर्ष में बारह सक्रांति होती हैं. वर्ष 2018 में सक्रांति की तिथि निम्न प्रकार हैं:

14 जनवरी (रविवार ) मकर संक्रांति

13 फरवरी (मंगलवार ) कुम्भ संक्रांति

14 मार्च (बुद्धवार ) मीना संक्रांति

14 अप्रैल (शनिवार ) मेष संक्रांति

15 मई (मंगलवार ) वृषभ संक्रांति

15 जून (शुक्रवार ) मिथुन संक्रांति

16 July (सोमवार ) कर्क संक्रांति

17 अगस्त (शुक्रवार ) सिंह संक्रांति

17 सितम्बर (सोमवार ) कन्या संक्रांति

17 अक्टूबर (बुद्धवार ) तुला संक्रांति

16 नवंबर (शुक्रवार ) वृश्चिक संक्रांति

16 दिसंबर (रविवार ) धनु संक्रांति

Vrishabha Sankranti Importance

मकर संक्रांति की तरह ही वृषभ संक्रांति (vrishabha jayanti importance) में भी दान पुण्य का बहुत महत्व होता हैं. वृषभ का अर्थ हैं बैल . हिन्दू संस्कृति में बैल अर्थात नंदी को भोलेनाथ (bholenath)  का वहांन माना जाता हैं. इसलिए  वृषभ की हिन्दू धर्म में अधिक मान्यता बहुत अधिक हैं. वृषभ संक्रांति में स्नान दान की तो महत्ता हैं ही , इसके अलावा इस दिन भगवान को अर्पण किया जाने वाले भोग की भी बहुत मान्यता हैं, इस दिन भगवान को पूजा के बाद खीर का भोग लगाया जाता हैं , इसके अलावा इस दिन शयन के लिए जमीन पर ही सोना उत्तम कारक हैं. ऐसा करने व्यक्ति के सारे मनोरथ सफल होते हैं,

अगर हम दान की बात करे तो वृषभ सक्रांति के दिन पानी से भरे घड़े का दान करना , और गाय का दान करना बहुत ही शुभ फलदायी माना जाता हैं.वृषभ सक्रांति के दिन तर्पण का विशेष महत्व हैं.इस दिन गाय का दान करना बहुत ही पुण्य और शुभ माना गया हैं,

देश के विभिन्न प्रांतो में वृषभ सक्रांति अलग अलग नामो से मनाई जाती हैं. उड़ीसा में वृषभ सक्रांति को ब्रश सक्रांति के रूप में मनाया जाता हैं. ब्रश सक्रांति के दिन की शुरुवात उड़ीसा में स्नान के रूप में आरम्भ की जाती हैं.इस स्नान का बहुत महत्व हैं इस स्नान को संक्रमण स्नान कहा जाता हैं. उड़ीसावासी इस स्नान को पूर्वजो के सम्मान का प्रतीक मानते हैं. यह सूर्य के प्रति भी सम्मान हैं .उड़ीसा वासी आज के दिन विष्णु की विशेष पूजा करते हैं. पुरी में आज के दिन स्नान का विशेष महत्व हैं.

वृषभ संक्रांति से राशियों में पड़ने वाला प्रभाव

सूर्य के वृषभ राशि में प्रवेश से किन राशियों को सुख समृद्धि मिलेगी और किन राशियों को सावधान रहने की जरुरत हैं आइये जानते हैं.

मेष: मेष के लिए सूर्य का राशि परिवर्तन बहुत शुभ हैं , सूर्य के इस राशि परिवर्तन से मेष के लिए धन प्राप्ति के योग बन रहे हैं.

वृषभ :वृषभ राशि के जातक यदि घर बनाने के इच्छुक हैं तो यह इच्छा अवश्य पूरी होगी , इसके साथ ही आपको स्वास्थ्य के प्रति थोड़ा ध्यान देना होगा.

मिथुन: मिथुन राशि के जातक के लिए सूर्य का राशि परिवर्तन शुभ नहीं हैं .स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखना होगा ,यात्राओं का योग अधिक होगा .

कर्क: मान सम्मान में वृद्धि होगी, नयी नौकरी नए व्यवसाय के अवसर मिल सकते हैं.

सिंह: स्थान परिवर्तन की सम्भावना हैं, नए घर में प्रवेश कर सकते हैं.

कन्या: सूर्य का यह परिवर्तन आपके भाग्य को बदलेगा , सुख समृद्धि के साधन बनेंगे

तुला :तुला राशि के लिए सूर्य का यह राशि परिवर्तन शुभ नहीं हैं, धन हानि का योग हैं.

वृश्चिक :साथी के साथ मतभेद हो सकते हैं. धैर्य और कठिन परिश्रम की आवश्यकता हैं.

धनु: धनु राशि के जातको के लिए ये सूर्य परिवर्तन शुभ हैं, स्वास्थ्य अच्छा रहेगा .

मकर: सूर्य के राशि परिवर्तन से मकर राशि के जातको को अच्छा फल मिलेगा , धन प्राप्ति के योग , मान सम्मान में वृद्धि होगी.

कुम्भ :पैतृक संपत्ति से धन लाभ होने की सम्भावना हैं.,नया वाहन लेने के योग बन रहे हैं.

मीन : मीन राशि के लिए सूर्य का यह राशि परिवर्तन अत्यंत सौभाग्यशाली सिद्ध होगा.

वृषभ जयंती सूर्य के वृषभ राशि में प्रवेश की तिथि होती हैं. वृषभ सक्रांति के दिन दान और स्नान का विशेष और पावन महत्व होता हैं..इस दिन गौदान का विशेष महत्व होता हैं.

The post वृषभ जयंती : गौ दान का हैं विशेष महत्व appeared first on Mereprabhu.



This post first appeared on Kamada Ekadasi 2018, please read the originial post: here

Share the post

वृषभ जयंती : गौ दान का हैं विशेष महत्व

×

Subscribe to Kamada Ekadasi 2018

Get updates delivered right to your inbox!

Thank you for your subscription

×