Get Even More Visitors To Your Blog, Upgrade To A Business Listing >>

intraday vs delivery Trading में जाने आपके लिए क्या सही है ? - Share Market

By - Pradeep Tomar / New Delhi - Know Intraday vs delivery which is better for you?
देखिये सबसे पहले आपको इन दोनों का मतलब समझना जरुरी है, तो सबसे पहले दोनों के अपने अपने फायदे और अपने अपने नुकसान समझते है फिर आप अपने आप फैसला कर सकेंगे की आपके लिए क्या अधिक सही है. क्युकी ज्यादातर ब्रोकिंग कंपनिया आपको Intraday में trading करने के लिए प्रेरित करती है क्युकी इसमें उन्हें हर दिन ब्रोकरेज मिलती है. बाकी आप नीचे दी गयी जानकारी को पढ़कर स्वयं फैसला ले.

तो सबसे पहले जानते है इंट्राडे ट्रेडिंग (Intraday Trading) के बारे में:

1. Intraday ट्रेडिंग में आप कोई भी शेयर खरीदते है तो आपको उस शेयर को उसी दिन बेचना भी पड़ेगा चाहे आपको लाभ हो या हानि.
उदहारण के लिए : आपने XYZ कंपनी के 1000 शेयर 50 रुपये में सुबह ख़रीदे क्युकी कंपनी ने आपको एक्सट्रा  मार्जिन मनी (क्रेडिट) दे रखा है और अगर शाम तक शेयर 50 रुपये से एक भी रुपये ऊपर गया तो आप लाभ कमा सकते है अर्थात जितना ऊपर जायेगा उतना आप (1000 X जितना ऊपर गया) लाभ कमा पायेगे. और अगर वही शेयर ऊपर जाने के वजाय नीचे गया तो आप उतना ही आप अपना नुकसान कर बैठेंगे. उस नुक्सान के साथ ही साथ आपको ट्रेडिंग की फुल वैल्यू पर ब्रोकरेज फीस / ट्रेडिंग फीस और टैक्स भी देना पड़ेगा. क्युकी intraday की वैलिडिटी सिर्फ एक दिन की ही होती है.

2. intraday ट्रेडिंग में ब्रोकिंग कंपनी आपको 20 गुना से लेकर 40-50 गुना आपकी जमा की गयी राशी का मार्जिन मनी (क्रेडिट) देती है जिससे आप ज्यादा शेयर खरीद कर ज्यादा लाभ कमा सकते है ये हर ब्रोकरेज कंपनी का अपना अलग अलग होता है जैसे Angel Broking Trading Co. अपने ट्रेडर्स को 40 गुना क्रेडिट मनी देती है.
उदहारण के लिए : आपने अपने ट्रेडिंग अकाउंट में 10000 रुपये ट्रान्सफर किये तो आप 10000 X 40 = 400000 तक की intraday ट्रेडिंग कर सकते है या शेयर खरीद सकते है. मतलब आप कम रुपये में भी ज्यादा की खरीदारी करके ज्यादा लाभ या हानि कर सकते है जो की आपको सिर्फ उसी एक दिन में करना है क्युकी शाम को शेयर मार्किट बंद होने से पहले ये मार्जिन मनी  (क्रेडिट) वापस करना होता है.

3. intraday शेयर में आपने जो भी शेयर ख़रीदे है उन्हें आपको लाभ या हानि किसी भी स्थिति में शाम तक बेचना होता है नहीं तो वो auto squre off हो जाते है. मतलब अपने आप बिक जायेंगे.

4. intraday में T2T (Trade to Trade segment) के अंतर्गत आने वाले शेयरस को नहीं खरीद सकते क्युकी ये वो शेयर्स होते है जिनमे ज्यादा रिस्क या कुछ सिक्यूरिटी प्रोब्लम्स होती है. इन शेयर्स में आप intraday में ट्रेडिंग नहीं कर सकते पर आप डिलीवरी ले सकते है जिसके लिए आपको उसका पूरा का पूरा भुगतान करना पड़ेगा.

5. intraday ट्रेडिंग में आपको बहुत ज्यादा लाभ या बहुत ज्यादा हानि कर सकते है. मतलब रिस्क डिलीवरी ट्रेडिंग से बहुत ज्यादा होता है.
6. इंट्राडे ट्रेडिंग (intraday Trading) में आप कम पैसो में भी ज्यादा मुनाफा कमा सकते है.
7. इंट्राडे ट्रेडिंग (intraday Trading) में आप लम्बे समय का इन्वेस्टमेंट नहीं कर सकते.
8. Intraday Trading charges ya Brokerage Charges कम होते है अगर डिलीवरी ट्रेडिंग से तुलना करो तो. आप अपने ब्रोकर से इसकी जानकारी जरुर ले.

चलिए अब जानते है डिलीवरी (Delivery Trading) ट्रेडिंग के बारे में:

1. अगर आप शेयर को खरीदते समय डिलीवरी (Delivery Trading ) का आप्शन चुनते है तो आपको वैलिडिटी वाली समस्या नहीं होगी, मतलब शेयर की डिलीवरी मिलने के बाद उसे कभी भी बेंच सकते है, ज्यादातर लोग 2-10 में बेंच कर लाभ कमा लेते है, आप चाहे तो दीर्घकाल रखकर सही समय पर बेंच सकते है.

2. डिलीवरी ट्रेडिंग करने के लिए ज्यादातर ब्रोकिंग कंपनियां आपको क्रेडिट मनी न के बराबर या नहीं देती है. मतलब आपके पास अगर 10000 रुपये है तो आप इसी वैल्यू के शेयर्स खरीद कर रख सकते है.

3. डिलीवरी ट्रेडिंग में ख़रीदे गये शेयर को आप कभी भी बेंच सकते है जब भी आपको लगे की आपको लाभ मिल रहा है .
4. डिलीवरी ट्रेडिंग ( Delivery Trading ) में T2T (Trade to Trade segment) के अंतर्गत आने वाले शेयरस को भी खरीद सकते है लेकिन खरीदने से पहले उनके रिस्क के बारे में जरुर पता कर ले.
5. ऐसा नहीं है की डिलीवरी ट्रेडिंग ( Delivery Trading ) में रिस्क नहीं होता पर intraday से कम होता है मतलब कम रिस्क कम लाभ-हानि, ज्यादा रिस्क मतलब ज्यादा लाभ-हानि की स्थिति रहती है.
6. डिलीवरी ट्रेडिंग ( Delivery Trading ) में आपके पास जितना इन्वेस्टमेंट होगा उतने का ही व्यापार कर सकते है.
7. डिलीवरी ट्रेडिंग ( Delivery Trading ) में आप लम्बे या छोटे समय तक का इन्वेस्टमेंट कर सकते है.
8. Delivery Trading charges ज्यादा होते है अगर intraday से तुलना करो तो. आप अपने ब्रोकर कंपनी  से इसकी जानकारी जरुर ले.
intraday vs delivery Trading में जाने आपके लिए क्या सही है ? - Share Market

इंट्राडे ट्रेडिंग v / s डिलिवरी ट्रेडिंग - Intraday vs Delivery Trading :

यह निष्कर्ष करना आसान है कि इंट्राडे ट्रेडिंग आमतौर पर एक दिन में पूरी हो जाती है। इसका विशेष रूप से मतलब है कि दिन में खरीदे गए सभी शेयरों को बाजार के बंद होने से पहले, दिन के अंत तक बेचा जाना चाहिए। अगर इन शेयरों को नहीं बेचा जाता है, तो वे अपने आप बिक जाते है उस समय पर जो भी उसका रेट हो.

हालांकि, दूसरी तरफ, डिलीवरी आधारित व्यापार में, उच्च लाभ रिटर्न के लिए खरीदी गई शेयर लंबी अवधि के लिए बनाए रखा जा सकता है।

जबकि इंट्राडे ट्रेडिंग कम पूंजी में ही और ब्रोकिंग कंपनी आपको एक्सट्रा मार्जिन मनी देता है, मतलब आप उधार के पैसो से ज्यादा शेयर खरीद कर अपना लाभ लेकर उन पैसो को वापस करना होता है. वही डिलीवरी ट्रेडिंग के लिए इसके लेनदेन के लिए पूरी रकम की आवश्यकता होती है।

तो अब ये आप पर निर्भर करता है की आप कम पैसो में ज्यादा लाभ या हानि लेना चाहते है या जितने आपके पास पैसे है उन्हें से लाभ या हानि लेना चाहते है.

अगर आपको ये लेख अच्छा लगा तो हमें जरुर बताये ताकि इससे सम्बंधित और जानकारी लिख सकू. आप अपने सवाल कमेंट बॉक्स में डाले. और हाँ इस जानकारी को अपने मित्रो के साथ फेसबुक या ट्विटर पर जरुर शेयर करे.

सावधान : शेयर मार्किट में किसी भी तरह इन्वेस्टमेंट बाजार के उतार चढाव पर निर्भर है कृपया बुद्धिमानी से काम ले.



Tags : intraday vs delivery which is better, difference between delivery and margin trading, delivery trading tips, delivery trading brokerage calculation, delivery trading strategy, equity intraday meaning, difference between intraday and margin trading, intraday trading meaning, what is intraday trading with example, intraday trading stocks, intraday trading tips india, what is intraday trading in hindi, delivery trading, intraday meaning, intraday trading meaning in hindi, which is better intraday or delivery, delivery trading rules,


This post first appeared on PradeepTomar Blog - Blogging, Tips, Tricks And Other Best Information, please read the originial post: here

Share the post

intraday vs delivery Trading में जाने आपके लिए क्या सही है ? - Share Market

×

Subscribe to Pradeeptomar Blog - Blogging, Tips, Tricks And Other Best Information

Get updates delivered right to your inbox!

Thank you for your subscription

×