Get Even More Visitors To Your Blog, Upgrade To A Business Listing >>

रक्षाबंधन पर भाषण | Raksha Bandhan Speech

Raksha Bandhan Speech

भारत को त्योहारों का देश कहा जाता है। यहापर जो भी त्यौहार मनाया जाता है उसके पीछे कोई ना कोई कारण जरुर छिपा होता है। उसके पीछे कई बाते होती है जिसकी वजह से त्यौहार मनाया जाता है। हमारे यहाँ दीवाली, दसहरा, जैसे त्यौहार मनाये जाते है लेकिन इन त्योहारों को क्यों मनाया जाता, किस लिया मनाया जाता है, कब से मनाया जाता इसकी जानकारी मिल नहीं पाती। इसी वजह से हम त्यौहार के महत्व को समझ नहीं पाते। उस त्यौहार की पूरी जानकारी अगर हमें मालूम हो तो उसे और भी अच्छे तरीके से मनाया जा सकता है।

Raksha Bandhan Speech
Raksha Bandhan Speech

रक्षाबंधन पर भाषण – Raksha Bandhan Speech

यहापर हम आपको भाई बहन के त्यौहार की जानकरी देने जा रहे है। इस भाई बहन का त्यौहार नाम सुनने के बाद आपको पता चल गया होंगा की हम आपको किस त्यौहार की जानकारी देने वाले है। बिलकुल सही पहचाना आपने, आज हम आपको रक्षाबंधन की जानकारी देने जा रहे। इस त्यौहार की सारी जानकारी निचे दी गयी है।

रक्षा बंधन का त्यौहार पुरे भारत में बड़े उल्लास के साथ मनाया जाता है। इस त्यौहार को कुछ लोग राखी का त्यौहार भी कहते है। श्रावण के महीने में आने वाले इस त्यौहार का सामाजिक, पौराणिक, धार्मिक और ऐतिहासिक महत्व है। इस त्यौहार को केवल भारत में ही नहीं बल्की नेपाल और मॉरिशस जैसे बाहरी देशो में भी बड़े आनंद के साथ मनाया जाता है।

हजारों सालों से इस त्यौहार को मनाने की परम्परा हमारे देश में है इस रक्षा बंधन के अवसर पर भाई अपनी बहन की पूरी जिंदगी उसकी रक्षा करने का वचन देता है।

इन्द्राणी ने जिस तरह से इन्द्र देव की रक्षा की थी, उसी तरह राणी कर्मावती की रक्षा करने का दायित्व हुमायु को सौपा गया था, कुछ इसी तरह भाई भी बहन को उसकी रक्षा करने का वचन देता है, और इसी वचन के लिए रक्षा बंधन जैसा पवित्र त्यौहार मनाया जाता है।

रक्षाबंधन का त्यौहार भाई बहन का त्यौहार होता है। इस त्यौहार के दिन बहन अपने भाई के हाथों में राखी बांधती है और उसके बदले में भाई उसकी पुरे जीवन में रक्षा करने का वचन देता है, उसे सँभालने का वचन देता है।

श्रावण पौर्णिमा के पावन पर्व पर इस त्यौहार को मनाया जाता है।

बहन इस त्यौहार के आने की बड़ी बेसब्री से राह देखती है। इस राखी के सुनहरे अवसर पर जीन बहनों की शादी हो जाती है वो भाई के घर आकर उसकी हाथों की कलाई पर राखी बांधती है और अपने भाई के माथे पर तिलक लगाती है। इसके बाद में भाई अपनी प्यारी बहन को कुछ खास तौफे देता है जिसे देखकर बहन बहुत खुश हो जाती है। कुछ भाई भेट के रूप में अपनी बहन को नए कपडे और कुछ पैसे देता है। इस त्यौहार के दिन पुरे परिवार में ख़ुशी की लहर छा जाती है। रक्षा बंधन के दिन बड़े बच्चे और लडको के हाथों पर राखी बंधी जाती है। इस शुभ अवसर पर घर में स्वादिष्ट पदार्थ बनाये जाते है।

इस त्यौहार के अवसर पर बाजार पूरी तरह से अलग दिखने लगता है। बाजारों में सभी लोग अपने अपने दुकानों में रंगीबेरंगी राखिया लेकर बैठते है चारो तरफ़ राखिया होने की वजह से बाजार बहुत ही खुबसूरत दिखने लगता है। लोग बाजार में जाकर सुन्दर सुन्दर राखिया खरीदते है। मिठाई के दुकानों पर लोगो की बडी भीड़ लगी रहती है। लोग इस मौके पर अलग अलग तरह की चीजे और मिठाइयाँ खरीदते है।

इस तरह से रक्षाबंधन का त्यौहार मनाने से समाज में प्यार और भाईचारा बढ़ता है। पूरी दुनिया में यह त्यौहार सबसे अलग है। इस त्यौहार के जरिये हमें देश के प्राचीन और गौरवशाली संस्कृति की याद आ जाती है।

Read: 

  • क्षाबंधन पर अनमोल सुविचार
  • Poem on Raksha Bandhan
  • Raksha Bandhan Quotes
  • Raksha Bandhan Essay And Information

More Essay Collection: Essay in Hindi

Hope you find this post about ”Raksha Bandhan Speech” useful. if you like this Article please share on Facebook & Whatsapp. and for latest update download: Gyani Pandit free Android app.

The post रक्षाबंधन पर भाषण | Raksha Bandhan Speech appeared first on ज्ञानी पण्डित - ज्ञान की अनमोल धारा.

Share the post

रक्षाबंधन पर भाषण | Raksha Bandhan Speech

×

Subscribe to Gyanipandit - ज्ञानी पण्डित - ज्ञान की अनमोल धारा

Get updates delivered right to your inbox!

Thank you for your subscription

×