Get Even More Visitors To Your Blog, Upgrade To A Business Listing >>

एक नज़र भारत के खूबसूरत गाँवो पर, जहाँ आपको एक बार तो जाना ही चाहिए भाग 2 (Beautiful Indian villages Part 2)

आरम्भ से पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

ग्रामीण भारत के दर्शन को आगे बढ़ाते हुए आइये आप को लेकर चलते हैं आगे के सफ़र पर।

  1. जंजैहली, मंडी, हिमाचल प्रदेश (Janjehli, Mandi, Himachal Pradesh)

वैसे तो हिमाचल प्रदेश में खूबसूरत गाँवो की कमी नहीं। इन्ही गाँवो के बीच जंजैहली एक विशेष स्थान रखता है। मंडी शहर से 67 किलोमीटर की दूरी और समुद्रतल से 2150 की ऊंचाई पर स्थित यह एक शांत और सुरम्य स्थल है। पर्वतारोहियों के लिये यह स्थान किसी स्वर्ग से काम नहीं जहाँ वे 3300 मीटर की ऊंचाई तक जा सकते हैं। आप यहाँ से करसोग तक का 16 किलोमीटर का खूबसूरत सफर 8 घंटे की पैदल यात्रा द्वारा पूरा कर सकते हैं। धार्मिक प्रवृति के लोग यहाँ स्थित शिकारी देवी मंदिर के दर्शन कर सकते हैं।

कैसे पहुंचे ?
हवाई मार्ग से आने वाले यात्री चंडीगढ़ एयरपोर्ट पहुँच कर वहां से बस या टैक्सी द्वारा आगे का मार्ग तय कर सकते हैं।
रेलयात्री रेल द्वारा कालका – शिमला मार्ग पर स्थित शिमला रेलवे स्टेशन पहुँच सकते है।
सड़क मार्ग से आने वाले यात्री मंडी पहुँच कर वहां से टैक्सी या बस द्वारा यहाँ पहुंच सकते हैं।

Janjehli
जंजैहली, चित्र सौजन्य : https://mw2.google.com/mw-panoramio/photos/medium/113694648.jpg
  1. कसोल, कुल्लू, हिमाचल प्रदेश (Kasol, Kullu, Himachal Pradesh)

कुल्लू जिले की पार्वती घाटी में स्थित कसोल समुद्रतल से 1640 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। घने वनों और पार्वती नदी के किनारे स्थित कसोल युवाओं के बीच एक विशेष आकर्षण रखता है। पर्वतारोहण के शौक़ीन यहाँ 4 घंटे की चढ़ाई पूरी करके खीर गंगा तक पहुंच सकते हैं। कसोल की विशेषता है यहाँ इस्राइली लोगो की बहुलता। इस कारण आप यहाँ इस्राइली खाने का स्वाद भी ले सकते हैं। भुंतर – मणिकर्ण मार्ग पर स्थित होने के कारण आप मणिकर्ण गुरूद्वारे के दर्शन कर भी सकते हैं।

कैसे पहुंचे ?
हवाई मार्ग से आने वाले यात्री चंडीगढ़ एयरपोर्ट पहुँच कर वहां से बस या टैक्सी द्वारा आगे का मार्ग तय कर सकते हैं।
रेलयात्री रेल द्वारा कालका – शिमला मार्ग पर स्थित शिमला रेलवे स्टेशन नज़दीकी स्टेशन पहुँच सकते है।
सड़क मार्ग से आने वाले यात्री भुंतर पहुँच कर वहां से टैक्सी द्वारा यहाँ पहुंच सकते हैं। दिल्ली स्थित कश्मीरी गेट अंतराजीय बस अड्डे से भुंतर के लिए सीधी बस सेवा भी उपलब्ध है।

Kasol
कसोल, चित्र सौजन्य : https://static2.tripoto.com
  1. मलाणा, कुल्लू, हिमाचल प्रदेश (Malana, Kullu, Himachal Pradesh)

अब इसे बुराई कहें या विशेषता कुल्लू स्थित मलाणा नशे के लिए विश्व प्रसिद्ध है। मलाणा क्रीम और उच्च गुणवक्ता की हशीश का उत्पादन यहाँ की एक प्रमुख विशेषता है। यहाँ के लोग स्वयं को सिकंदर का वंशज बताते हैं। यहाँ जाने से पहले आपको कुछ बाते पता होनी चाहिये ! जैसे की आप इनकी किसी भी वस्तु, वाहन या मकान को हाँथ न लगाए, अन्यथा आपको जुर्माना देना पड़ सकता है। यहाँ महिलाएं ही घर की आर्थिक स्थिति को संभालती हैं। कुल्लू जिले की पार्वती घाटी में स्थित मलाणा चंद्रखनी और देवटिब्बा पर्वतों की तलहटी में बसा है। गाँव में स्थित जमलू ऋषि के मंदिर के दर्शन किये जा सकते हैं।

कैसे पहुंचे ?
हवाई मार्ग से आने वाले यात्री चंडीगढ़ एयरपोर्ट पहुँच कर वहां से बस या टैक्सी द्वारा आगे का मार्ग तय कर सकते हैं।
रेलयात्री रेल द्वारा कालका – शिमला मार्ग पर स्थित शिमला रेलवे स्टेशन नज़दीकी स्टेशन पहुँच सकते है और फिर वहां से सड़क मार्ग द्वारा भुंतर पहुँच कर टैक्सी बुक कर सकते हैं। दिल्ली स्थित कश्मीरी गेट अंतराजीय बस अड्डे से भुंतर के लिए सीधी बस सेवा भी उपलब्ध है।

Malana
मलाणा, चित्र सौजन्य : https://mysterioushimachal.files.wordpress.com
  1. पनामिक, लद्दाख, जम्मू और कश्मीर (Panamik, Ladakh, Jammu and Kashmir)

पनामिक जम्मू कश्मीर राज्य के लद्दाख क्षेत्र में बसा हुआ एक बेहद खूबसूरत गांव होने के साथ – साथ गंधक युक्त गरम पानी के स्त्रोतों के लिए भी जाना जाता है। यह दुनिया के सबसे ऊँचे जंग के मैदान सियाचिन और के समीप नुब्रा घाटी में स्थित है। यहाँ पहुँचने के लिए आप को जिला न्यायधीश (D.M.) से अनुमति लेनी होगी।

कैसे पहुंचे ?
यहाँ पहुँचने के लिए नज़दीकी हवाई अड्डा लेह में है जहाँ से यात्री खार्दूंग-ला पास को पार करके पनामिक पहुँच सकते हैं।
रेलवे यात्रिओं के लिए नज़दीकी रेलवे स्टेशन जम्मू तवी है, जहाँ से सड़क मार्ग द्वारा लेह पहुँच कर आगे का मार्ग तय कर सकते हैं। आप मनाली – लेह राजमार्ग द्वारा भी लेह पहुँच सकते हैं।

Panamik
पनामिक, चित्र सौजन्य : http://www.yogeshsarkar.com
  1. किब्बर, स्पीति घाटी, हिमाचल प्रदेश (Kibber, Spiti Valley, Himachal Pradesh)

दुनिया के सबसे बड़े और ऊँचे बौद्ध मठ ‘की मोनेस्ट्री’ के लिए जाने जाना वाला यह गांव समुद्रतल से 4205 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। खूबसूरत मठ और तिब्बती शैली में बने मकान यहाँ की पहचान हैं। यहाँ स्थित किब्बर वन्यजीव अभ्यारण्य भी जाया जा सकता है।

कैसे पहुंचे ?
हवाई यात्रिओं के लिए नज़दीकी हवाई अड्डा चंडीगढ़ में स्थित है। जहाँ से आप शिमला होते हुए काज़ा तक बस द्वारा जा सकते हैं। काज़ा से किब्बर तक के लिए प्रतिदिन एक ही बस जाती है। आप टैक्सी द्वारा भी पहुँच सकते हैं। रेल द्वारा आने वाले यात्री शिमला तक रेल से आ सकते हैं। आगे का मार्ग बस द्वारा ही तय करना होगा।

Kibber
किब्बर, चित्र सौजन्य : https://speakzeasy.files.wordpress.com
  1. पूवार, तिरुअनंतपुरम, केरल (Poovar, Thiruvananthapuram, Kerela)

केरल की राजधानी तिरुअनंतपुरम में बसा यह गांव समुद्र का ही एक भाग लगता है। यह अपने खूबसूरत रिसॉर्ट्स और आयुर्वेदिक मसाज के लिए जाना जाता है।

कैसे पहुंचे ?
तिरुअनंतपुरम देश के सभी शहरों से हवाई, रेल और सड़क मार्ग द्वारा जुड़ा हुआ है।

Poovar
पूवार, चित्र सौजन्य : http://www.trekkr.in/wp-content
  1. चितकुल, किन्नौर, हिमाचल प्रदेश (Chitkul, Kinnaur, Himachal Pradesh)

अगर आप शहर की भाग दौड़ से ऊब गए हैं और कुछ दिन किसी हिमालयी गांव में बिताना चाहते हैं, तो यह गांव आप के स्वागत के लिए तैयार है। भारत – चीन सीमा के नज़दीक स्थित यह भारत का अंतिम गांव है जहाँ सभी सड़के समाप्त हो जाती हैं। यहाँ पर उगाया जाने वाले आलू विश्व में सर्वोत्तम गुणवक्ता के आलू होते हैं जो की बहुत महंगे होते हैं।

कैसे पहुंचे ?
नज़दीकी हवाई अड्डा चंडीगढ़ में स्थित है जहाँ से शिमला और सांगला होते हुए बस द्वारा चितकुल पहुंचा जा सकता है। रेल द्वारा आने वाले यात्री शिमला या चंडीगढ़ तक आ सकते हैं।

Chitkul
चितकुल, चित्र सौजन्य : https://static2.tripoto.com
  1. ज़ुलुक, पूर्वी सिक्किम, सिक्किम (Zuluk, East Sikkim, Sikkim)

यहाँ तक पहुंचना एक बेहद कठिन और थकाऊ कार्य है। कुल 32 मोड़ों से होते हुए आप यहाँ पहुंचेंगे, लेकिन यहाँ पहुँच कर जो नज़ारा आप को दिखेगा वो आपकी सारी थकान को छू-मंतर कर देगा। ल्हासा और कलिम्पोंग को जोड़ने वाले प्रसिद्ध सिल्क रुट पर यह गांव कभी एक महत्वपूर्ण पड़ाव हुआ करता था।

कैसे पहुंचे ?
ज़ुलूक सिक्किम की राजधानी गंगटोक से 90 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। हवाई मार्ग से आने वाले यात्री बागडोगरा हवाई अड्डे पर उतर कर आगे का मार्ग बस द्वारा तय कर सकते हैं। रेल यात्रिओं के लिए नज़दीकी रेलवे स्टेशन न्यू जलपाईगुड़ी में है।

Zuluk Sikkim
ज़ुलुक, चित्र सौजन्य : http://2.bp.blogspot.com/

अगर आपकी लिस्ट में कोई और भी गाँव है तो कृपया कमेंट बॉक्स में बतायें।

The post एक नज़र भारत के खूबसूरत गाँवो पर, जहाँ आपको एक बार तो जाना ही चाहिए भाग 2 (Beautiful Indian villages Part 2) appeared first on यात्री नामा.



This post first appeared on Yatrinamas, please read the originial post: here

Share the post

एक नज़र भारत के खूबसूरत गाँवो पर, जहाँ आपको एक बार तो जाना ही चाहिए भाग 2 (Beautiful Indian villages Part 2)

×

Subscribe to Yatrinamas

Get updates delivered right to your inbox!

Thank you for your subscription

×