Get Even More Visitors To Your Blog, Upgrade To A Business Listing >>

चंद्रग्रहण 2018: 31 जनवरी को है ग्रहण, पढ़ें क्या है समय और क्या करें उपाय

चंद्र ग्रहण कब क्यों और कैसे होता है ? जाने

दोस्तों अक्सर हमारे मन में चंद्र ग्रहण(Chandra Grahan) को लेकर सेंकडो सवाल आते रहते है कि जैसे चंद्र ग्रहण कैसे होता है ? चंद्र ग्रहण इन हिंदी ? चंद्र ग्रहण क्यों लगता है ? 2018 का चंद्रग्रहण कब पड़ता है ? चंद्र ग्रहण कब है ? चंद्र ग्रहण 2018 ? क्या आज चंद्रग्रहण है ? तो  आज हम आपको  इस पोस्ट में इन्ही कुछ सवालो के जवाब देने की कोशिस करेंगे .

Chandra Grahan 2018 In Hindi  | हिंदू धर्म में सूर्य ग्रहण और चंद्र ग्रहण  दोनों का बहुत महत्व है. शास्त्रों में भी इसका वर्णन किया गया है. हमारे देश  में ग्रहण को लेकर कई अंधविश्वास भी प्रचलित  हैं, जबकि विज्ञान ग्रहण को लेकर किसी भी अंधविश्वास को नहीं मानता. विज्ञान के मुताबिक ग्रहण पूरी तरह से इक खगौलीय (प्राकर्तिक)घटना है. आइए जानते हैं कब और कैसे होता है ग्रहण:

  1. जब सूर्य और चंद्रमा के बीच पृथ्वी आ जाती है तो सूर्य की पूरी रोशनी चंद्रमा पर नहीं पड़ती है।
  2. ऐसा तभी हो सकता है जब सूर्य, पृथ्वी और चन्द्रमा इस क्रम में लगभग एक सीधी रेखा में अवस्थित हों।
  3. इस ज्यामितीय प्रतिबंध के कारण चंद्रग्रहण केवल पूर्णिमा को घटित हो सकता है।
  4. Chandra Grahan का प्रकार एवं अवधि चंद्र आसंधियों के सापेक्ष चंद्रमा की स्थिति पर निर्भर करते हैं।
  5. Surya Grahan की तरह ही Chandra Grahan भी आंशिक और पूर्ण हो सकता है ।
  6. किसी सूर्यग्रहण के विपरीत, जो कि पृथ्वी के एक अपेक्षाकृत छोटे भाग से ही दिख पाता है, चंद्रग्रहण को पृथ्वी के रात्रि पक्ष के किसी भी भाग से देखा जा सकता है।
  7. Chandra Grahan को, सूर्यग्रहण के विपरीत, आँखों के लिए बिना किसी विशेष सुरक्षा के देखा जा सकता है,

चंद्रग्रहण 2018: 31 जनवरी को है ग्रहण,जाने क्या है समय और क्या करें उपाय

माघ पूर्णिमा का दिन शास्त्रों में दान- पुण्य और पूजन के लिए बहुत ही खास दिन माना गया है।  मान्यता है कि इस दिन किए गए दान एवम पुण्य से मनुष्य के लिए मोक्ष का द्वार खुलता है। लेकिन इस साल माघ पूर्णिमा जो 31 जनवरी को है उस दिन ग्रहण भी लग रहा है। संयोग ऐसा बना है कि सूर्योदय के कुछ घंटों के बाद ही ग्रहण का सूतक लग जाएगा और मंदिरों के दरवाजे बंद हो जाएंगे।,

2018 चन्द्रग्रहण का समय | Chandra Grahan 2018 Date & Time

ग्रहण का स्पर्श कालः- शाम 5:18 : 27
खग्रास आरंभः- शाम 6:21: 47
ग्रहण मध्यः शाम 6 : 59:50
खग्रास समाप्तः शाम 7 : 37 : 51
ग्रहण मोक्षः रात 8: 41 :11

ग्रहण काल में क्या उपाय करें | Chandra Grahan 2018 Chandra Dosh Se Bachane ke Upay

शास्त्रों के दिशानिर्देश के अनुसार ग्रहण के मौके पर दान करने के लिए सबसे उत्तम समय वह माना गया है जब ग्रहण का मोक्ष काल समाप्त हो जाता है। यानी ग्रहण समाप्त होने के बाद दान दक्षिणा करनी चाहिए।  31 जनवरी 2018 की रात 8 बजकर 41 मिनट 11 सेकंड के बाद स्नान करके दान करना उत्तम फलदायी रहेगा। शास्त्रों में यह उलेख भी किया गया है कि ग्रहण से पूर्व और इसके बाद  स्नान करना चाहिए इसलिए जो लोग माघ पूर्णिमा के अवसर पर पवित्र  गंगा स्नान करना चाहते  हैं उनके लिए पूरा दिन स्नान के लिए शुभ रहेगा।

चन्द्रग्रहण इस बार कर्क राशि में लग रहा है।कर्क राशि वालो को ग्रहण के अशुभ प्रभाव से बचने के लिए चन्द्रमा का मंत्र- “ओम सोम सोमाय नमः” का जितना हो सके जप करें।

महामृत्युंजय मंत्र और अपने ईष्टदेवता एवं राशि का मंत्र जपना शुभ रहेगा।

ये पोस्ट  पसंद आये हो तो हमे Comment के माध्यम से जरूर बताये और इसे अपने Facebook Friends के साथ Share जरुर करे.

The post चंद्रग्रहण 2018: 31 जनवरी को है ग्रहण, पढ़ें क्या है समय और क्या करें उपाय appeared first on Gyani Dunia.

Share the post

चंद्रग्रहण 2018: 31 जनवरी को है ग्रहण, पढ़ें क्या है समय और क्या करें उपाय

×

Subscribe to Gyanidunia - Gazab Post,देश-दुनिया की अजब गजब जानकारी

Get updates delivered right to your inbox!

Thank you for your subscription

×