Get Even More Visitors To Your Blog, Upgrade To A Business Listing >>

एक एफआईआर ऐसी भी: 4 दिन से लिख रही है पुलिस, 3 दिन और लगेंगे

New Delhi: देवों की भूमि उत्तराखंड की काशीपुर कोतवाली। पुुलिसवालों के पसीने छूट रहे हैं, किसी अपराधी को सजा देने में नहीं और न ही किसी चच्चे विधायक से निपटने में, बल्कि एक एफआईआर को लिखने में। इसको लिखते- लिखते चार दिन गुजर चुके हैं लेकिन अभी तक पूरी नहीं हो पाई है। इसे पूरा लिखने में दो- तीन दिन और लग सकते हैं। आप सोच रहे होंगे कि क्या मजाक है। मजाक नहीं सच है यह। अब ये इतिहास में पहली बार है तो पहले कहां से देखा और सुना होगा। यह देश की सबसे बड़ी एफआईआर होने वाली है।

हिंदी और अंग्रेजी भाषा की भेजी गई दोनों एफआईआर को पुलिस थाने के चार मुंशी हाथों से लिख रहे हैं। इसकी वजह है कि जो भी एफआईआर लिखी जाती है, उसे टाइप करने वाला सॉफ्टवेयर केवल 10,000 शब्द ही लिख सकता है इसलिए इस एफआईआर को हाथों से लिखा जा रहा है।

आइए अब माजरा भी जान लेते हैं कि भई ऐसा कौनसा घोटाला है जिसकी इत्ती बड़ी एफआईआर है। दरअसल यह एफआईआर अटल आयुष्मान घोटाले में दो अस्पतालों के खिलाफ दर्ज की जा रही है। उत्तराखंड आयुष्मान योजना के अधिशासी सहायक धनेश चंद्र ने दोनों अस्पताल संचालकों के खिलाफ पुलिस को शिकायत सौंपी थी। इसमें से एक शिकायत 64 पन्ने की है तो वहीं दूसरी लगभग 24 पन्नों की।

स्वास्थ्य विभाग की टीम ने अटल आयुष्मान योजना के तहत एमपी अस्पताल और देवकी नंदन अस्पताल में भारी अनियमिततायें पकड़ी थीं। जांच में सामने आया कि अस्पताल के संचालक नियमों के खिलाफ मरीजों के फर्जी इलाज के बिलों का क्लेम वसूल रहे हैं। एमपी अस्पताल में मरीजों के डिस्चार्ज होने के बाद भी उनको कई- कई दिनों तक अस्पताल में भर्ती दिखाया गया। इसके अलावा आईसीयू में भी क्षमता से ज्यादा रोगियों का इलाज होना बताया।

एक डायलिसिस केस को एमबीबीएस डॉक्टर की ओर से किया जाना बताया गया। कई मामले ऐसे भी थे कि जिनमें बिना इलाज किए भी क्लेम लिया गया। और तो और इसकी जानकारी मरीज को भी नहीं है।

अब पुलिस का यह सिरदर्द एफआईआर लिखने तक ही सीमित नहीं है। कहते हैं न कि एक परेशानी खत्म नहीं होती, दूसरी दरवाजा खटखटाने के लिए तैयार रहती है। अब इतनी बड़ी एफआईआर है तो इसकी विवेचना भी कम टाइम लेने वाली थोड़े है। कम से कम एक पर्चा कटने में 15 दिन लग सकते हैं। विवेचना करने का समय 3 महीने रखा गया है।

कॉलेज के दीक्षांत समारोह में बुर्के में पहुंची टॉपर, ड्रेस बदलने को कहा तो बिना डिग्री लिए लौटी

The post एक एफआईआर ऐसी भी: 4 दिन से लिख रही है पुलिस, 3 दिन और लगेंगे appeared first on Live India.



This post first appeared on विराट कोहली ने शहीदों के नाम की जीत, please read the originial post: here

Share the post

एक एफआईआर ऐसी भी: 4 दिन से लिख रही है पुलिस, 3 दिन और लगेंगे

×

Subscribe to विराट कोहली ने शहीदों के नाम की जीत

Get updates delivered right to your inbox!

Thank you for your subscription

×