Get Even More Visitors To Your Blog, Upgrade To A Business Listing >>

लोकसभा सचिवालय ने जारी किया सुर्कलर, बंदरों से न मिलाएं नजर

NEW DELHI: संसद का शीतकालीन सत्र 11 दिसंबर से शुरू हो रहा है, लेकिन सत्र शुरू होने से पहले संसद भवन और परिसरों में बंदरों ने अपना आतंक फैलाया हैं। बंदरों के आतंक के चलते लोकसभा सचिवालय ने एक सर्कुलर जारी किया है। इस सुर्कलर में लोगों से अपील की हैं कि वह बंदरों से नजरें ना मिलाएं और ना ही उनकी तरफ देखें। यही नहीं, कोई भी बंदर और उसके बच्चे के बीच में आकर सड़क पार न करे। जानकारी के मुताबिक, लोकसभा सचिवालय द्वारा जारी सर्कुलर में कहा गया है, अगर बंदर आपके वाहन से टकराए तो वहां रुके नहीं।

सर्कुलर में कहा गया है कि बंदर आवाज निकाले तो बिल्कुल घबराए नहीं। बंदर को इग्नोर करें और आगे निकल जाएं। जब बंदरों के पास से गुजरें तो हल्के पैरों से चलें, भागे नहीं। उन्हें परेशान या तंग नहीं करें। उन्हें अकेला छोड़ देंगे तो वो आपको अकेला छोड़ देंगे। सर्कुलर में यह भी कहा गया है कि बंदरों को मारने नहीं चाहिए। हालांकि घर और गार्डन से बंदरों को भगाने के लिए जमीन पर छड़ें को मारकर उन्हें भगाएं।

Lok Sabha secretariat

आपको बता दें कि कुछ साल पहले एमसीडी ने बंदरों को स्थानांतरित करने की योजना बनाई थी, लेकिन यह योजना पूरी तरह नाकाम रही थी। संसदीय कार्य राज्य मंत्री विजय गोयल ने इस बात की पुष्टि की है कि सत्र 11 दिसम्बर से लेकर 8 जनवरी तक चलेगा और इसमें 20 कार्य दिवस होंगे। उन्होंने कहा कि हम सभी दलों का सहयोग और समर्थन चाहते हैं ताकि सत्र के दौरान संसद का संचालन सुचारू ढंग से हो सके। सरकार राज्यसभा में लंबित चल रहे तीन तलाक विधेयक को पारित कराने का प्रयास करेगी। एक ही बार में तीन तलाक बोलने को अपराध घोषित करने के लिए अध्यादेश लाया गया था।

आपको बता दें कि संसद भवन परिसर और इसके आसपास की इमारतों के अलावा, राष्ट्रपति भवन, नोर्थ और साउथ ब्लॉक पर बंदरों के हमले का खतरा बना रहता है। अभी तक किसी संस्था के पास आधिकारिक डेटा भी नहीं है कि दिल्ली में बंदरों की कुल संख्या कितनी है। लेकिन एक संस्था का अनुमान है कि दिल्ली में करीब तीस से चालीस हजार बंदर हैं। इन बंदरों को लोग मंगलवार और शनिवार को भोजन खिलाते हैं। भगवान हनुमान के भक्तों के लिए यह दिन खासा महत्व रखता है। इन दो दिनों में बंदरों को खाने के लिए देने का मतलब है कि दूसरे दिनों में भी बंदरों को दावत का न्योता देना। खबरों के मुताबिक करीब 90 फीसदी बंदरों में टूबरक्लोसिस होता है।

The post लोकसभा सचिवालय ने जारी किया सुर्कलर, बंदरों से न मिलाएं नजर appeared first on Live India.



This post first appeared on विराट कोहली ने शहीदों के नाम की जीत, please read the originial post: here

Share the post

लोकसभा सचिवालय ने जारी किया सुर्कलर, बंदरों से न मिलाएं नजर

×

Subscribe to विराट कोहली ने शहीदों के नाम की जीत

Get updates delivered right to your inbox!

Thank you for your subscription

×