Get Even More Visitors To Your Blog, Upgrade To A Business Listing >>

कैंसर के पहले शरीर दे देता है ये संकेत, अगर किया इग्नोर.. तो मौत पक्की है

New Delhi: कैंसर ऐसी बीमारी जिसका नाम सुनते ही लोग जीने की उम्‍मीदे लगाना छोड़ देते हैं...

कैंसर हो जाने पर मरीज एक खौफ की जिंदगी निकालता है, पिछले कुछ सालों से यह बीमारी काफी तेजी से बढ़ रही है, अक्सर लोगो को कैंसर का पता उस समय लगता है जब वह कैंसर के लास्ट स्टेज पर पहुंच जाता हैं। उस समय तक काफी देर हो चुकी होती है, लाल और सफेद रक्‍त कोशिकाओं का संतुलन बिगड़ने और सेल्‍स का बनना नियंत्रण से बाहर होने के कारण कैंसर होता है।


हालांकि पहले इस बीमारी का कोई ईलाज नहीं था लेकिन अब ईलाज है लेकिन देर से ईलाज मिलने की वजह से कई बार मरीज के बचने की सम्‍भावना बहुत ही कम रहती जाती हैं। इसलिए कैंसर के शुरुआती लक्षणों के बारे में मालूम होना जरुरी हैं। आज हम आपको कुछ ऐसे लक्षण बताने जा रहे है जिससे आप कैंसर को शुरुआती नब्‍ज ही पकड़ सकते हैं।

कुछ कैंसर पद्वार्थों का उत्‍पादन करते हैं जो शरीर में रक्‍त के जमने का कारण बनतें हैं खास तौर पर पैरों की नसों में।


स्किन कैंसर होने पर त्वचा पर इसके संकेत देखे जा सकते हैं। यह संकेत निम्न हो सकते हैं - त्वचा में कालापन आना, त्वचा और स्किन का पीला पड़ना (पीलिया), त्वचा पर लाल-लाल चकत्ते पड़ना , खुजली होना और स्किन पर अत्यधिक बाल उगना।


कैंसर में शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने लगती है जिस कारण रागी को बुखार की समस्‍या सबसे अधिक रहती है। ब्‍लड कैंसर में बुखार के लक्षण सबसे अधिक दिखते हैं।


कैंसर में लगातार आंतो में आपको परेशानी महसूस होती हैं, कोलेन या कोलोरेक्ट्ल कैंसर का शुरूआती लक्षण हो सकता है डायरिया और अपच की समस्या इस लक्षण को दर्शाते है इसके कारण पेट में गैस और दर्द की समस्या भी हो सकती है।


लगातार खून का बहना भी कैंसर का एक लक्षण हो सकता है अगर कैंसर की संभावना है तो इसके कारण खून मलाशय के द्वारा बाहर निकलता है यह कोलेन कैंसर का एक लक्षण है इसके अलावा अगर मल-मूत्र त्यागने के समय यदि पीड़ा होती है या उस समय खून निकलता है तो ये प्रोस्टेट कैंसर के लक्षण होते है। महिलाओं में यदि मासिक चक्र के बाद भी रक्त स्त्राव नही रुकता है तो महिलाओं को ध्यान देने की जरूरत है।


अगर किसी व्यक्ति को रात को सोते समय अधिक पसीना आता है तो यह शरीर में रिएक्शन का संकेत है, अगर ऐसा लगातार कई हफ़्तों से होता आ रहा है तो जल्द से जल्द डॉ की सलाह लें, ये कैंसर का लक्षण हो सकता है।

लगातार पीठ में दर्द होना, कोलोरेक्‍टल या प्रोस्‍टेट कैंसर का कारण होता है, कैंसर का शुरुआती लक्षण होता है बिना वजह ही जरूरत से ज्यादा थकान होना

एक दम से वजन कम होना भी कैंसर का शुरूआती लक्षण है. अगर मनुष्य का बिना किसी प्रयत्न के चार-पांच किलो से ज्यादा वजन कम हो जायें तो यह भी कैंसर का एक संकेत है. लगातार सीने में जलन होना और अपच भी चिंता का विषय है।


कैंसर से बचना है तो करेला खाना शुरू कर दें, करेला खाने में कड़वा जरुर होता है लेकिन इसके बड़े फायदे हैं। अगर आप अपने खाने में करेले का सेवन करते हैं, तो कैंसर का इलाज हो सकता है फल, सब्जियां, साबुत अनाज और फलियों से बना संतुलित आहार, आवश्यक विटामिन और मिनरल स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है।

कई शोधों से यह पता चला है कि शराब का सेवन करने से कैंसर होने की सम्भावना काफी ज्यादा बढ़ जाती है। इसके आलावा, इसके कारण पेट मलाशय लिवर, स्तन और अंडाशय का कैंसर भी हो सकता है।


नियमित व्यायाम करने से शरीर की विभिन्न गतिविधियाँ ठीक रहती हैं जिससे दिल की बीमारी, डायबिटीज (मधुमेह) और कैंसर की सम्भावना कम हो जाती



This post first appeared on विराट कोहली ने शहीदों के नाम की जीत, please read the originial post: here

Share the post

कैंसर के पहले शरीर दे देता है ये संकेत, अगर किया इग्नोर.. तो मौत पक्की है

×

Subscribe to विराट कोहली ने शहीदों के नाम की जीत

Get updates delivered right to your inbox!

Thank you for your subscription

×