Get Even More Visitors To Your Blog, Upgrade To A Business Listing >>

Trade Fair 2017: जानिए कैसा रहा पहला दिन

18 नवंबर 2017 से ट्रेड फेयर पब्लिक के लिए खुल चुका है। ट्रेड फेयर में लगी कई चीजें, जो लोगों को खासा पसंद आ रही हैं। इस बार ट्रेड फेयर की शान बढ़ा रहा है।

 हालाकिं पिछले साल की तुलना में इस वर्ष कम लोग आए।  जहां पिछले साल लगभग ढेड लाख लोगों ने पहले दिन शिरकत की थी वहीं इस बार यह आकंड़ा 70,000 के आसपास  रहा। पहले दिन वयस्कों के लिए टिकट का दाम 60 रूपये और बच्चों के लिए 40 रूपये था। आगे यह दाम बढ़कर क्रमश 120 रूपये और 60 रूपये होने की संभावना है।     

राजस्थानी पवेलियन में बुलेट ट्रेन बना आकर्षण का केंद्र
राजस्थानी पवेलियन में कई नई टेकनॉलजी को शामिल किया गया है। इसके साथ ही उसमें लगे राजिस्थानी चुड़ियां, आर्टिफिसल जैवलरी महिलाओं को खासा पसंद आई। वहीं सर्दियों को देखते हुए राजिस्थानी कंबलो को खरीदने में लोगो‍ं भीड़ देखी गई। गुजरात के स्टॉल में मेक इन इंडिया, पश्चिम बंगाल में रसगुल्ले का जश्न के अलावा एक बड़े हाथी का स्टैच्यू है। खाने पीने के शौकीन हैं तो फूड कोर्ट में ही खाते न रह जाना है। तमिलनाडु के पविलियन में केले की नमकीन जायकेदार है। राजस्थान के पवेलियन में गजक के अलावा कुल्फी, दाल बाटी चूरमा और सूखा पालक भी बेहतरीन है। नागालैंड के स्टॉल में गर्म कपड़े हैं। वैसे कपड़े तो हर स्टॉल में हैं। बस ये आपको तय करना है कि किस तरह के कपड़े चाहिए। गोवा का पवेलियन भी खूबसूरत है।

स्टील लायन 316 एल वाली बेस्ट क्वॉलिटी की स्टील से बना यह लायन हजारों विजिटर्स को मेक इन इंडिया का मेसेज दे रहा है। विजिटर्स के लिए ये लायन सेल्फी स्टैंड बन चुका है। हर कोई लायन को देख न सिर्फ आश्चर्य में है, बल्कि अपनी जेब से फोन निकाल

कर एक सेल्फी लेने को भी मजबूर हो रहा है। 

अगर आप क्रॉकरी खरीदने के मूड में हैं तो तुरंत ट्रेड फेयर पहुंच जाएं। यहां क्रॉकरी किलो के हिसाब से बिक रही है। यह क्रॉकरी चाइनीज है। रेट है 500 रुपये किलो। एक और अलग स्टॉल है जहां 399 रुपये किलो क्रॉकरी मिल रही है। वरायटी अलग-अलग है। बिजनस डे पर इन स्टॉल्स पर इतनी भीड़ थी मानो पूरा स्टॉल एक ही दिन में खाली हो जाएगा। इसके अलावा गेंहू, दाल और मक्का पीसने की मशीन भी बिक रही है जो देखने में बिलकुल फ्रिज की तरह है। इसकी कीमत 24 हजार के करीब है।

 सरस  में दिखा हस्तशिल्प से बनी कलाएं 

 ग्रामीण विकास मंत्रालय के सरस मेले में न सिर्फ विभिन्न राज्यों की हस्तशिल्प कलाएं देखने को मिल रही हैं, बल्कि उन कलाओं से बनी वस्तुएं भी आपके लिए उपलब्ध हैं। आप चाहें तो घर को सजाने के लिए लाइटें खरीद सकते हैं। यहां 108 तरह की छोटी और बड़ी लाइट्स और रंगीन कैंडल्स मौजूद हैं।

घर की रौनक बढ़ाएगा लकड़ी का सामान 

लकड़ी से बना हैंडमेड सामान चाहिए तो मेले में पहुंचकर किसी से असम और त्रिपुरा के पविलियन का पता पूछ लें। यहां टेढ़ी मेढ़ी आकृतियों वाले लकड़ी के कई टेबल मौजूद हैं। ये स्टॉल स्टेट पविलियन के अंदर लगा है। इन टेबल को बनाने वाले रहमान ने बताया, 'लकड़ी जिस आकार की होती है, टेढ़ी मेढ़ी, उसपर कारीगरी करके ये टेबल बनाता हूं। ये एक आर्ट की तरह है। लकड़ी टेबल भी बन जाती है और शोपीस भी। कुछ लकड़ियां स्टेच्यू की तरह दिखती हैं, उनको स्टेच्यू ही बना देता हूं।' टीक की लकड़ी से बना होता है जो महंगी होती है। ये लकड़ी न तो धूप से खराब होती है और न पानी से।

लंबे बाल होने की गारंटी ले रहा कर्नाटक का हेयर ऑयल 

कर्नाटक के एक स्टॉल पर बालों के लिए गारंटी वाला तेल बिक रहा है। लंबे बालों को खोलकर ग्राहकों को तेल के बारे में बता रही लड़की का दावा है कि गंजे के भी तेल लगाओगे तो कुछ ही दिन में बाल आ जाएंगे। ये 40 साल पुरानी औषधि है। आदिवासी जंगलों से जड़ी बूटियां लाकर बनाते हैं। तेल की बड़ी शीशी 500 रुपये की है। लड़की दावा कर रही है कि वह बालों को कटवाकर कंपनियों को बेच देती है और फिर इतने लंबे बाल हो जाते हैं। सोच समझकर ही सामान खरीदें। 



This post first appeared on विराट कोहली ने शहीदों के नाम की जीत, please read the originial post: here

Share the post

Trade Fair 2017: जानिए कैसा रहा पहला दिन

×

Subscribe to विराट कोहली ने शहीदों के नाम की जीत

Get updates delivered right to your inbox!

Thank you for your subscription

×