Get Even More Visitors To Your Blog, Upgrade To A Business Listing >>

PM मोदी ने देश के युवा CEO's को दिया 'विकास मंत्र', बोले-विकास को जनांदोलन बनाने की जरूरत

.

New Delhi: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को देश के युवा सीईओ को देश के विकास का मंत्र दिया। देश भर के नौजवान 200 सीईओ को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा कि आज विकास को जनआंदोलन बनाने की जरूरत है। पीएम ने कहा कि सरकार की प्राथमिकता में लोगों का कल्याण और नागरिकों की खुशहाली सर्वोपरि है।

दिल्ली में प्रवासी भारतीय केंद्र में देश भर के स्टार्टअप्स से जुड़े 200 से ज्यादा सीईओ को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा, 'प्रत्येक नागरिक के मन में यह भाव होना चाहिए कि यह देश उसका है और उसे देश के विकास के लिए काम करना है।' पीएम ने कहा कि महात्मा गांधी ने स्वतंत्रता आंदोलन को जनआंदोलन में बदल दिया और इसका परिणाम हमने देखा। जिस तरह से महात्मा गांधी ने स्वतंत्रता आंदोलन को जनआंदोलन में बदल दिया उसी तरह से हमें भारत के विकास को जनआंदोलन में बदलने की जरूरत है। 

पीएम नरेंद्र मोदी ने देशभर के 200 नौजवान सीईओ को संबोधित करते हुए कहा है कि वह देश में विकास को जनांदोलन बनाना चाहते हैं। पीएम ने अपने इस मिशन में युवा उद्यमियों का सहयोग मांगा है। नीति आयोग द्वारा आयोजित 'चैंपियंस ऑफ चेंज' इवेंट के दौरान युवा सीईओ को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा कि हर नागरिक को लगना चाहिए कि देश हमारा है और हमें ही इसे आगे बढ़ाना है। पीएम ने कहा कि गांधी ने यही कर देश में आजादी की लड़ाई को जनांदोलन बना दिया था। 


अर्थव्यवस्था आगे बढ़ाने पर हुई बातचीत

पीएम और देश के युवा सीआईओ के बीच अर्थव्यवस्था आगे बढ़ाने पर बातचीत हुई। पीएम मोदी ने बाद में इन युवाओं को संबोधित करते हुए कहा, 'इस बातचीत के कारण हर विषय, हर समस्या, हर सुझाव के संबंध में 360 डिग्री व्यू उभर कर आता है।' पीएम ने कहा कि आपकी हमारी सोच में फर्क बस इतना है कि आपकी सारी गतिविधि रिजल्ट ऑरिएंटेड होती है और सरकार जनकल्याण के लिए चलती है। 

पीएम मोदी ने युवा उद्यमियों से कहा कि देश के हर आदमी को लगना चाहिए कि यह देश हमारा है और हमें इसे आगे बढ़ाना है। पीएम ने कहा, 'आजादी से पहले सैकड़ों सालों में एक वर्ष ऐसा नहीं गया है जब हिंदुस्तान के किसी कोने से आतताई के खिलाफ आवाज न उठी हों। आजादी के लिए मरने वालों की कमी नहीं थी। हर किसी को लगता था कि मैं अपना बलिदान देकर देश की सेवा कर रहा हूं। महात्मा गांधी ने क्या बदला था, अगर हम यह समझ लें तो 2017 से 2022 तक कहां जाना है, सारे सवाल के जवाब मिल जाएंगे।' 

पीएम मोदी ने कहा, 'गांधी ने हर इंसान को आजादी का सैनिक बना दिया। एक ऐसा माहौल बना दिया कि हर नागरिक,चाहे किसान हो, चाहे शिक्षक, अपने काम के दौरान यही सोचने लगा कि वह आजादी के लिए काम कर रहा है। अंग्रेजों के लिए इस बात को समझना बहुत मुश्किल था। आमने-सामने की लड़ाई में उनके लिए कार्रवाई सरल थी, लेकिन जब हर आदमी खुद को आजादी का सिपाही सोचने लगा तो उनके लिए मुश्किल हो गई।'

मोदी ने कहा, 'गांधी ने आजादी को जनांदोलन में बदल दिया। हमारे देश में आगे बढ़ने के लिए हर सरकार ने प्रयास किया है। आजादी के बाद की सरकार डिवेलपमेंट को मास मूवमेंट नहीं बना पाई। मुझे देश में डिवेलपमेंट को मास मूवमेंट बनाना है। मुझे आपकी जरूरत है कि आप जहां हैं वहीं से एक आधुनिक, समृद्ध, सामर्थ्यवान भारत के सैनिक बन सकते हैं। आप मेरी टीम हैं, मुझे देश को आगे ले जाने के लिए आपका साथ चाहिए। आपकी सोच सरकार की सोच से मिले तो बहुत बड़ा बदलाव होगा।'

पीएम ने टिंबर खेती का उदाहरण दिया

पीएम मोदी ने किसानों और खेती की समस्या का जिक्र करते हुए फिर एक बार टिंबर खेती का उदाहरण दिया। पीएम ने कहा कि, 'सोचिए जो देश कृषि प्रधान हो, जो देश गांधी के दर्शन से जुड़ा हो, वह देश टिंबर का आयात करता है, तो हम कहां से कहां पहुंच गए? पीएम ने कहा कि खेतों की सीमा पर टिंबर की खेती की जा सकती है। उन्होंने कहा कि हम किसानों की इनकम डबल करना चाहते हैं, लेकिन पशु व्यवसाय, मत्स्य व्यवसाय, पॉल्ट्री फॉर्म पर सोचेंगे ही नहीं तो कैसे होगा। 

पीएम ने कहा कि किसानों की आय दोगुना करने की बात ऐसे ही नहीं कही गई है। हमें बाजार भी देखना है। गल्फ देशों की जनसंख्या बढ़ रही है। वहां तेल है,पानी नहीं। उनके पास एग्रो प्रॉडक्ट को आयात करने के अलावा कोई चारा नहीं है। पीएम ने कहा, 'ऐसे में अगर हमारे किसान इस परिस्थिति का फायदा उठाएं। हम गल्फ कंट्री को उसके खाद्यान्न जरूरतों की पूर्ति करें और वे हमारी ऊर्जा की जरूरतों को पूरा करें तो ये विन-विन सिचुएशन है कि नहीं?'



This post first appeared on विराट कोहली ने शहीदों के नाम की जीत, please read the originial post: here

Share the post

PM मोदी ने देश के युवा CEO's को दिया 'विकास मंत्र', बोले-विकास को जनांदोलन बनाने की जरूरत

×

Subscribe to विराट कोहली ने शहीदों के नाम की जीत

Get updates delivered right to your inbox!

Thank you for your subscription

×