Get Even More Visitors To Your Blog, Upgrade To A Business Listing >>

साइकिलिंग के ये 10 फायदे जानकर तो आप भी मोटरबाइक छोड़ थाम लेंगे साइकिल

New Delhi: इंडिया में भले ही आजकल साइकिल को मध्‍यम वर्ग की सवारी समझा जाता हो, लेकिन पूरी दुनिया साइकिलिंग के फायदे जानकर उसकी दीवानी हो रही है।

   साइकिल चलाने से आप फिट और हेल्‍दी रहें या फिर आपका बैंक बैलेंस बढ़े। जो भी हो, साइकिलिंग के फायदे सुनकर तो आप भी साइकिल चलाने के लालच से बच नहीं पाएंगे। क्‍या कहा? यकीन नहीं हो रहा है। तो आगे जानिए साइकिलिंग के टॉप 10 बेनेफिट्स जो कि आपकी हेल्‍थ, सोच और आपके संबंधों को नई एनर्जी देंगे।

ज्‍यादा समय तक दिखेंगे जवान

ज्‍यादा न सही एक्‍सरसाइज के तौर पर ही कुछ घंटे साइकिलिंग करने से ब्‍लड सेल्‍स और स्‍किन में ऑक्‍सीजन की पर्याप्‍त पूर्ति होने से आपकी त्‍वचा ज्‍यादा अच्‍छी और चमकदार रहती है। यानि कि हमउम्र लोगों से आप अधिक यंग दिखाई देगें। ऐसा हम नहीं कह रहे बल्‍िक अमेरिका की स्‍टैनफोर्ड यूनीवर्सिटी में लंबी रिसर्च के बाद ये फैक्‍ट सामने आया है। 

रात को आएगी बेहतरीन नींद 

अगर आप सुबह सुबह कुछ देर तक साइकिलिंग करतें हैं, तो रात को आपको बेहतरीन नींद आएगी, यानि नीदं न आने की प्राब्‍लम पूरी तरह से खत्‍म हो जाएगी। अर्ली मॉर्निंग साइकिल चलाने से आपको थकान हो सकती है, लेकिन वो कुछ देर की होगी, पर उसका फायदा शानदार होगा। 

होंगे कम बीमार

यूनीवर्सिटी ऑफ कैरोलाइना में एक रिसर्च के बाद पाया गया कि जो लोग हफ्ते के पांच दिन कम से कम आधा घंटा साइकिल चलाते हैं। उनकी बॉडी की इम्‍यून सेल्‍स ज्‍यादा एक्‍टिव रहती हैं और वो व्‍यक्‍ित, एक्‍सरसाइज न करने वाले किसी भी दूसरे व्‍यक्‍ति से 50 प्रतिशत कम बीमार पड़ता है। 

फिजीकिल रिलेशन बनाए बेहतर

साइकिलिंग करने वाले की बॉडी की तमाम मशल्‍स हेल्‍दी और मजबूत हो जाती हैं। जिससे उनकी सेक्‍सुअल पावर भी बढ़ती है। कॉरनेल यूनीवर्सिटी की एक रिसर्च के रिजल्‍ट से पता चलता है कि रोजाना कुछ देर साइकिलिंग करने वाले पुरुष या महिला दूसरे हमउम्र लोगों की अपेक्षा शारीरिक संबंधों में ज्‍यादा बेहतर होते हैं। 

बढ़ेगी ब्रेन पावर

साइकिलिंग करने वाले की मेमोरी यानि ब्रेन पावर ऐसा न करने वाले की तुलना में 15 परसेंट ज्‍यादा होता है। अमेरिका की इलिनॉय यूनीवर्सिटी के प्रोफेसर्स ने एक रिसर्च बाद पाया कि साइकिल चलाने आपका दिल मजबूत होता है। साथ ही इससे आपकी बॉडी में नई ब्रेन सेल्‍स भी बनती रहती हैं। यानि कि अब हम कह सकते हैं कि 'साइकिल चलाओ मेमोरी बढ़ाओ'। 

आपका बॉस रहेगा खुश

आप सोच रहे होंगे कि साइकिलिंग करने से बॉस कैसे खुश होगा। दरअसल रिसर्च बताती है कि साइकिलिंग जैसी एक्‍सासाइज करने वाले लोग अपने ऑफिस वर्क से ब्रेक कम लेते हैं। साथ ही किसी भी टास्‍क को टाइम पर पूरा करने के मामले में वो औरों से ज्‍यादा बेहतर होते हैं। हमे अफसोस है कि रिसर्च यह नहीं कहती कि साइकिलिंग करने से आपको प्रमोशन भी मिल जाएगा। 

परिवार के साथ करिए इंज्‍वाय 

साइकिलिंग एक ऐसा काम या एक्‍सरसाइज है, जिसे आप अपनी वाइफ और बच्‍चों के साथ भी मजे से कर सकते हैं। पार्क या स्‍मॉल पिकनिक पर जाना हो तो साइकिल आपके परिवार की शानदार साथी साबित होगी। यानि हेल्‍थ और इंज्‍वायमेंट दोनों के लिए आसाना बहाना बन सकती है साइकिलिंग। 

अब मजे से खाइए हाई कैलोरी स्‍नैक्‍स 

जिन लोगों को समोसे, कचौरी, कोल्‍डड्रिंक या दूसरे हाई कैलोरी स्‍नैक्‍स खाना बहुत पसंद है, लेकिन इन्‍हें खाने से मिली एक्‍स्‍ट्रा कैलोरी को गलाना है उनके लिए मुश्‍किल। ऐसे में साइकिलिंग करके आप कंज्‍यूम की हुई एक्‍स्‍ट्रा कैलोरी को बड़े आराम से बर्न कर सकते हैं। 

बढ़ा हुआ वेट मजे से करिए कम

साइकिलिंग करने से आप अपना वेट भी कंट्रोल में रख सकते हैं। ब्रिटिश रिसचर्स ने दावा किया है कि अगर आप हर रोज कम से कम आधा घंटा साइकिलिंग करते हैं तो साल में अपना 5 किलो वजन कम कर सकते हैं। या कहें कि साइकिल चलाने से आपकी बॉडी एक्‍स्‍ट्रा वेट गेन नहीं करेगी। 

जिएं जी भर के

अमेरिका और ब्रिटेन में काफी सालों तक चली रिसर्च के बाद पाया गया कि जो लोग अपनी लाइफ में काफी समय तक रोजाना लगभग 45 मिनट साइकिलिंग जैसी एक्‍सरसाइज करते हैं, वो ज्‍यादा उम्र तक हेल्‍दी और फिट रहते हैं। मतलब ये है कि साइकिलिंग करने वाले को हॉर्ट डिजीज, मोटापा, कैंसर और डायबिटीज जैसी बीमारियां होने की पॉसिबिलिटी, एक्‍सरसाइज न करने वालों की तुलना में करीब आधी होती है।

 .



This post first appeared on विराट कोहली ने शहीदों के नाम की जीत, please read the originial post: here

Share the post

साइकिलिंग के ये 10 फायदे जानकर तो आप भी मोटरबाइक छोड़ थाम लेंगे साइकिल

×

Subscribe to विराट कोहली ने शहीदों के नाम की जीत

Get updates delivered right to your inbox!

Thank you for your subscription

×