Get Even More Visitors To Your Blog, Upgrade To A Business Listing >>

मंत्रशक्‍ति मां और गर्भस्‍थ शिशु के स्‍वास्‍थ्‍य के लिये लाभकर

 -- हिंदू धर्म ग्रंथों के श्लोकों व जैन मुनियों के द्वारा दिये गये मंत्रों में दिव्‍यशक्‍ति 

गोल्‍डन एज और लोकस्‍वर की संयुक्‍त संगोष्‍ठी में गर्भस्‍थ शिशुओं और गर्भवती
महिलाओं  की मंत्रों से काऊंसलिंग पर विस्‍तार से हुई चर्चा। 

आगरा: मंत्र जन्‍मपूर्व स्‍थिति में भी शिशू को न केवल संस्‍कारी बनाते हैं अपितु संतान और मां के स्‍वास्‍थ्‍य को दृष्‍टिगत अनुकूल रूप से प्रभावित करते हैं, यह कहना है श्रीमती मीता जैन का जो कि रविवार को  गोल्डन एज और लोक स्वर संस्था की एक संयुक्‍त मुख्‍य अतिथि के रूप में विचार व्‍यक्‍त कर रही थीं।प्रख्‍यात चिकित्‍सक डा आर एन   मल्होत्रा की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में  श्रीमती  जैन ने बताया कि  गर्भ धारण से पूर्व और गर्भावस्था के दौरान महिलाओ को मंत्रो की सहायता से

काउंसलिंग की जाती है।

 जिसके फलस्‍वरूप  उत्पन्न होने वाले शिशु के अच्छे स्वास्थ्य एंव संस्कारवान होते हैं।  उन्‍हों ने कहा कि वह प्राप्‍त अनुभवों के आधार पर कह सकती है कि इस प्रकार शिशु के साथ साथ मां के स्वास्थ्य व स्वभाव पर भी सकारात्मक प्रभाव पडता है। 

एक जानकारी में श्रीमती जैन ने कहा कि एक महिला के गर्भ मे शिशु के उल्टा होने पर भी उस महिला ने मंत्रो की सहायता से अपने गर्भस्थ शिशु को सही दिशा मे लाने मे सफलता पाई और शिशु का जन्म सही प्रकार से हुआ।  

 श्रीमती जैन ने कहा कि अपनी आस्‍था,विश्‍वास और सेवा अनुभवों के आधार पर  हिंदू धर्म के ग्रंथों श्लोकों व जैन मुनियों द्वारा मंत्रों के माध्यम से हम एक स्वस्थ आनंददायक जीवन पा सकते हैं 

संगोष्‍ठी में मौजूद प्रबुद्धजनों के द्वारा अपनी तमाम जिज्ञासाओं को खुलकर प्रश्‍नों के रूप में प्रस्‍तुत किया गया,. जिसका श्रीमती नीता जैन ने समुचित समाधान किया। संगोष्‍ठी की एक अन्‍य प्रमुख सहभागी स्वतंत्रा सेनानी भूतपूर्व विधायक रानी सरोज गौरिहार  ने भी शिशु संस्‍कारों से संबधित भारतीय संस्‍कृति से जुडी पुरानी परंपराओं पर वर्तमान परिवेश में प्रकाश डाला ।

गोल्डन ऐज के अध्यक्ष डॉ आर्यन मल्होत्रा, आर्किटेक्चर श्री शिरोमणि सतनारायण सिंघानिया, जीएस फौजदार जी, आर एस मित्तल जी, हरप्रसाद बंसल जी., श्रीमती मीरा अमिताभ ,श्रीमती शकुंतला जैन, श्री ललित प्रसाद जी. लोकस्‍वर की कोषाध्यक्ष साक्षीजैन, सचिव नवीन गोयल, किशोर टेकचंदानी किशोर करमचंदानी ,गौरव लूथरा सीए, दीपेंद्र मोहन सिंह आदि  की सक्रिय सहभागिता रही।  

संगोष्‍ठी का  संचालन लोक स्वर के संस्थापक अध्यक्ष व गोल्डन ऐज के सीईओ श्री राजीव गुप्ता ने किया ।उन्‍होंने संगोष्‍ठी के विषय पर विस्‍तार से प्रकाश डालते हुए मौजूदा दौर में संस्‍कार,स्‍वास्‍थ्‍य तथा संस्‍कृति के परिप्रेक्ष्‍य में महत्‍ता बतायी। 

प्रोफेसर निहाल सिंह जैन द्वारा सभी उपस्थित सदस्यों खास कर डॉक्टर पीसी गुप्ता , समता गुप्ता  को धन्यवाद दिया । 



This post first appeared on INDIA NEWS,AGRA SAMACHAR, please read the originial post: here

Share the post

मंत्रशक्‍ति मां और गर्भस्‍थ शिशु के स्‍वास्‍थ्‍य के लिये लाभकर

×

Subscribe to India News,agra Samachar

Get updates delivered right to your inbox!

Thank you for your subscription

×