Get Even More Visitors To Your Blog, Upgrade To A Business Listing >>

एक ऐसा हिन्दू जो मस्जिद बचाने के लिए दंगाई से भीड़ गया : आगे क्या हुआ ?

hindu man protected mosque in riots

जबसे बीजेपी सत्ता में आयी है तबसे देश में खासकर मुस्लिम और दलित समुदाय के बारे में नफरत फैलई जा रही रही. मनगढ़त कहानी लिखकर कोई गलत फोटो डालकर खबर व्हायरल की जा रही है। लेकिन आज भी बहुसंख्य हिन्दू समाज भले ही विकास के झांसे में आकर बीजेपी को वोट किया हो लेकिन इनकी काली करतूत का समर्थन नहीं करता है। हर हिन्दू में मन में ऐसा ही भारत बसता है जो सभी धर्मो का आदर करे और नफरत न करके शांति से हल ढूंढने की कोशिश करे। ऐसी ही एक खबर आज टाइम्स ऑफ़ इंडिया में छपी है।

इस ख़बर के मुताबिक साल 2013 में हुए मुजफ़्फरनगर दंगों में रामवीर कश्यप नाम एक शख़्स ने 120 साल पुरानी मस्जिद तोड़ने से बचाई थी। यह मस्जिद काफी पुरानी थी और गांव के लोगो के लिए यह पहचान सी बन चुकी थी , ऐसे में कुछ दंगाई जैसे ही आ गए, रामवीर कश्यप ने इसका विरोध किया और लोगो को इकट्ठा कर वही पर डटे रहे। काफी प्रतिरोध के बाद दंगाई भाग गए और रामवीर कश्यप ने इस प्रकार से मस्जिद को बचा लिया।

ये मुज़फ़्फ़रनगर के ननहेड़ा गांव में एकमात्र मस्जिद बची है. 59 साल के रामवीर ने हमले के दौरान इस मस्जिद को बचाने के लिए लोगों को इकट्ठा कर लिया था। रामवीर कश्यप को मस्जिद से लगाव हो गया और अब रामवीर इस मस्जिद की देखरेख करते हैं. इसमें सफ़ाई करने, शाम को मोमबत्ती जलाने और ज़रूरत पड़ने पर सफ़ेदी करने की ज़िम्मेदारी भी वही संभालते हैं.



This post first appeared on Hindi News India, please read the originial post: here

Share the post

एक ऐसा हिन्दू जो मस्जिद बचाने के लिए दंगाई से भीड़ गया : आगे क्या हुआ ?

×

Subscribe to Hindi News India

Get updates delivered right to your inbox!

Thank you for your subscription

×