Get Even More Visitors To Your Blog, Upgrade To A Business Listing >>

100 सालों की सबसे भीषण बाढ़, केरल की जलप्रलय

केरल में आई जल महाप्रलय से लाखों लोग प्रभावित हुए हैं. दक्षिण भारत का यह तटवर्ती राज्य 100 सालों की सबसे भयंकर बाढ़ में डूबा हुआ है. प्रधानमंत्री मोदी ने भी हवाई सर्वेक्षण कर जलप्रलय से प्रभावित इलाकों का जायजा लिया. पीएम मोदी के साथ केरल के सीएम पिनरई विजयन और अन्य अधिकारी भी मौजूद थे .यहीं नहीं, केंद्र ने 500 करोड़ रुपये की सहायता राशि और दी है. इससे पहले केंद्र ने 100 करोड़ की मदद का भरोसा दिया था.

ऐसे में केंद्र ने अबतक 600 करोड़ रुपये की सहायता राशि की घोषणा की है. हालांकि आपको बता दें कि राज्य सरकार ने बाढ़ प्रभावित इलाकों के लिए 2 हजार करोड़ रुपये की सहायता राशि की मांग रखी है .अब तक नौ दिन से जारी भारी बारिश और बाढ़ के चलते करीब 180 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं मई से अब तक बाढ़ और भारी बारिश से 324 की जान गई है. भगवान का अपना देश’ कहे जाने वाला केरल जल प्रलय की चपेट में है. वह भी ऐसी प्रलय जिसके सामने मानव बौना साबित हो रहा है.एनडीआरएफ और भारतीय वायुसेना भी राहत और बचाव कार्य में जुटे हुए हैं.

सूबे के कई हिस्से जलमग्न हो गए हैं और 324 लोगों की जान चली गई है. 3 लाख 14 हजार 391 लोग बेघर हो गए हैं, जिनको 2000 से ज्यादा राहत कैंपों में रखा गया है इसके अलावा रक्षा मंत्रालय ने केरल को राहत और बचाव कार्य के लिए 1300 लाइफ जैकेट्स, 571 लाइफबॉय, एक हजार रेनकोट, 1300 गमबूट, 25 मोटराइज्ड बोट, नौ नॉन मोटराइज्ड बोट, 1500 फूड पैकेट और 1200 रेडी-टू-ईट मील उपलब्ध कराए हैं. सूबे के कुछ इलाकों में बारिश थोड़ी थमी है, लेकिन पथनमथिट्टा, अलपुझा, एर्नाकुलम और त्रिशूर जिले अब भी मॉनसूनी संकट से जूझ रहे हैं .केरल में बाढ़ में फंसे लोगों को निकालने के लिए भारतीय वायुसेना ऑपरेशन ‘करुणा’ चला रहा है.

5 Mi-17V5 और तीन अन्य हेलिकॉप्टर के जरिए पथानामथिट्टा, एर्नाकुलम और त्रिशूर जिले में फंसे लोगों को बचाया गया है केरल के अलुवा, कालाडी, पेरुम्बवूर, मुवाट्टुपुझा और चालाकुडी में फंसे लोगों को निकालने के लिए स्थानीय मछुआरे भी अपनी-अपनी नौकाएं लेकर बचाव अभियान में जुट गए हैं.इसके अतिरिक्त सरकारी टेलीकॉम कंपनी BSNL और रिलायंस जियो ने बाढ़ प्रभावित केरल के अपने ग्राहकों को फ्री कॉलिंग की सुविधा दी है. भारती एयरटेल, वोडाफोन और आइडिया सेल्यूलर ने अपने प्रीपेड ग्राहकों को सीमित संख्या में मुफ्त कॉलिंग की सुविधा दी है .कई सड़कों से मिट्टी हटाने कार्य चल रहा है.

इससे पहले केंद्रीय गृह राज्यमंत्री राजनाथ सिंह ने केरल के बाढ़ प्रभावित जिलों का हवाई सर्वेक्षण किया था. इसके बाद राजनाथ ने कहा था कि केरल में स्थिति वाकई बेहद खराब हो गई. उन्होंने केरल के लिए खास पैकेज का भी ऐलान किया था. शुक्रवार को मुख्यमंत्री पिनरई विजयन से चर्चा के बाद नरेंद्र मोदी देर रात केरल पहुंचे शनिवार सुबह मोदी ने कोच्चि में मुख्यमंत्री और आला अफसरों के साथ बैठक की. आज  मोदी बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वे कर रहे हैं. पीएम नेशनल रिलीफ फंड से मृतकों को परिजनों को 2 लाख और गंभीर घायलों को 50 हजार रुपये की घोषणा की गई है.

चेंगन्नर के कम्यूनिस्ट विधायक साजी चेरियन पीएम नरेंद्र मोदी से मदद की अपील कर टीवी स्टूडियो में ही रोने लगे. अपने विधानसभा क्षेत्र की हालत का वर्णन करते हुए चेरियन ने रोते हुए कहा, प्लीज मोदी को कहिए वो हमें हेलिकॉप्टर दें, हमें हेलिकॉप्टर चाहिए वरना हमारे और कई लोगों की जान चली जाएगी .भीषण आपदा के बीच अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी आ गई. ज्यादातर पेट्रोल पंप सूखे पड़े हैं. कई इलाकों में पीने का पानी संकट गहरा गया है. राज्य में अब भी खतरा टला नहीं है क्योंकि राज्य की लगभग सभी नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं.रेलवे ने बाढ़ से प्रभावित लोगों को अब तक 1.2 लाख पानी की बोतलें सप्लाई की हैं.

इतने ही बोतलों और भेजे जाएंगे.आपको बता दें कि केरल के लिए तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने 25 करोड़, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और आंध्र के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने 10-10 करोड़ रुपए की सहायता का ऐलान किया है. लोगों की मदद के लिए राजनेताओं के अलावा बॉल‍िवुड और क्षेत्र‍ीय कलाकारों ने भी अपील की है. स्थानीय लोग भी जरूरतमंद लोगों तक सहायता पहुंचा रहे हैं.

मौसम विभाग ने रविवार तक केरल के साथ ही तमिलनाडु और कर्नाटक में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया आपको बता दें कि हेलिकॉप्टर से बाढ़ प्रभावित इलाकों से लोगों को निकाला जा रहा है.मौसम विभाग का कहना है कि केरल में आने वाले दिनों में सूबे में बारिश कम होने की उम्मीद है.वहीं केरल के अलावा गुजरात, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश और राजस्थान में भारी बारिश की आशंका है. वहीं राहुल गांधी ने मांग रखी है कि केरल की बाढ़ को राष्ट्रीय अापदा घोषि‍त किया जाए.



This post first appeared on AWAZ PLUS, please read the originial post: here

Share the post

100 सालों की सबसे भीषण बाढ़, केरल की जलप्रलय

×

Subscribe to Awaz Plus

Get updates delivered right to your inbox!

Thank you for your subscription

×