Get Even More Visitors To Your Blog, Upgrade To A Business Listing >>

जोड हड्डियां दर्द निवारण जनरल टिप्स Join Pain tips in Hindi

Join-Pain-tips-in-Hindi जोड़ों हड्डियों दर्द अकसर 40 वर्ष के बाद आरम्भ हो जाती है। परन्तु आधुनिक दौड़भाग दिनचर्या लाईफ स्टाईल के कारण आजकल तेजी से जोड़ों हड्डियों के दर्द की समस्या बढ़ती जा रही है। व्यक्ति जोड़ों हड्डियों के दर्द निवारण के लिए पेनकिलर इंजेक्शन दवाईयां के सेवन से दर्द कम करने की सोचते हैं, जोकि पूर्ण रूप से हानिकारक है। पेनकिलर इंजेक्शन दवाईयां हड्डियों को कमजोर नाजुक कर देती है। जिससे हड्डियां धीरे धीरे गलनी शुरू हो जाती है। हड्डियां विशेषज्ञ हमेशा जोड़ों हड्डियों के दर्द में पेनकिलर इंजेक्शन दवाईयों से परहेज की सलाह देते हैं। जिसे व्यक्ति अनसुना कर देता है और बाद में हड्डियां गलने परे तीब्र दर्द, चलन-फिरने में लाचार रहता है। जोड़ों हड्डियों के दर्द सही चिकित्सक उपचार और नैचुरल सुरक्षित तरीकों से ठीक किया जा सकता है।


जोड़ों हड्डियों के दर्द में ध्यान रखने वाली खास बातें

शरीर में कैल्शियम पूर्ति

जोड़ों हड्डियों के पीड़ित व्यक्ति को रोज 1 गिलास गाय का दूध जरूर पीना चाहिए। दूध हड्डियों में कैल्शियम की कमी नहीं होने देता।

आयरन युक्त पौष्टिक आहार

जोड़ों हड्डियों दर्द में पालक, राई, सरसों, चैलाई आदि पत्तेदार सब्जियां खाने से आरयन की पूर्ति हो जाती है। रोज पत्तेदार हरी ताजी सब्जियां जरूर सेवन करें।

 

नाॅनवेज शराब सेवन नियत्रण

जोड़ों हड्डियों दर्द में नाॅनवेज शराब का परहेज करना चाहिए। शराब सेवन से यूरिक ऐसिड तेजी से बढ़ता है। नाॅनवेज सीमित और डाईट चार्ट के हिसाब से खायें।

 

 

जोड़ों हड्यिों के दर्द में विटामिन डी

जोड़ों हड्डियों दर्द में विटामिन डी फायदेमंद है, 2 घण्टे धूप सेकना, विटामिन डी युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करना फायदेमंद है। ठंडी हवा एयर कंडिशनर, कूलर हवा से बचें।

 

दही सेवन

जोड़ों हड्यिों के दर्द में रोज आधा कप दही सेवन करें। दही हड्डियों को मजबूत बनाने में सक्षम है। दही रात को नहीं खानी चाहिए। और दहीं खाने के तुरन्त बाद पानी न पीयें।

 

पेनकिलर इंजेक्शन दवाईयों से परहेज

जोड़ों हड्यिों में ज्यादा दर्द होने पर व्यक्ति अकसर पेनकिलर इंजेक्शन गोलियों का सेवन करते हैं। पेनकिलर सेवन हड्डियों के दर्द को कुछ समय के लिए आराम मिले परन्तु पेनकिलर इंजेक्शन दवाईयां हड्डियों को तेजी से गलाती है। पेनकिलर का ज्यादा सेवन करने से हड्डियों गलने, हल्की सी चोटी में या फिर पांव मुड़ने पांव फिसलने पर से हड्डियों टूटने के अवसर ज्यादा रहते हैं। और चलने फिरने की लाचार हो सकता है। प्राकृतिक आर्युवेदिक सुरक्षित पेनकिलर तरीके करें।

 

वजन पर नियत्रंण

जोड़ो हड्डियों के दर्द के दौरान शरीर का वजन नियत्रंण में रखें। वजन बढ़ने पर दर्द तीब्र हो जाता है। इसलिए रोज व्यायाम, योगा, पैदल चलना-फिरना जरूरी है।

 

जंकफूड तली भुनी चीजें

हड्डियों जोड़ों के दर्द में जंकफूड सोड़ा पेय, तली भुनी खाने से परहेज करें। जंकफूड ठंडा सोड़ा पेय और तलीभुनी चीजें पूर्ण से पाचती नहीं है, जिससे शरीर दर्द ग्रसित अंगों को पूर्ण पोषण नहीं मिल पाता है। जंकफूड तीखी तलीभुनी सोड़ा युक्त चीजों सेवन से पाचन गड़बडाना, गैस कब्ज, बदहजमी कई तरह की बीमारियों विकार होना पाया जाता है।

 

जोड़ों दर्द पर मालिश

जोड़ों हड्डियों दर्द में ग्रसित अंगों पर आर्युवेदिक दर्द निवारण तेल, औषधि से रोज मालिश करें। कैमिक्ल युक्त रसायनों से बने मालिश क्रीम, मालिश लोशन, मालिश तेल से परहेज रखें। शुद्ध सुरक्षित मालिश तेल ही इस्तेमाल करें।

 

जोड़ों हड्डियों विशेषज्ञ से सलाह

हड्डियों जोड़ों दर्द विकारों में विशेषज्ञ से सलाह चिकित्सक उपचार समय-समय पर जरूर करवायें।



This post first appeared on , please read the originial post: here

Share the post

जोड हड्डियां दर्द निवारण जनरल टिप्स Join Pain tips in Hindi

×

Subscribe to

Get updates delivered right to your inbox!

Thank you for your subscription

×