Get Even More Visitors To Your Blog, Upgrade To A Business Listing >>

करेला एक अचूक औषधि Bitter gourd juice and eating benefits in hindi

Bitter-gourd-juice-and-eating-benefitsकरेला प्राचीन काल से ही भारत में आर्युवेद से जुड़ा हुआ है। करेला स्वाद में कड़वा जरूर है। परन्तु करेला में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, कैल्शियम, फास्टफोरस प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। जोकि शरीर के लिए रोग प्रतिरोधक प्रदान करते है। कई तरह के छोटी बड़ी बीमारियों को ठीक करने में सक्षम है। करेला जूस सेवन और करेला की सब्जी महीने में 3-4 बार जरूर खानी चाहिए। जोकि शरीर में होने वाले विकारों बीमारियों से छुटकारा दिलाने में अहम है। हम आपको करेला के जूस सेवन और करेला की सब्जी, कच्चा करेला, करेला आग में पका भून कर खाने के कई फायदे बता रहैं। जोकि निम्न प्रकार से हैं।

करेला रस पीने और करेला खाने से मुख्य फायदे
1. शरीर में गांठ बनने पर, गले में टान्सिस, गिलटी, बनने पर लगातार रोज सुबह शाम कच्चा करेला खाने से समस्या 40-45 दिनों में मिट जाती है। बड़ी गांठ सम्बन्धित बीमारियों में भी करेला रामबाण दवा है।

2. करेला में मौजूद फास्फोरस कफ की समस्या को तुरन्त दूर कर देता है। सुबह कुछ खाने से पहले एक कच्चा करेला खायें और एक वक्त करेला की सब्जी खाने से तुरन्त कफ से छुटकारा मिलता है।

3. कच्चा करेला, लहसुन की 4-5 कलियां और नींबू रस मिलाकर सुबह लगातार खाने से मोटापा घट जाता है। गैस, कब्ज की समस्या से निदान मिल जाता है।

4. भूख कम लगने की बीमारी में करेला की सब्जी, व करेला खाने से भूख तेजी से लगनी शुरू जाती है। और पाचन पहले जैसी स्थिति में आ जाता है। करेला पाचन तत्रं को दुरूस्त रखता है।़

5. डायबिटीज के पेशेंट के लिए करेला सेवन उत्तम है। करेला डायबिटीज को नियत्रंण में रखता है। लगातार कच्चा करेला खाने से डायबिटीज ना के बाराबर रह जाती है।

6. लकवा होने पर व्यक्ति को रोज सुबह शाम एक कच्चा करला खायें और बाद में 1 गिलास दूध बिना चीनी के। करेला दूध से लकवा नियत्रण और ठीक होने में सक्षम है।

7. गठिया रोगी के लिए करेला सेवन अच्छा माध्यम है। करेला खायें और करेला का रस उगलियों पर लगाकर मालिश करें।

8. कच्चे करेला को आग में भून, बाहर से हल्का काला होने तक पकायें। फिर ठण्डा होने पर हींग काला नमक के साथ खाने से सर्दी जुकाम तुरन्त ठीक हो जाता है।

9. करेला दमा को नियत्रण करने में सक्षम है। रोज सुबह शाम कच्चा करेला खाना दमा रोगी को फायदा देता है।

10. बवासीर होने पर लगातार 40 दिनों तक 1 गिलास करेला रस और आधा चम्मच चीनी मिलाकर पीने से बवासीर जड़ से खत्म हो जाता है।

11. पेट खराब और दस्त लगने में करेला का रस में काला नमक, पुदीना रस मिलाकर पीने से दस्त रूक जाते हैं। 5 मिनट बाद थोड़ा सा चावल और एक कटोरी दही खाने से दस्त तुरन्त रूक जाते हैं।

12. शरीर में रक्त को पतला, फिल्टर, साफ करने में करेला जूस रामबाण दवा है। जिन लोगों का खून खराब रहता है, लगातार हो रहे फोड़े, फुन्सियां, खुजली आदि से तुरन्त छुटकारा मिलता है।

जहां दवाईयां कम असर करें, करेला रस और कच्चा करेला खाना, करेला की सब्जी आदि किसी न किसी तरह से जरूर करें। करेला के फायदें आपको अपने आप दिखने लगेंगे। करेला से प्राचीन काल में अनगिनत औषधियां उपचार कियें जाते थे। समय के साथ सब बदला। आजकल लोग करेला से परहेज करने लगे, क्योंकि करेला कड़वा होता है। परन्तु वे लोग करेला के हजारों फायदों से अनजान है। हमें उम्मीद है कि अब आपको करेला के सेवन और फायदे पता चल गयें हैं और करेला का सेवन करेगें। जिससे रोगमुक्त जीवन यापन करेगें। करेला सेवन जरूर करें। करेला को नकारे नहीं।


This post first appeared on Health Tips In Hindi - Beauty Tips In Hindi - Yoga, please read the originial post: here

Share the post

करेला एक अचूक औषधि Bitter gourd juice and eating benefits in hindi

×

Subscribe to Health Tips In Hindi - Beauty Tips In Hindi - Yoga

Get updates delivered right to your inbox!

Thank you for your subscription

×