Get Even More Visitors To Your Blog, Upgrade To A Business Listing >>

गर्भावधि डायबिटीज़

गर्भावधि डायबिटीज़ ( Gestational Diabetes ) खासकर महिलायों में pregnancy के दौरान होने वाली बीमारी है। क्यूंकि इस समय उनके पूरे बॉडी में blood sugar level काफी बढ़ी होती है। जो normally बच्चे के delivery के बाद खत्म भी हो जाती है।

लेकिन आप ये न सोचे की future में ये आपको दोबारा नहीं होगा?

क्यूंकि यह एक ऐसी बीमारी है जिसकी future में होने की संभावना काफी ज्यादा बढ़ जाती है।

अगर इसे सही समय पर control नहीं किया जाएगा तो आपके बच्चे को भी diabetes हो सकते है।

इसीलिए ADA ( American Diabetes Association ) ने अपने website पर ये साफ बताया है की डॉक्टरों को किसी भी pregnant औरतों का gestational diabetes का रेगुलर check up जरूर किया जाना चाहिए।

क्यूंकि इस बीमारी में ज़्यादातर pregnant औरतों को बीमारी के लक्षण पहचान में नहीं आती जब तक की उसकी screening न किया जाये।

इसीलिए pregnancy के दौरान mostly हर महिला को बॉडी check up जरूर करवानी चाहिए।

मैंने आपको पहले ही बताया है की ज़्यादातर महिलायाओं को इसके लक्षण पता नहीं चलती। तो इसका मतलब ये नहीं की आपको इसके symptoms पता नहीं होने चाहिए, जरूर पता होनी चाहिए तभी आप इस तरह की खतरनाक बीमारी से बच सकते है।

इसीलिए सबसे पहले आप इसके लक्षण को जान लें –

Gestational diabetes signs –

  1. ज्यादा प्यास आना,
  2. बार-बार पेशाब आना,
  3. Dry mouth,
  4. थकान,
  5. आलस,
  6. खुजली आदि।

Gestational diabetes होने का क्या कारण होता है ?

अभी तक इसका कोई निश्चित प्रमाण नहीं मिला है की आखिर ये होता कैसे है?

Gestational diabetes होने की risk factors –

अगर आपके family members में किसी एक को भी पहले से Type 1 diabetes या Type 2 diabetes था या अभी है तो आपको भी होने के chances काफी बढ़ जाती है।

Family history में prediabetes होने पर भी Gestational diabetes होने की chances बढ़ जाती है।

अगर आपका वजन अपने शरीर के height और weight के average से ज्यादा हो यानि की आप overweight हो तो आपका risk बढ़ जाता है।

blood pressure का मरीज होना।

अगर आपके family member में पहले से किसी को gestational diabetes है तो आपको होने के chances काफी बढ़ जाती है।

अगर आप Asian, African, Native American है तो आपकी risk बढ़ जाती है।

अगर आप ऊपर बताए गए सारे कारणो में से आप ताल्लुक रखते है तो आपके risk factors बढ़ जायेंगे।

Extra tips – Normally Gestational diabetes का जल्दी कोई लक्षण नहीं दिखाई पड़ती है जब तक की इसका test न कराया जाये। इसीलिए mostly डाक्टर्स pregnant औरतों को सबसे पहले Gestational diabetes का test कराते है ताकि वो confirm हो सके की आपको किस तरह से treatments दी जाये।

अगर आप भी pregnant है तो सबसे पहले इसका test कराये नहीं तो आने वाले समय में Type 2 diabetes होने का chances काफी ज्यादा बढ़ जाता है, जो Gestational diabetes से काफी खतरनाक होता है।

अगर आपको बार-बार भूख लगती है, बार-बार प्यास लगती है, बार-बार पेशाब लगती है तो आपको इसकी test जरूर करानी चाहिए।

तो अब बात आती है की आपको कौन सी Gestational diabetes टेस्ट करानी चाहिए?

इसके लिए आपको OGTT ( Oral glucose tolerance test ) नामक screening test करना होगा। जो dignosis करने के लिए best method माना जाता है। क्यूंकि इसमें आपके blood का 3 से 4 बार sample लिया  जाता है।

आपको जिस दिन इस test को कराना होता है उसके पहले रात से कुछ भी नहीं खाना होता है ( आप पानी पी सकते है लेकिन डॉक्टर की सलाह से ) यानि की यह test भूखे पेट किया जाता है।

आपको अगले दिन best recommendations के अनुसार glucose पिलाया जाता है। जिसके बाद आपके blood sugar level को दोबारा measure किया जाता है और देखा जाता है की आपका blood आपके body के साथ कैसा deal करता है।

ये normally pregnant होने के 24 से 28 सप्ताहों के बीच के किया जाने वाला टेस्ट है।

अगर आप पूरे test को एक बार कर लेते है तो आपको इसके बारे में सारी जानकारी मिल जाती है की आखिर यह test किस तरह से होती है।

जिसके बाद आप खुद से इस test को घर पर कर सकते है। लेकिन आपके पास Finger-pricking device होनी चाहिए। जिसके जरिये आप घर बैठे अपना टेस्ट कर सकते है या  measure कर सकते है।

Gestational diabetes treatment –

इसका इलाज दो तरह से होता है। पहला – कुछ diabetic ऐसे होते है जिनको सिर्फ healthy diet के द्वारा ब्लड sugar level को काफी हद तक control करा दिया जाता है। लेकिन कुछ लोगों को जब सही डाइट से इलाज नहीं हो पाता तब डॉक्टर्स insulin injections और tablet के द्वारा इसे control करने कोशिश करते है।

देखिये मै आपको एक बात बता दूँ की यह एक ऐसी बीमारी है जिसमें बच्चे को जन्म देने के बाद diabetes खुद-ब-खुद खत्म हो जाती है।

लेकिन कुछ लोगों के साथ ऐसा नहीं होता इसीलिए डॉक्टर्स उन्हे इस तरह की treatment देते है।

मैंने कई ऐसे लोगों को देखा है जो बिना डॉक्टर के सलाह के अपने high blood sugar को काफी हद तक कम कर चुके है और वो काफी अच्छी life जी रहे है।

लेकिन मैं आपको ऐसा करने की सलाह नहीं दूंगा। आप कुछ भी करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

मैं यहाँ पर आपको बस यही बताना चाहता हूँ की सिर्फ अच्छी डाइट और regular exercise के द्वारा इसे काफी हद तक control किया जा सकता है।

( My opinion –

मैं आपको यही बोलना चाहूँगा की डॉक्टर से इलाज कराने से पहले आप healthy diet और exercise के जरिये इसे control करने की कोशिश करें। जब ये इससे control नहीं पाएगा तो आप डॉक्टर से इलाज करा सकते है। क्यूंकि मैं ऐसा इसीलिए बोल रहा हूँ की मैंने कई ऐसे लोगों को देखा है जो अपने को सिर्फ डाइट और physcial activity के कारण आपने-आप को fit कर चुके है। )

Gestational diabetes diet plan –

आपको इस समय ऐसी चीज़ें खानी चाहिए जो आपके blood sugar level को न बढ़ा सके और आपको वो पूरी essential elements भी मिल जाए जिसकी आपकी बॉडी को जरूरत हो अपने को fit रखने के लिए। जैसे –

Pregnant महिलायों के लिए protein most important होता है क्यूंकि ये आपके बच्चे के body structure को develop करने के लिए बेहद जरूरी होता है।

protein में आप ये सभी चीज़ें ले सकते है –

अंडा, चिकें, lean meat, सोयाबेयन, दूध, दहि, आदि।

Carbohydrate ( Carbs ) में आप ये सभी चीज़ें ले सकते है –

ये भी second most important इंग्रेडिएंट्स है आपके health के लिए। लेकिन आपको सिर्फ complex carbs ही लेना चाहिए ना की simple carbs। इसीलिए मैं आपको यहाँ पर सिर्फ complex carbs के बारे में बताऊंगा जो आपके overall health के लिए बेस्ट होगा। जैसे –

Brown rice ( not white rice ),

Brown bread ( not white bread ),

Multi grain bread,

Whole wheat bread,

Oats ( not flavored ),

Sweet potato,

Cereals,

Multi grain pasta,

Black beans,

Kidney beans आदि।

Fats में आप इन सभी चीजों को ले सकते है –

Fats भी दो तरह की होती है –

एक healthy fat और दूसरा Unhealthy fat तो मैं आपको healthy fats के बारे में बताने वाला हूँ जो आपके blood sugar level को काफी कम करने में मदद करेगा। जैसे –

Extra virgin olive oil,

Coconut oil,

Peanut butter,

Avocadu,

Nuts ( Cashewnuts, almond,

अंडा ) आदि।

Exercise –

इसमें आप कोई भी physical acitvity कर सकते है लेकिन जरूर करें। जितना important आपके लिए डाइट है उतना ही जरूरी आपके लिए exercise भी है। क्यूंकि रेगुलर एक्सर्साइज़ करने से आपका blood sugar level काफी नीचे चला जाता है।

इसमें आप क्या-क्या कर सकते है – टहलना जो आपके लिए बेस्ट option हो सकता है क्यूंकि pregnancy में आपके लिए यही best है। इसके अलावा आप डॉक्टर की सलाह ले सकते है।

मुझे उम्मीद है की आपको ये आर्टिक्ल काफी पसंद आई होगी। अगर हाँ तो इसे अपने दोस्तों के साथ Facebook, Google+ और Twitter पर जरूर share करें। ताकि आपके दोस्तों को भी इससे मदद मिल सकें।

इस आर्टिक्ल से related कोई भी सवाल पूछना हो तो आप मुझे नीचे comment या email कर सकते है।

The post गर्भावधि डायबिटीज़ appeared first on FitIndiaHindi.com .



This post first appeared on Weight Gain Fast With Low Budget In Hindi, please read the originial post: here

Share the post

गर्भावधि डायबिटीज़

×

Subscribe to Weight Gain Fast With Low Budget In Hindi

Get updates delivered right to your inbox!

Thank you for your subscription

×