Get Even More Visitors To Your Blog, Upgrade To A Business Listing >>

सर्दियों में अपना कोलेस्ट्रॉल ना बढ़ने दें | Maintain Cholesterol in Winters

जैसे ही सर्दियाँ शुरू होती हैं हमारे अंदर कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के आशंका भी बढ़ जाती है। इसका सीधा मतलब है हमारे दिल की सेहत खराब हो सकती है और जान का जोखिम बढ़ सकता हैं। लेकिन आज में बताने जा रहा हूँ के कैसे आयुर्वेद की सहायता से इस ख़तरे को कम या उसका सामना किया जा सकता है।

ज़रूर पढ़ें – क्या फय्दे हैं इनडोर गेम्स के

जैसे ही सर्दियाँ आती हैं वैसे ही खून के लिपिड के स्तर में बदलाव आने लगता हैं।जिसका सीधा मतलब है आपके कोलेस्ट्रॉल में बदलाव आना। खून में जितना ज्यादा कोलेस्ट्रॉल होगा उतना आपके दिल के लिए ख़तरा बढ़ जाएगा। अगर शोध के बात क्रें तो भारत देख में महिलयों और पुरषों की सबसे ज्यादा मौत दिल के बीमारी से ही होती है, जिसका मेन कारण कोलेस्ट्रॉल का बढ़ाना होता है।

ज़रूर पढ़ें – फलों के गुणकारी लाभ

ऐसा क्यूँ होता है के यह बीमारी सर्दियों में ज्यादा होती है इसका सबसे मेन कारण है खराब ख़ान पान और दिनचर्या जिसमें वर्काउट कम होता है।

ज़रूर पढ़ें – जानिए क्या है सहजन खाने के फय्दे

कौन से उपाय करें ताकि सर्दियों में अपना कोलेस्ट्रॉल ना बढ़ने दें

ज़रूर पढ़ें – गुर्दे की पथरी होने के कारण और उपचार

  • आयुर्वेद उपचार – लेकिन आयुर्वेद में इसका उपचार विश्‍वसनिया तरीके से संभव है। इसमें काफ़ी दवायें और उपाय हैं लेकिन इसका इस्तेमाल आयुर्वेद डॉक्टर के प्रमर्श के बाद ही लेना चाहीए।
  • ख़ान पान – पौष्टिक भोजन करने से हमारा लिपिड का स्तर ठीक रहा सकता है। अपने भोजन में हरी सब्ज़ियाँ और फल ज़रूर खायें जो हमरे शरीर को भरपूर मात्रा में पोषण देते हैं।
  •  सेहतमंद फॅट्स – अपने भोजन में आचे फॅट्स वाली वस्तु जैसे सूखे मेवे, मछली इत्यादि ज़रूर लें क्यूंकी यह हमरे शरीर के लिए बहुत ज़रूरी है। खराब फॅट्स वाले भोजन जैसे क्रीम, चीज़, मखन इत्यादि हमारे एल डी एल (खराब फॅट्स) को बढ़ाते हैं। इसलिए इनका परहेज़ ज़रूरी है।
  • संतुलित मात्रा – खाना हमें संतुलित मात्रा में ही खाना चाहीए। इससे एक तो हमारा वजन ठीक रहेगा और जो कहार्ब फॅट्स वाली चीज़ें हैं कम खाई जाएगी। नाश्ते में कॉर्न फ्लेक्स खा सकते है जो हमरे कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित रखता है।
  • सबूत आनाज – हो सके तो ज्यादा से ज्यादा सबूत आनाज ही खाना चाहीए। इसमें हम जो, बाजरा, मूसली, मक्की का इस्तेमाल कर सकते हैं। इन सबमें अची मात्रा में फाइबर होता है जो हमारे एल डी एल को कम करता है।

अपने भोजन में क्या खायें और क्या ना खायें

  • पेड़ पौधों से मिलने वाले भोजन में कोलेस्ट्रॉल बिकुल भी नही होता।
  • मौसमी फल और हरी सब्ज़ियाँ खायें।
  • एक महीने तक अगर नियमिन रूप से 15 ग्राम इसबगोल खाने से कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल किया जा सकता है।
  • हर रोज़ सर्दियों में व्यायाम ज़रूर करें।
  • रेड मीट का सेवन ना करें।
  • दूध, बटर, घी, चीज़, क्रीम का सेवन बिकुल भी ना करें।
  • धूम्रपान और आल्कोहॉल का सेवन करने से आपके कोलेस्ट्रॉल का लेवेल भी उपर हो जाता है।
  • मावे से बनी मीठाई बिल्कुल भी ना खायें।
  • अंडे का सफेद भाग ही खायें और पीला भाग छोड़ दें।

अब यह आपके हाथ में है के आपको क्या तय करना है। काफ़ी हद तक आप अपना कोलेस्ट्रॉल लेवेल को कंट्रोल कर सकते हैं बस चाहीए थोड़ी सतर्कता अपने जीने के ढंग में।और फिर देखिएगा ज़िंदगी कितने खूबसूरत लगेगी, और आपको अप्न्मी ज़िंदगी से प्यार हो जाएगा।

The post सर्दियों में अपना कोलेस्ट्रॉल ना बढ़ने दें | Maintain Cholesterol in Winters appeared first on Health मंच.



This post first appeared on Healthmanch, please read the originial post: here

Share the post

सर्दियों में अपना कोलेस्ट्रॉल ना बढ़ने दें | Maintain Cholesterol in Winters

×

Subscribe to Healthmanch

Get updates delivered right to your inbox!

Thank you for your subscription

×