Get Even More Visitors To Your Blog, Upgrade To A Business Listing >>

चार्टर्ड अकौंटंट बनने के लिये संपूर्ण जानकारी

 CA Information in Hindi

उज्वल भविष्य के निर्माण हेतू मौजूदा अनेक शिक्षा धाराओ मे से अपने मनपसंदिदा शिक्षा विकल्प का चयन करना अत्यंत महत्वपूर्ण निर्णय होता है, तथा इन शिक्षा धाराओ के चयन करने के बाद भविष्य मे अर्थार्जन के बारे मे क्या विकल्प हो सकते है, ये तय करना तथा इनसे जुडी सभी बुनियादी जानकारी हासिल करना भी एक हद तक बहूत आवश्यक चीज हो जाती है।

जिन छात्रो का झुकाव वित्त यानी के अर्थ से जुडे विषयो के तरफ होता है, उन्हे उच्च शिक्षा हेतू वित्त तथा इनसे जुडे हिसाब किताब और इनके नियोजन से जुडे शिक्षाक्रम पर प्रधान्यता से ध्यान देना परम आवश्यक होता है। कक्षा १२वी वाणिज्य शिक्षा धारा से पुरी करने के बाद छात्रो को चार्टर्ड अकौंटंट इस शिक्षाक्रम मे प्रवेश हेतू पात्र माना जाता है, इसिलिये वाणिज्य धारा के छात्र ज्यादा तर चार्टर्ड अकौंटंट की तैयारी हेतू जूट जाते है।

भलेही चार्टर्ड अकौंटंट बनने की राह इतनी आसान नही होती, फिर भी इस शिक्षाक्रम को पुरा करने के लिये क्या पात्रता होती है, कौन इसके लिये आवेदन कर सकता है, ईस शिक्षाक्रम से जुडे चरण किस प्रकार के होते है तथा इससे जुडे बुनियादी तथ्यो पर हम इस लेखद्वारा आपको मार्गदर्शन करने वाले है। हमे पुरा विश्वास है ये जानकारी आपके लिये लाभदायी साबित होगी और आप सही दिशा मे इस शिक्षा क्रम को पुरा करने के लिये तैयारी कर सकेंगे।

चार्टर्ड अकौंटंट बनने के लिये संपूर्ण जानकारी – CA Information in Hindi

 CA Information in Hindi
CA Information in Hindi

‘चार्टर्ड अकौंटंट’ कौन होता है? – Who is Chartered Accountant

चार्टर्ड अकौंटंट वह होते है जो किसी विशिष्ट संस्था, निजी संगठन,निजी व्यावसायिक संगठन, आंशिक सरकारी संस्था, या सरकारी कर्मचारी के तौर पर सरकारी आर्थिक विषय इत्यादी के लिये वित्त नियोजन, हिसाब किताब से जुडी जांच, कर से जुडे मुद्दे, तथा व्यावसायिक रणनीती इत्यादी पर काम करते है।

क्यो ‘चार्टर्ड अकौंटंट’ शिक्षाक्रम का चयन करना चाहिये ? – Reasons to become a Chartered Accountant

चार्टर्ड अकौंटंट एक प्रतिष्ठित नौकरीपेशा होता है, जहा आप सुरक्षित ढंग से अच्छा खासा धनार्जन कर सकते है। व्यावसायिक क्षेत्र मे हर वक़्त आर्थिक मुद्दे जैसे के हिसाब किताब का नियोजन करना, अर्थ संबंधी व्यवहारो की जांच पडताल रखना, कर प्रणाली से जुडी चीजे संभालना इत्यादी के लिये चार्टर्ड अकौंटंट पेशेवर व्यक्ती की जरुरत होती है, ऐसे परिस्थिती मे व्यावसायिक क्षेत्र मे चार्टर्ड अकौंटंट पदो के लिये भारी मात्रा मे रोजगार के अवसर निर्मित होते रहते है।

इसिलिये चार्टर्ड अकौंटंट शिक्षाक्रम का चयन आपके लिये सुनहरे भविष्य के हिसाब से सही निर्णय साबित हो सकता है।

‘चार्टर्ड अकौंटंट’ बनने के लिये क्या करना होगा? – Eligibility for CA (Chartered Accountant)

वैसे तो चार्टर्ड अकौंटंट बनने के लिये कुछ चरणो से सफल होकर गुजरना पडता है, पर शुरुवाती तौर पर इस शिक्षाक्रम के लिये न्यूनतम पात्रता कक्षा 12 वी उत्तीर्ण करना अत्यंत आवश्यक होता है। आप विग्यान, कला तथा वाणिज्य शिक्षाक्रम से कक्षा बारवी उत्तीर्ण कर चार्टर्ड अकौंटंट शिक्षाक्रम के लिये पात्र माने जाते है।

भलेही कला और विग्यान से १२ वी कक्षा सफल छात्र इस शिक्षा क्रम के लिये पात्र माने जाते है, पर वाणिज्य शिक्षाक्रम से १२ वी कक्षा सफलता पूर्वक पुरी करने वाले छात्र वाणिज्यिक विषय जैसे के हिसाब किताब से जुडे विषय, अर्थशास्त्र तथा अर्थ संबंधी नियोजन जैसे विषय पहले ही पढ चुके होते है, तो उनके लिये चार्टर्ड अकौंटंट शिक्षाक्रम और अधिक करीबी और जाना पहचाना हो सकता है।

१. कक्षा १२ वी के बाद चार्टर्ड अकौंटंट बनने के लिये चरण – How to become A Chartered Accountant after 12th

सी.ए फाउंडेशन (पहले इसे ‘सी.पी.टी’ या सामान्य प्रवीणता परीक्षा के रूप में जाना जाता था)

कक्षा बारवी पुरी करने के बाद चार्टर्ड अकौंटंट शिक्षाक्रम मे प्रवेश हेतू ये पूर्व परीक्षा देना अनिवार्य होता है,जो के भारत के चार्टर्ड एकाउंटेंट्स संस्थान (ICAI) द्वारा साल मे दो बार ली जाती है।

ये पूर्व परीक्षा राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा होती है,जो भी छात्र कक्षा बारवी पुरी करने के बाद चार्टर्ड अकौंटंट शिक्षाक्रम मे प्रवेश के लिये इच्छुक होते है,वो इस पूर्व परीक्षा के लिये आवेदन कर सकते है।

पूर्व परीक्षा का पाठ्यक्रम (C.A Exam Syllabus)

चार्टर्ड अकौंटंट शिक्षाक्रम मे प्रवेश हेतू पूर्व परीक्षा के लिये आवेदन करने के बाद, आपको कुछ महत्वपूर्ण विषयो पर पूर्व परीक्षा देनी होती है, इन्ही पाठ्यक्रमो का संक्षिप्त मे वर्णन निचे दिया गया है।

पेपर १ – : लेखांकन के सिद्धांत और अभ्यास
पेपर २- : बिजनेस लॉ और बिजनेस कॉरेस्पोंडेंस एंड रिपोर्टिंग
पेपर ३- : बिजनेस मैथमेटिक्स एंड लॉजिकल रीजनिंग एंड स्टैटिस्टिक्स
पेपर ४- : बिजनेस इकोनॉमिक्स और बिजनेस एंड कमर्शियल नॉलेज

2. पूर्व परीक्षा के लिये आवेदन करने के बाद छात्रो को लगभग चार महिने का वक़्त परीक्षा की तैयारी हेतू मिल जाता है।
3. जिन छात्रो ने चार्टर्ड अकौंटंट शिक्षाक्रम के लिये ली जाने वाली पूर्व परीक्षा सफलतापूर्वक पुरी की हो, उन सभी को चार्टर्ड अकौंटंट इंटरमीडिएट कोर्स के लिये आवेदन हेतू पात्र माना जाता है।
4. ईसी बीच छात्रो को ४ सप्ताह यानी के लगभग एक महिने का सूचना प्रौद्योगिकी और सॉफ्ट स्किल्स पर एकीकृत पाठ्यक्रम (ICITSS) को पुरा करना होता है , कभी भी इंटर्नशिप या आर्टिकलशिप से पहले छात्रो को ये पाठ्यक्रम पुरा करना अनिवार्य होता है।

‘चार्टर्ड अकौंटंट इंटरमीडिएट परीक्षा’  के बारे महत्वपूर्ण जानकारी – Information about CA Exam

१. पूर्व परीक्षा सफलता से पूर्ण करने वाले छात्रो को लगभग अगले आठ माह तक का समय इंटरमीडिएट परीक्षा के तैयारी हेतू मिलते है, इंटरमीडिएट परीक्षा दो तरह के समूह के रूप मे होती है, इन दोनो समूहो से कोई एक समूह प्राथमिकता पर उत्तीर्ण करना छात्रो को अनिवार्य होता है।
२. कोई भी एक समूह सफलता से पूर्ण करने के बाद छात्र चार्टर्ड अकौंटंट के इंटर्नशिप या आर्टिकलशिप के लिये पात्र माने जाते है, और वो आर्टिकलशिप शुरू कर सकते है।
३. ३ सालो के चार्टर्ड अकौंटंट शिक्षा क्रम मे दोनो भी समूह उत्तीर्ण करने वाले छात्र ही इंटरमीडिएट परीक्षा पुरी तरह पुरी कर सफल माने जाते है, और वो चार्टर्ड अकौंटंट के अंतिम परीक्षा के लिये पात्र माने जाते है।

चार्टर्ड अकौंटंट के अंतिम परीक्षा के बारे मे महत्वपूर्ण जानकारी – Information about CA Final Exam

१. जिन छात्रो ने सफलतापूर्वक इंटरमीडिएट परीक्षा के दोनो समूह उत्तीर्ण किये है तथा ४ सप्ताह यानी के लगभग एक महिने का सूचना प्रौद्योगिकी और सॉफ्ट स्किल्स पर एकीकृत पाठ्यक्रम (ICITSS) पुरा किया है एवं इसके साथ जो लगभग २ सालो से अधिक अवधी से आर्टिकलशिप पुरी कर चुके है या आर्टिकलशिप खत्म होने को छह महिने का अवधी शेष है ऐसे छात्र चार्टर्ड अकौंटंट के अंतिम परीक्षा देने के लिये पात्र माने जाते है।
२. ऐसे छात्रो को जरुरी है के वो अंतिम परीक्षा हेतू आवेदन करे
३. जो छात्र चार्टर्ड अकौंटंट की अंतिम परीक्षा सफलता पूर्वक उत्तीर्ण करते है, उन्हे जरुरत है के वो खुदको चार्टर्ड अकौंटंट के रूप में प्रतिनियुक्ति किए जाने के लिए भारतीय चार्टर्ड अकौंटंट संस्थान (ICAI) के सदस्य के रूप में खुद को नामांकित करे।

इस तरह कक्षा 12 वी के बाद विभिन्न चरणो से गुजरने के बाद छात्र चार्टर्ड अकौंटंट बन सकते है, जहा कडी मेहनत और लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित कर तैयारी की जरुरत होती है।

२. ग्रेज्यूएशन अथवा पोस्ट ग्रेज्यूएशन के बाद ‘चार्टर्ड अकौंटंट’ बनने हेतू संपूर्ण प्रक्रिया की जानकारी (Procedure To Become An Chartered Accountant After Graduation/Post Graduation)

जिन छात्रो ने अपनी ग्रेज्यूएशन अथवा पोस्ट ग्रेज्यूएशन तक की शिक्षा पुरी की हुई है और जिन्हे चार्टर्ड अकौंटंट शिक्षक्रम के लिये प्रवेश लेना है उनके लिये प्रवेश हेतू कुछ छुट रहती है, जैसे के इस तरह के छात्रो को चार्टर्ड अकौंटंट के लिये ली जाने वाली पूर्व परीक्षा देने की जरुरत नही होती, कुछ प्रमुख पात्रता के मानदंड को पुरा कर इन छात्रो को चार्टर्ड अकौंटंट के इंटरमीडिएट परीक्षा के लिये आवेदन करने का मौका दिया जाता है। ऐसेही कुछ पात्रता हेतू आवश्यक मानदंडो को निचे दिया गया है ;

१. अगर छात्र वाणिज्य धारा से ग्रेज्यूएशन अथवा पोस्ट ग्रेज्यूएशन पुरा कर चुका है तो ,उसके कुल प्राप्त अंक ५५ प्रतिशत होने चाहिये।
२. अगर छात्र गैर वाणिज्यिक धारा से अपना ग्रेज्यूएशन अथवा पोस्ट ग्रेज्यूएशन पुरा कर चुका है तो , उसके कुल प्राप्त अंक ६० प्रतिशत होने चाहिये।
३. ईसी बिच ऐसे छात्रो को ४ सप्ताह यानी के लगभग एक महिने का सूचना प्रौद्योगिकी और सॉफ्ट स्किल्स पर एकीकृत पाठ्यक्रम (ICITSS) को पुरा करना होता है , कभी भी इंटर्नशिप या आर्टिकलशिप से पहले छात्रो को ये पाठ्यक्रम पुरा करना अनिवार्य होता है।
४. इसके अगले पाडाव पर छात्र को ३ साल के इंटर्नशिप या आर्टिकलशिप के लिये खुदका नामनिर्देशन और पंजीकरण करना होता है , इसके बाद आर्टिकलशिप करते हुये अगले लगभग ९ महिने तक छात्र को इंटरमीडिएट परीक्षा के तैयारी हेतू समय मिलता है, जैसे ही इंटरमीडिएट परीक्षा का आयोजन होता है तो छात्र को आवेदन करना होता है।
५. जैसे के इंटरमीडिएट परीक्षा के लिये दो समूह होते है,जिन्हे छात्रो को पुरा करना होता है, यहा जो छात्र ये दोनो समूह सफलता पूर्ण करते है ,सिर्फ वही छात्र इंटरमीडिएट परीक्षा सफलता से पूर्ण करनेवाले तथा चार्टर्ड अकौंटंट के अंतिम परीक्षा के लिये पात्र माने जाते है।
६. जिन छात्रो ने सफलतापूर्वक इंटरमीडिएट परीक्षा के दोनो समूह उत्तीर्ण किये है तथा ४ सप्ताह यानी के लगभग एक महिने का सूचना प्रौद्योगिकी और सॉफ्ट स्किल्स पर एकीकृत पाठ्यक्रम (ICITSS) पुरा किया है एवं इसके साथ जो लगभग २ सालो से अधिक अवधी से आर्टिकलशिप पुरी कर चुके है या आर्टिकलशिप खत्म होने को छह महिने का अवधी शेष है ऐसे छात्र चार्टर्ड अकौंटंट के अंतिम परीक्षा देने के लिये पात्र माने जाते है।
७. अब छात्रो को आवश्यकता होती है के वो चार्टर्ड अकौंटंट की अंतिम परीक्षा को सफलता पूर्वक उत्तीर्ण करे और खुदको चार्टर्ड अकौंटंट के रूप में प्रतिनियुक्ति किए जाने के लिए भारतीय चार्टर्ड अकौंटंट संस्थान (ICAI) के सदस्य के रूप में खुद को नामांकित करे।

इस तरह स्नातक अथवा स्नातकोत्तर शिक्षा के बाद छात्र विभिन्न चरणो से गुजरने के बाद चार्टर्ड अकौंटंट बन सकते है।

कक्षा १२ के बाद चार्टर्ड अकौंटंट बनने के लिये लगभग चार साल छह महिने तक का अवधी लगता है, इस समय मे किये जाने वाले प्रयासो के आधार पर इस अवधी मे बढोतरी हो सकती है,जैसे के हर बार असफल होने के बाद छात्र को दोबारा परीक्षा को देना पडता है।वही स्नातक अथवा स्नातकोत्तर शिक्षाके बाद चार्टर्ड अकौंटंट शिक्षाक्रम को पुरा करने के लिये ३ साल तक का अवधी होता है।

असफलता के बाद हर बार प्रयास करना मतलब निर्धारित शिक्षाक्रम अवधी मे छह महिने अधिक से बढ जाना होता है। इस शिक्षाक्रम के विषय मे अधिक जानकारी हेतू आप भारतीय चार्टर्ड अकौंटंट संस्थान (ICAI) की आधिकारिक वेबसाइट पर अवश्य जाए :- www.icai.org

निष्कर्ष:-

उपर दिये गये दोनो भी विकल्प, जैसे के बारवी कक्षा के बाद या फिर ग्रेज्यूएशन अथवा पोस्ट ग्रेज्यूएशनके बाद चार्टर्ड अकौंटंट शिक्षाक्रम के लिये प्रवेश लेना, इन दोनो तरह से आप चार्टर्ड अकौंटंट बन सकते है, बारवी कक्षा के बाद चार्टर्ड अकौंटंट के लिये प्रवेश लेने वाले छात्रो की संख्या ग्रेज्यूएशन अथवा पोस्ट ग्रेज्यूएशनके बाद प्रवेश लेने वाले छात्रो से कई गुना अधिक होती है, इस लेख द्वारा अबतक दी गई सभी जानकारी केवल आपको चार्टर्ड अकौंटंट शिक्षाक्रम के बारे मे बुनियादी जानकारी देने के मक्सद से दी गई है, ईस शिक्षाक्रम को बढावा देना या फिर किसी तरह से इसकी लोकप्रियता बढाने के उद्देश्य से ये लेख नही लिखा गया है।

इस विषय पर बार बार पुछे जाने वाले सवाल (FAQ)

१. चार्टर्ड अकौंटंट बनने के लिये कितना समय लगता है?
Answer: वैसे तो इस शिक्षाक्रम का निर्धारित समय ३ साल का होता है, फिर भी असफल होने पर फिरसे प्रयास करने की परिस्थिती मे हर बार ६ माह तक का समय बढ जाता है।

२. क्या ३ साल मे मै चार्टर्ड अकौंटंट का शिक्षाक्रम पुरा कर सकता हु?
Answer: हा, इस शिक्षाक्रम का न्यूनतम निर्धारित समय ३ साल का होता है।

३. अगर मैने विग्यान शिक्षा धारा से १२ वी कक्षा सफलता से पुरी की है, तो क्या मै चार्टर्ड अकौंटंट पूर्व परीक्षा के लिये पात्र हु ?
Answer: हा।

४. क्या मै वाणिज्य धारा  मे स्नातक की पढाई पुरी करने के बाद चार्टर्ड अकौंटंट का शिक्षाक्रम के लिये प्रवेश ले सकता हु?
Answer: हा ,सिर्फ आपके स्नातक के कुल अंक ५५ प्रतिशत होने चाहिये, इस स्थिती मे आपको चार्टर्ड अकौंटंट की पूर्व परीक्षा नही देनी होती है।

५. क्या सी पी टी को समाप्त किया गया है?
Answer: हा, नवंबर २०१६ से भारतीय चार्टर्ड अकौंटंट संस्थान (ICAI) ने सी पी टी को समाप्त कर चार्टर्ड अकौंटंट पूर्व परीक्षा का आयोजन करना शुरू कर दिया है।

६. प्रत्यक्ष प्रवेश का प्रावधान क्या है?
Answer: जो छात्र स्नातक की शिक्षा पूर्ण कर चार्टर्ड अकौंटंट शिक्षाक्रम के लिये प्रवेश हेतू आते है उन्हे ,चार्टर्ड अकौंटंट की पूर्व परीक्षा नही देना होता है, उन्हे सीधे सीधे इंटरमीडिएट परीक्षा के लिये पात्र माना जाता है, इस तरह के छुट को प्रत्यक्ष प्रवेश का प्रावधान कहा जाता है।

The post चार्टर्ड अकौंटंट बनने के लिये संपूर्ण जानकारी appeared first on ज्ञानी पण्डित - ज्ञान की अनमोल धारा.

Share the post

चार्टर्ड अकौंटंट बनने के लिये संपूर्ण जानकारी

×

Subscribe to Gyanipandit - ज्ञानी पण्डित - ज्ञान की अनमोल धारा

Get updates delivered right to your inbox!

Thank you for your subscription

×