Get Even More Visitors To Your Blog, Upgrade To A Business Listing >>

रांजनगांव गणपति | Ranjangaon Ganpati

Ranjangaon Ganpati – रांजनगांव गणपति भगवान गणेश के अष्टविनायको में से एक है। इस मंदिर में स्थापित भगवान गणेश की मूर्ति को “खोल्लम” परिवार ने भेट स्वरुप दिया और मंदिर का उद्घाटन भी किया। पुणे के स्थानिक लोगो के बीच यह मंदिर काफी प्रसिद्ध है।

Ranjangaon Ganpati Temple
रांजनगांव गणपति – Ranjangaon Ganpati

आपको इस बात को जानकर हैरानी होंगी की मंदिर के भगवान गणेश की मूर्ति को “महोत्कट” कहा जाता है और ऐसा इसलिए कहा जाता है क्योकि मूर्ति की 10 सूंढ़ और 20 हाँथ है।

इतिहास:

खोल्लम परिवार रांजनगांव में बसा हुआ स्वर्णकारो का एक परिवार था। एतिहासिक रहस्योंद्घाटन के अनुसार इस मंदिर का निर्माण 9 वी से 10 वी शताब्दी में किया गया। माधवराव पेशवा ने मंदिर के निचले भाग में भगवान गणेश की मूर्ति रखने के लिए एक कमरे का निर्माण भी करवाया था। इसके बाद इंदौर के सरदार किबे से मंदिर की अवस्था में सुधार किया था। मंदिर का नगरखाना भी प्रवेश द्वार पर बना हुआ है। मुख्य मंदिर ऐसा लगता है जैसे इसका निर्माण पेशवा के समय में किया गया। पूर्व मुखी मंदिर का एक विशाल और सुंदर प्रवेश द्वार है।

किंवदंतियाँ:

किंवदंतियों के अनुसार त्रिपुरासुर नामक असुर स्वर्ग और पृथ्वी में मानव समाज को क्षति पंहुचा रहा था। सभी देवताओ की दलीलों को सुनकर भगवान शिव प्रकट हुए और उन्हें जल्द ही इस बात का एहसास हो गया था की वे उस असुर को पराजित नही कर सकते। इसके बाद नारद मुनि की राय मानकर शिवजी ने गणेश को याद किया और एक ही तीर से असुर और त्रिपुरा के किले को ध्वस्त कर दिया। त्रिपुरा असुर को ध्वस्त करने वाले शिवजी पास ही भीमाशंकर में प्रतिष्ठापित हो गए।

दक्षिण भारत की किंवदंतियों के अनुसार गणेश ने भगवान शिव रथ की धुरा को तोडा था, जबकि उस समय शिवजी असुर त्रिपुरासुर से युद्ध कर रहे थे। अंत में असुर को पराजित कर भगवान शिव ने वही भगवान गणेश के मंदिर को प्रतिष्ठापित किया था।

पुणे-नगर हाईवे से जाते समय पुणे-कोरेगांव का रास्ता पकडे और शिक्रापुर से जाते समय रांजनगांव शिरूर से 21 किलोमीटर पहले आता है। पुणे से यह 50 किलोमीटर दूर है।

Read More: History in Hindi

Note: We try hard for correctness and accuracy. please tell us If you see something that doesn’t look correct in this article About Ranjangaon Ganpati in Hindi… And if you have more information History of Mahaganpati Temple then help for the improvements this article.

The post रांजनगांव गणपति | Ranjangaon Ganpati appeared first on ज्ञानी पण्डित - ज्ञान की अनमोल धारा.

Share the post

रांजनगांव गणपति | Ranjangaon Ganpati

×

Subscribe to Gyanipandit - ज्ञानी पण्डित - ज्ञान की अनमोल धारा

Get updates delivered right to your inbox!

Thank you for your subscription

×