Get Even More Visitors To Your Blog, Upgrade To A Business Listing >>

ज्ञान का अहंकार – Moral Story in Hindi

Gyan ka Ahankar Moral Story in Hindi : दोस्तों आज हमने बच्चों के लिए ज्ञान का अहंकार एक शिक्षाप्रद छोटी कहानी लिखी है जिसको पढ़ कर विद्यार्थियों को एक नई सीख मिलेगी.

इस सीख से जीवन को देखने का उनका नजरिया बदल जाएगा और एक अलग परिवर्तन देखने को मिलेगा.

Gyan ka Ahankar Moral Story in Hindi

Gyan ka Ahankar Hindi Kahani for Class 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11 & 12 Students.

Gyan ka Ahankar Moral Story in Hindi


एक समय की बात है एक घमंडी व्यक्ति शहर से पढ़ लिख कर अपने पुराने गांव आया गांव और शहर के बीच में एक नदी पड़ती थी जिस को पार करने के बाद ही वह अपने गांव जा सकता था.

इसलिए उसने एक नाव वाले को बुलाया और उसके नाव में सवार होकर अपने गांव की ओर चल दिया. कुछ देर चलने के बाद वह घमंड में भरकर नाविक से पूछना लगा –

क्या तुमने कभी व्याकरण पढ़ा है..?

नाविक कुछ देर के लिए सोच में पड़ गया और फिर बोला ‘नहीं’ साहब मैंने नहीं पढ़ा है….

घमंड और अहंकार से भरे हुए व्यक्ति ने हंसते हुए कहा फिर तो तुमने अपनी आधी जिंदगी व्यर्थ में गंवा दी..

थोड़ी देर बाद अपनी पढ़ाई का और घमंड दिखाने के लिए उस व्यक्ति ने नाभिक से फिर पूछा, तुमने इतिहास और भूगोल पढ़ा है?

नाविक ने नाविक ने ना में सिर हिलाते हुए कहा ‘नहीं’ साहब..

अहंकारी व्यक्ति ने फिर जोर से ठहाका लगाकर नाविक का मजाक उड़ाते हुए कहा फिर तो तुमने अपना पूरा जीवन व्यर्थ कर दिया.

नाविक को इस बात पर बहुत क्रोध आया लेकिन वह मन मार कर रह गया और उस व्यक्ति से कुछ नहीं बोला चुपचाप नाव चलाने लगा..

कुछ दूर नाव चलाने के बाद अचानक नदी में उफ़ान आ गया और नाव जोर-जोर से हिचकोले खाने लगी.. यह देख कर नाविक ने चेहरे पर छोटी सी मुस्कान के साथ ऊंचे स्वर में उस व्यक्ति से पूछा,

‘साहब’ आपको तैरना भी आता है या नहीं…?

व्यक्ति ने कहा – ‘नहीं’ मुझे तैरना नहीं आता है.

नाविक ने कहा फिर तो आपको अपने इतिहास भूगोल और व्याकरण को सहायता के लिए बुलाना पड़ेगा, वरना आपकी सारी उम्र बर्बाद हो जाएगी… क्योंकि यह नाव डूबने वाली है.

यह कहकर नाविक नदी में कूद तैरता हुआ किनारे की ओर चला गया.

Moral of This Story Hindi

इस कहानी से हमें क्या शिक्षा मिलती है –

इस कहानी से हमें शिक्षा मिलती है कि कभी भी अपने ज्ञान पर व्यर्थ का अहंकार प्रदर्शित नहीं करना चाहिए और किसी को अपने ज्ञान के बल पर नीचा नहीं दिखाना चाहिए.

ज्ञान का अहंकार कहानी पढ़कर आपको कैसा लगा और क्या आपने भी कभी ज्ञान का अहंकार किया है तो उसका परिणाम क्या हुआ है यह हमें कमेंट में लिखकर बताएं.


यह भी पढ़ें –

जैसी करनी वैसी भरनी – Moral Story in Hindi

अच्छा हो मजाक कहानी – Moral Hindi Story

लालच का पिशाच – Story for Kids in Hindi

व्यवहार का ज्ञान – Vyavhar ka Gyan Moral Story in Hindi

दोस्तों Gyan ka Ahankar Moral Story in Hindi आपको कैसी लगी, अगर अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ शेयर करना ना भूलें और अगर आपका कोई सवाल है चाहो तो हमें कमेंट करके बताएं। 

अगर आपने भी कोई कहानी लिखी है तो हमें नीचे कमेंट में लिखकर बताएं और हम उस कहानी को हमारी इस पोस्ट में शामिल कर लेंगे।

The post ज्ञान का अहंकार – Moral Story in Hindi appeared first on Hindi Yatra.



This post first appeared on Hindi Yatra, please read the originial post: here

Share the post

ज्ञान का अहंकार – Moral Story in Hindi

×

Subscribe to Hindi Yatra

Get updates delivered right to your inbox!

Thank you for your subscription

×