Get Even More Visitors To Your Blog, Upgrade To A Business Listing >>

झोलाछाप डॉक्टर के कारण जिला प्रशासन की नीद उड़ी

झोलाछाप डॉक्टर के कारण जिला प्रशासन की नीद उड़ी

बांगरमऊ क्षेत्र में एक झोलाछाप चिकित्सक ने 38 लोगों को एचआईवी पीड़ित बना दिया। इससे जहां जिला प्रशासन की नीद उड़ी है, वहीं शासन भी चौकन्ना हो गया है। शासन ने स्वास्थ्य विभाग से एचआईवी पीड़ितों की रिपोर्ट तलब की है। साथ ही एक ही सिरिंज का प्रयोग कर लाइलाज बीमारी बांटने वाले आरोपी झोलाछाप पर सख्त कार्रवाई के भी निर्देश दिए हैं। उधर, सोमवार देर शाम प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री ने सीएमओ से वार्ता कर पूरे मामले की जानकारी भी ली।

स्वास्थ्य मंत्री ने आरोपी झोलाछाप चिकित्सक की जल्द गिरफ्तारी कर कठोर कार्रवाई के निर्देश दिए। बांगरमऊ के प्रेमगंज में स्वास्थ्य विभाग ने नवंबर 2017 में स्वास्य शिविर लगाया था। शिविर में 13 एचआईवी के मरीज मिले थे। इस बीच 22 जनवरी से 26 जनवरी के बीच प्रेमगंज, चकमीरापुर व किरविदियापुर में स्वास्थ्य विभाग की ओर से लगाए गए शिविर में 800 लोगों की जांच की गयी, जिनमें एचआईवी के 38 नये मरीज मिले।

इन एचआईवी पीड़ितों में छह बच्चे भी शामिल थे। पीड़ित मरीजों का आरोप है कि चिकित्सक ने एक ही सिरिंज से सभी को इंजेक्शन लगाया था। बता दें कि एक साल के अंदर अकेले बांगरमऊ क्षेत्र में अब तक 56 लोगों में एचआईवी की पुष्टि हो चुकी है। एक ही क्षेत्र विशेष में इतनी बड़ी संख्या में एचआईवी मरीजों के मिलने की खबर से शासन भी गंभीर हो गया है।

सोमवार देर शाम शासन ने सीएमओ से पूरे मामले की रिपोर्ट मांगी है। उधर, स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने सीएमओ से मामले की जानकारी लेते हुए आरोपी झोलाछाप पर कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए। साथ ही कहा कि पूरे जनपद में झोलाछाप चिकित्सकों की दुकानें बंद कराने के लिए विशेष अभियान चलाया जाए।

आईसीटी सेंटर की होगी स्थापना: एचआईवी के नोडल अधिकारी डॉ. राजेन्द्र प्रसाद ने बताया कि जिले में तीन आईसीटी सेंटर ही हैं। बांगरमऊ में आईसीटी सेंटर स्थापना को प्रस्ताव तैयार कराया जा रहा है। शासन से अनुमति मिलते ही वहां भी सेंटर की स्थापना करा दी जाएगी। मौत बांटने वाला झोलाछाप फरारउन्नाव।

एचआईवी पीड़ितों की काउंसिलिंग करने वाले सदस्यों के अनुसार पीड़ितों ने गांव-गांव जाकर लोगों का इलाज करने वाले झोलाछाप राजेन्द्र द्वारा इंजेक्शन लगाए जाने की बात कही है, जिस पर बांगरमऊ सीएचसी प्रभारी ने बांगरमऊ कोतवाली में उक्त झोलाछाप चिकित्सक के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज करायी थी। इसके बाद से आरोपी झोलाछाप चिकित्सक फरार चल रहा है।

The post झोलाछाप डॉक्टर के कारण जिला प्रशासन की नीद उड़ी appeared first on Rojgar Rath News.



This post first appeared on Rojgarrath News, please read the originial post: here

Share the post

झोलाछाप डॉक्टर के कारण जिला प्रशासन की नीद उड़ी

×

Subscribe to Rojgarrath News

Get updates delivered right to your inbox!

Thank you for your subscription

×