Get Even More Visitors To Your Blog, Upgrade To A Business Listing >>

सरकार की योजना को सरकारी दफ्तरो में गंभीरता से नहीं लिया जा रहा है, आम जनता परेशान

सरकार की योजना को सरकारी दफ्तरो में गंभीरता से नहीं लिया जा रहा है, आम जनता परेशान

बिलासपुर | लोक सुराज अभियान के पहले चरण में मिले 2 लाख 27 हजार से ज्यादा आवेदनों को जिले के 134 विभिन्न कार्यालयों में निराकरण के लिए भेजा गया, लेकिन इनमें से 64 सरकारी दफ्तर ऐसे हैं जिन्होंने अभी तक एक भी आवेदन का निराकरण नहीं किया है। गंभीर बात ये है कि जिन दफ्तरों में आवेदन लंबित हैं, उनमें अपर कलेक्टर, एसडीएम और तहसीलदारों के कार्यालय भी शामिल हैं।

12 13 एवं 14 जनवरी को लोक सुराज अभियान के अंतर्गत शिविर लगाकर आवेदन लिए गए। पर अब तक हजारों आवेदन पेंडिंग हैं। गंभीर ये है कि कई कार्यालयों ने आवेदनों को देखा तक नहीं है। जनपद पंचायत मस्तूरी में 42 हजार 251 आवेदनों में से एक का भी निराकरण नहीं हुआ है। बिजली कंपनी में 865 आवेदन, खादी ग्राम उद्योग कार्यालय में 736, एसपी कार्यालय में 100,पुलिस महानिरीक्षक कार्यालय में 14 आवेदन पेंडिंग हैं।

कृषि विभाग के संभागीय कार्यालय में 126 तो खेल विभाग में 75 आवेदनों का निराकरण नहीं हुआ। जेल अधीक्षक, कार्यपालन अभियंता जल संसाधन खारंग, मुख्य अभियंता हसदेव कछार और मिनीमाता बांगो परियोजना, मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जिला अंत्यावसायी विकास निगम कार्यालयों में आवेदन का अब तक कुछ नहीं हुआ है।

नगर पंचायत कोटा में 209, नगर पंचायत सकरी में 200, मुख्य नगर पालिका अधिकारी रतनपुर में 394, क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी कार्यालय में 186 तो पशु चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाएं कार्यालय में 3921 आवेदन पेंडिंग है। आवेदनों के संबंध में पूछने पर एडिशनल कलेक्टर केडी कुंजाम ने कहा कि इस मामले में नोडल अधिकारी बता सकते हैं।

जनपद पंचायत मस्तूरी में 42 हजार 251 आवेदन आए

राजस्व दफ्तरों में आवेदनों की सुध नहीं
अतिरिक्त कलेक्टर बिलासपुर के यहां 1204, एसडीएम कार्यालय बिलासपुर में 204, एसडीएम कार्यालय मस्तूरी में 344, अतिरिक्त तहसीलदार गनियारी में 232, तहसीलदार बिलासपुर में 1136, तहसीलदार कार्यालय मस्तूरी में 735, प्रभारी अधिकारी भूअभिलेख में 759, प्रभारी अधिकारी भू अर्जन शाखा में 178, प्रभारी अधिकारी भू बंटन शाखा में 497 आवेदन आए हैं। इनमें से एक का भी निराकरण नहीं हुआ।

गर्मी आ गई पीएचई ने एक भी आवेदन नहीं देखा
गर्मी शुरू हो गई है पानी की समस्या को लेकर सैकड़ों आवेदन आए हैं, लेकिन अब तक पीएचई विभाग ने एक भी आवेदन का निराकरण नहीं किया। लोक सुराज के अंतर्गत 823 आवेदन लोगों ने दिए थे लेकिन इनमें से एक भी आवेदन को देखा नहीं गया है। इसी तरह डीएफओ बिलासपुर में 152, मरवाही डीएफओ कार्यालय में 449, जिला कोषालय अधिकारी में 277, जिला साक्षरता अधिकारी कार्यालय में 118 आवेदन पेंडिंग हैं।

The post सरकार की योजना को सरकारी दफ्तरो में गंभीरता से नहीं लिया जा रहा है, आम जनता परेशान appeared first on Rojgar Rath News.



This post first appeared on Rojgarrath News, please read the originial post: here

Share the post

सरकार की योजना को सरकारी दफ्तरो में गंभीरता से नहीं लिया जा रहा है, आम जनता परेशान

×

Subscribe to Rojgarrath News

Get updates delivered right to your inbox!

Thank you for your subscription

×