Get Even More Visitors To Your Blog, Upgrade To A Business Listing >>

प्रेम प्रसंग में बीसीए के छात्र ने फंदे से झूलकर दी जान

प्रेम प्रसंग में बीसीए के छात्र ने फंदे से झूलकर दी जान

लखनऊ । मड़ियांव क्षेत्र में प्रेम प्रसंग के चलते बीसीए के छात्र ने फांसी लगाकर जान दे दी। वहीं तालकटोरा व मलिहाबाद क्षेत्र में विवाहिता, छात्रा समेत तीन लोगों ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मूलरूप से सिसवा बाजार महाराजगंज निवासी राजा चटर्जी (28) पुत्र स्व. सुभाष चटर्जी अलीगंज सेक्टर-ए, स्थित किराये के मकान में अपने भांजे व मित्र अशोक शर्मा के साथ रहता था और इग्नू से बीसीए (पत्राचार) की पढ़ाई कर रहा था।

शनिवार को तीनों साथियोें ने काना खाया और उसके बाद भांजा व अशोक किसी काम से बाहर चले गये। इसी बीच राजा ने कमरे में लगे पंखे के कुण्डे से अंगौछे का फंदा डाला और झूल गया। दोनोें साथी जब लौटे तो वह फंदे से लटका था। उन्होंने पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने उसे फंदे से उतारा और ट्रामा सेंटर ले गये, जहां डाक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया।

कमरे की तलाशी में पुलिस को बेड पर एक सुसाइड नोट मिला, जिसमें लिखा था ‘‘अब नहीं सहा जा रहा है दर्द, पता है कायर नहीं हूं। बस प्यार कुछ ज्यादा कर लिया। दीदी किसी को कुछ मत बोलना, सब मेरी गलती है, बहुत हिम्मत की है।’ उधर, तालकटोरा क्षेत्र के राजाजीपुरम क्षेत्र स्थित मल्टी स्टोरी कालोनी निवासी अभिषेक श्रीवास्तव (28) पुत्र दिनेश चन्द्र श्रीवास्तव ने शुक्रवार देर रात घर के बाहर टीनशेड में एंगिल से मां की साड़ी से फंदा डालकर फाँसी लगा ली।

सचिवालय मे अनुसेवक पद पर कार्यरत दिनेश चन्द्र श्रीवास्तव ने बताया कि शुक्रवार रात खाना खाने के बाद देर रात तक अभिषेक ने परिजनों के साथ बातचीत की और उसके बाद वह सोने चला गया। सुबह जब वह सोकर उठे तो घर के बाहर टीनशेड के एंगिल में बेटे को लटका देखा। परिजन उसे इलाज कराने के लिए रानीलक्ष्मीबाई हास्पिटल ले गये, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

अभिषेक श्रीवास्तव ई-ब्लाक राजाजीपुरम स्थिति एक पार्षद की लॉन्ड्री में नौकरी करता था। वह तीन भाइयों सचिन, निशांक व मनीष में सबसे बड़ा था। तालकटोरा एसएसआई अभिमन्यु मल्ल ने बताया कि अभिषेक की मां शान्ती ने बताया कि अभिषेक काफी दिनों से अवसाद में था, जिसके कारण उसने फांसी लगा ली। इसी तरह मलिहाबाद क्षेत्र के टिकरीहार गांव निवासी पेशे से मजदूर हुकुम सिंह पत्नी डॉली यादव और 3 वर्षीय बच्चा प्रांजल यादव के साथ रहते थे।

शुक्रवार को घर में फुफेरे भाई की पत्नी आयी और खाना खा रहे हुकुम सिंह के साथ एक ही थाली में खाना खाने लगी। यह बात डॉली को नागवांर गुजरी और रात में पति-पत्नी के बीच काफी कहासुनी हुई। शनिवार सुबह डॉली यादव ने मायके जाने के लिए पति से पांच सौ रुपये मांगे लेकिन पति समझा कर घर से बाहर चला गया और करीब 3 बजे डॉली ने घर के आंगन में लगे कंडेल के पेड़ में साड़ी का फंदा डालकर फांसी लगाकर अपनी जान दे दी।

डॉली यादव और हुकुम सिंह से मोबाइल पर दोस्ती हुई थी और दोनों ने शादी कर ली थी। डॉली यादव ग्राम बस्ती जिला आज़मगढ़ की रहने वाली थी। उधर इटौंजा क्षेत्र के राजापुर गांव में शनिवार की दोपहर छात्रा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। जानकारी के मुताबिक राजापुर गांव निवासी छोटकन यादव की बेटी अनामिका ने दुपट्टे का फंदा छत की बल्ली में डाला और फांसी लगाकर जान दे दी। छोटकन मजदूरी करता है।

शनिवार रात उनके पिता की बीमारी से मौत हो गई थी। शनिवार को घर में उनकी पंचायत का कार्यक्रम चल रहा था। पिता छोटकन ने बताया की उनकी बेटी अनामिका बाबा से बहुत ज्यादा लगाव रखती थी। बाबा की मौत के बाद से वह गुमसुम रहती थी। बाबा की पंचायत कार्यक्रम से उसको बाबा की यादें ताजी हो गयीं और दुखी होकर उसने दुपट्टे से फांसी लगा ली। इटौंजा थाना इंस्पेक्टर चंद्रभान ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद मौत का कारण स्पष्ट हो जाएगा।

The post प्रेम प्रसंग में बीसीए के छात्र ने फंदे से झूलकर दी जान appeared first on Rojgar Rath News.



This post first appeared on Rojgarrath News, please read the originial post: here

Share the post

प्रेम प्रसंग में बीसीए के छात्र ने फंदे से झूलकर दी जान

×

Subscribe to Rojgarrath News

Get updates delivered right to your inbox!

Thank you for your subscription

×