Get Even More Visitors To Your Blog, Upgrade To A Business Listing >>

आधी अधूरी पुलिस फोर्स के जिम्मे है लोगों की सुरक्षा की जिम्मेदारी

आधी अधूरी पुलिस फोर्स के जिम्मे है लोगों की सुरक्षा की जिम्मेदारी

आनी l कुल्लूजिला के आनी खण्ड के करीब 60 हजार लोगों की सुरक्षा का जिम्मा आधी अधूरी पुलिस फोर्स के जिम्मे छोड़ा गया है। जिसके चलते आनी में आये दिन लड़ाई झगड़े,गाड़ियों से तोड़फोड़,चोरियों की वारदातें बढ़ी है। हालांकि बहुत सी घटनाओं की पुलिस तक मे रिपोर्ट भी दर्ज नहीं करवाई गई है।

वारदातों में लगाम लगाने में नाकाफी है पुलिस फोर्स
जबकि कस्बे में आये दिन घरों से चोरियों की घटनायें घटना,छेड़छाड़,स्कूटर-मोटर साइकिल चुराकर दूर छोड़ देना,पार्क गाड़ियों से छेड़छाड़ और तस्करी की घटनाओं पर लगाम लगाने के लिये पुलिस फोर्स नाकाफी साबित होती है। के मर्तबा देखा गया है कि आनी के चरस तस्कर आनी से निकल कर बाहरी जिलों की पुलिस द्वारा पकड़े गए हैं।

आनी कस्बे के तंगहाल हाई वे और पुलिस फोर्स की कमी के चलते ट्रेफिक व्यव्यस्था चरमर्रा गयी है। घटों जाम लगने आम बात हो गया है। पुलिस फोर्स के कम होने पर कस्बे में ट्रेफिक जाम और अन्य घटनाओं के घट जाने पर संबंधित थाना खाली हो जाता है।

आधी अधूरी पुलिस फोर्स के जिम्मे में खुद को पाकर क्षेत्र के बाशिंदों में खौफ है। क्षेत्रवासियों ने पुलिस विभाग और सरकार से मांग की है कि आनी में रिक्त पड़े पुलिस जवानों के पदों को शीघ्र भरा जाये।

32पंचायतों की सुरक्षा 30 जवानों के हवाले
आनी जैसे कठिन भौगोलिक परिस्थितियों वाले क्षेत्र में स्वीकृत स्ट्रेंथ उस वक्त की है जब जनसंख्या काफी कम थी। जबकि पिछले कई सालों में जनसंख्या में वृद्धि हुई है,जबकि पुलिस जवानों की संख्या में कोई खास वृद्धि दर्ज नहीं हो पाई है। आंकड़ों पर नजर दौड़ाएं तो आनी खण्ड की 32 पंचायतों की करीब 60 हजार जनसंख्या की सुरक्षा करीब 30 जवानों के हवाले है।

ऐसे में इस कठिन भौगौलिक परिस्थिति में 1 जवान करीब 2000 लोगों की सुरक्षा का जिम्मा सम्भालें हुए है। जबकि आफिस स्टाफ,सम्मन लेकर गए या एविडेंस पर गए जवानों की संख्या निकाल दी जाए तो करीब 3000 लोगों के लिए एक पुलिस जवान का होना किसी के भी पल्ले नहीं पड़ता। जबकि बाहरी राज्यों और स्थानीय चरस तस्करों ,चरस के खरीदारों की यह बेहद प्रिय जगह रही है। लेकिन पुलिस की पर्याप्त फोर्स होने के कारण पुलिस इन पर हाथ डालने में नाकाम है।

डीएसपी,हेड कांस्टेबल ,एचएससी सहित 12 पद खाली
डेढ़माह पहले डीएसपी आनी के रिटायर हो जाने से और आचार संहिता के लगे होने के चलते डीएसपी का पद आनी उपमंडल में खाली चल रहा है। जिसके चलते आनी, निरमण्ड और ब्रो थाना की देखरेख संबंधित थाना प्रभारी ही कर रहे हैं।जबकि आनी पुलिस थाना के अंतर्गत एक हेड कांस्टेबल,9 मानक मुख्य आरक्षी और 2 कुक के पद भी खाली चल रहे हैं। ये पद पिछले लंबे से यूं ही रिक्त पड़े हैं। और जो पद भरे भी हैं उनमें से कुछ की ड्यूटी इन दिनों चुनावी प्रक्रिया में है,कुछ पुलिस थाना,गवाहियों, सम्मन पहुंचाना में लगी होने के कारण बचे खुचे जवान ही लोगों की सुरक्षा में लगे हैं।

The post आधी अधूरी पुलिस फोर्स के जिम्मे है लोगों की सुरक्षा की जिम्मेदारी appeared first on Rojgar Rath News.



This post first appeared on Rojgarrath News, please read the originial post: here

Share the post

आधी अधूरी पुलिस फोर्स के जिम्मे है लोगों की सुरक्षा की जिम्मेदारी

×

Subscribe to Rojgarrath News

Get updates delivered right to your inbox!

Thank you for your subscription

×