Get Even More Visitors To Your Blog, Upgrade To A Business Listing >>

सांड ने तोड़ दी थी आंख, नाक और आधा चेहरा, डॉक्टरों की मेहनत से फिर मिली पुरानी शक्ल

चैतन्य भारत न्यूज

बीकानेर. यह कहानी राजस्थान के बीकानेर के रहने वाले करणी बिश्नोई की है। करीब एक साल पहले सितंबर 2020 में एक उग्र सांड के हमले का शिकार होने के बाद वे बुरी तरह घायल हो गए थे। कहा जा रहा है कि डॉक्टर्स भी यह देखकर हैरान थे कि इतनी गंभीर चोटें लगने के बाद भी वे जिंदा कैसे बचे। हालांकि, अब वे बेहतर होने की राह पर हैं। घंटों लंबी सर्जरी के बाद चिकित्सकों ने केवल उनकी जान ही नहीं बचाई। बल्कि हादसे से पहले वाली शक्ल लौटाने में भी सफलता हासिल की है। अब बिश्नोई के साथ हुई यह घटना और उनके उबरे की कहानी को विस्तार से जानते हैं-

एफएमसीजी कंपनी में ऑपरेटिंग हेड के तौर पर काम करने वाले बिश्नोई घटना के वक्त अपनी कार में थे। उनके साथ एक साथी और भी मौजूद था। उनका इलाज करने वाले मैक्स साकेत की तरफ से जारी विज्ञप्ति के अनुसार, बिश्नोई कार का विंडो ग्लास नीचे कर गाड़ी चला रहे थे। उन्होंने रास्ते से गुजर रहे सांडों के समूह के निकलने के लिए गाड़ी धीमी की। इतने में एक सांड ने उनकी गाड़ी पर हमला कर दिया। नोट के मुताबिक, उन्हें गाड़ी से बाहर खींचा गया और सड़क पर पटका गया, लेकिन सांड ने उन्हें जिंदा छोड़ दिया।

इस हमले में बिश्नोई ने अपनी सीधी आंख खो दी थी। साथ ही उनका चेहरे का दाईं ओर का हिस्सा बुरी तरह प्रभावित हुआ था, जबकि उनके साथ सफर कर रहे अन्य व्यक्ति को ज्यादा चोटें नहीं आई और वह बिश्नोई को पीड़ित की बहन के साथ अस्पताल लेकर गए। प्रेस नोट के अनुसार, हालात इतने खराब थे कि बीकानेर के स्थानीय अस्पताल को यह पता नहीं लग रहा था कि करना क्या है। उन्होंने उनका खून रोका। इसके बाद उन्हें साकेत अस्पताल लाया गया। उनके चेहरे का सीधा हिस्सा बुरी तरह टूटा हुआ था।

अस्पताल में कोविड-19 प्रोटोकॉल के चलते सर्जन्स ने 10 घंटों तक चली सर्जरी में उनकी नाक, हड्डियों, मांस को एक साथ जोड़ा गया। इसके बाद 9 घंटे चली एक और सर्जरी में उनकी इंसानी शक्ल कुछ हद तक लौट सकी। चार महीनों बाद वे दूसरे स्टेज की सर्जरी से गुजरे। इस समय उनके चेहरे का सीधा हिस्सा लकवाग्रस्त हो गया था। हालांकि, अभी भी वे पूरी तरह से स्वस्थ नहीं हुए हैं। अगले कुछ महीनों में उन्हें कृत्रिम आंख लगाई जाएगी और चोट में सुधार किया जाएगा।



This post first appeared on Chaitanya Bharat News, please read the originial post: here

Share the post

सांड ने तोड़ दी थी आंख, नाक और आधा चेहरा, डॉक्टरों की मेहनत से फिर मिली पुरानी शक्ल

×

Subscribe to Chaitanya Bharat News

Get updates delivered right to your inbox!

Thank you for your subscription

×