Get Even More Visitors To Your Blog, Upgrade To A Business Listing >>

Search Engine क्या है,कितने प्रकार का होता है और कैसे काम करता है

आज के पोस्ट में हम जानने वाले हैं की search engine क्या है | आज का जमाना इन्टरनेट का है | हमे अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में कोई भी प्रॉब्लम होती है तो आज हम गूगल पर सर्च करते हैं |

हमे अपने करियर से रिलेटेड कोई information चाहिए तो Google पर सर्च करते हैं, हमें किसी भी चीज़ की जानकारी चाहिए या फिर देश -विदेश मैं क्या चल रहा है इन सब चीजों के बारे में जानने के लिए हम आज के समय मैं गूगल का सहारा लेते हैं | यहाँ तक अब तो हम shopping भी गूगल पर सर्च करके ही करने लगे हैं |

आज के समय में ये कहना बिलकुल भी गलत नही होगा की Google हमारे ज़िन्दगी का एक बहुत ही महत्वपूर्ण अंग बन चूका है शायद हम अब कल्पना भी नही कर सकते की बिना गूगल के हम अपनी किसी भी प्रॉब्लम का solution कर पाएंगे |

तो आज के इस बहुत ही खास पोस्ट में हम यही जानने वाले हैं की आखिर सर्च इंजन ( Google) क्या है और कैसे काम करता है |

Search Engine क्या है

search Engine एक सॉफ्टवेर प्रोग्राम है जो यूजर के हिसाब से इनफार्मेशन, वेब या इन्टरनेट पर provide करता है | basically search इंजन के पास बहुत सारा डाटा टेक्स्ट,इमेज और विडियो के रूप में होता है और जब भी कोई यूजर सर्च इंजन पर कोई भी query सर्च करता है तो सर्च इंजन अपने पेज पर काफी सारे links उस यूजर के query से रिलेटेड provide करता है |

सर्च इंजन जिस पेज पर query से रिलेटेड links देता है उसे SERP (सर्च इंजन रिजल्ट पेज) कहते हैं |

अभी गूगल दुनिया का सबसे बड़ा सर्च इंजन हैं जहाँ सबसे ज्यादा लोग google पर अपने query सर्च करते हैं |

गूगल के अलावा bing,yahoo,baidu और yandex बाकि बड़े सर्च इंजन हैं लेकिन 100% में से लगभग 93% लोग सिर्फ गूगल सर्च इंजन का ही इस्तेमाल करते हैं |

search engine के concept को मैं आपको एक example देकर समझाता हूँ :-

मान लीजिये आपके मन में कोई सवाल हैं की आप टॉप 5 IT सेक्टर सर्च करना चाहते हैं जो आने वाले समय में काफी डिमांड में होंगे |

तो आप क्या करेंगे आप गूगल पर जायेंगे और टाइप करेंगे top 5 demanding it sector upcoming 5 years एक बात आपको पता होना बहुत ही जरुरी है की आप जो भी गूगल पर लिखते हो उसे टेक्निकली कीवर्ड कहा जाता है |जैसे top 5 demanding it sector in upcoming 5 years एक कीवर्ड हो गया |

अब आपने जैसे ही गूगल पर टाइप किया तो कुछ ही सेकंड मैं आपको गूगल के पेज पर कुछ लिस्ट दिखाई देते हैं और ये लिस्ट जिस पेज पर आपको दिखाई देती है उसे SERP यानि सर्च इंजन रिजल्ट पेज कहा जाता है | अब ये आप जान लो की ये जितनी भी लिस्ट गूगल ने आपको दिखाई है ये सब डाटा गूगल जो की एक सर्च इंजन है में सेव है और ये सभी लिस्ट किसी न किस वेबसाइट के पेज के links होते हैं जो कई सारे वेबसाइट या ब्लॉग creator बनाते हैं और फिर गूगल मैं सबमिट करते हैं | और फिर गूगल उन्ही सारे पेज को आपको, आपके query के हिसाब से दिखाता रहता है |

अब आपका सर्च इंजन का concept तो जरुर clear हो ही गया होगा |

सर्च इंजन काम कैसे करता है

क्योंकि दुनिया का सबसे बड़ा सर्च इंजन google है तो हम गूगल की ही बात करते हैं |एक आम आदमी जो इन्टरनेट का उपयोग करता है तो गूगल के बारे में यही जानता है की हम जब भी गूगल में जाकर कुछ भी सर्च करते हैं तो गूगल हमें उसके जवाब लाके दे देता है |

लेकिन आज में आपको बताने वाला हूँ आखिर कैसे गूगल कुछ ही सेकंड मैं आपके किसी भी सवाल का सटीक जवाब दे देता है |

दुनिया मे जितने भी लोग ऑनलाइन बिज़नस करते हैं और करने की सोच रहे हैं तो उनके पास एक वेबसाइट का होना बहुत ही जरुरी होता है | और वो सभी लोग अपने वेबसाइट को बनाकर गूगल और बाकि सर्च इंजन मे सबमिट करते हैं ताकि जितने भी लोग गूगल पर उनके प्रोडक्ट,सर्विस या फिर आर्टिकल से रिलेटेड कोई भी चीज़ सर्च करें तो उनकी वेबसाइट का पेज का लिंक गूगल की लिस्ट मे आये और लोग गूगल के through उनकी वेबसाइट पर आयें |

इसलिए लाखों,करोड़ों की संख्यां मे आज गूगल पर वेबसाइट सबमिट होते हैं | गूगल के जिस प्लेटफार्म पर वेबसाइट को सबमिट किया जाता है उसे Google Search कंसोल कहते हैं |

लेकिन अब सवाल ये आता है की इतनी सारी वेबसाइट में से गूगल को कैसे पता चलता है की यूजर को किस टॉपिक से रिलेटेड इनफार्मेशन चाहिए और गूगल कैसे आपके सामने सटीक रिजल्ट show कर देता है ?

Basically गूगल 3 स्टेप्स में काम करता है , crawling,indexing,ranking और Retrievel आइये इन सभी के बारे में नीचे detail में जानने की कोशिश करते हैं |

Crawling

जैसे की नाम से ही clear है की कुछ चीज़ को search करना ही crawling होता है | तो गूगल के पास कुछ स्पाइडर होते हैं जो खुद को daily अपडेट करते रहते हैं | ये सभी स्पाइडर क्या करते हैं की गूगल के पास जितनी भी सबमिट वेबसाइट होते हैं उन सभी को क्रॉल करते हैं और जानने की कोशिश करते हैं की आखिर ये वेबसाइट किस बारे में है |

अब गूगल के crawler या स्पाइडर किसी भी वेबसाइट के टाइटल,यूआरएल,हैडिंग और इसके साथ ही आपने कौनसे main कीवर्ड का इस्तेमाल किया हैं | इन सब चीजों से जानने की कोशिश करता है की आपकी वेबसाइट किस बारे में है |

Indexing

गूगल एक बहुत ही बड़ा सर्वर हैं जहाँ लाखों में वेबसाइट का डाटा सेव होता है | गूगल के स्पाइडर जब एक बार वेबसाइट को पहचान जाते हैं तो उसके बाद बारी आती है उसे index करने की, मतलब वेबसाइट के डाटा को क्रम से व्वयस्थित करने की इसी को indexing कहा जाता है |

क्योंकि गूगल पर लाखों अलग-अलग टॉपिक पर वेबसाइट सबमिट होती हैं इसलिए उन्हें टॉपिक के अनुसार उनके डाटा को गूगल के स्पाइडर indexing करते हैं |

Ranking और Retrievel

वेबसाइट को जब गूगल के स्पाइडर index कर देते हैं तो अब बारी आती है उसे ranking करने की, जब भी आप लोग कोई चीज़ google पर सर्च करते हो तो आपको एक ही टॉपिक से रिलेटेड हजारों,लाखों जवाब लिस्ट के जरिये मिलते हैं |

ON PAGE SEO क्या है और इससे ब्लॉग को गूगल के टॉप पर कैसे लायें – पूरी जानकारी

तो basically गूगल के crawler वेबसाइट को crawl करने के बाद ये decide करते हैं क्या ये वेबसाइट यूजर के question का सही जवाब दे पायेगी | इसके साथ ही क्या इस वेबसाइट को बाकि और वेबसाइट ने भी refer लिंक दिया है जिसे आमतौर पर हम backlink कहते हैं इसके अलावा भी गूगल के स्पाइडर काफी कुछ वेबसाइट में देखते हैं और फिर गूगल के SERP (सर्च इंजन रिजल्ट पेज) पर नंबर के कर्म में वेबसाइट के पेज को show करवाते हैं यही सारा process ranking कहलाता है |

SEO क्या है और क्यों जरुरी है – पूरी जानकारी

Search engine कितने प्रकार के होते हैं

अभी तक हमने इस पोस्ट के जरिये जान लिया है की search engine क्या है और कैसे काम करता है | अब हम search इंजन के प्रकार के बारे में जानने वाले हैं –

सर्च इंजन यूँ तो बहुत प्रकार हैं लेकिन आज मैं आपको कुछ बहुत ही पोपुलर सर्च इंजन के बारे में बताने वाला हूँ |

Yahoo

yahoo ,ये नाम आपने जरुर सुना ही होगा 1994 में अमेरिका में इसकी शुरुआत हुई थी | yahoo एक डायरेक्टरी वेबसाइट है जो mainly वेबसाइट के डाटा को सम्भाले रखता है | Jerry Yang and David Filo इन दोनों ने इसको बनाया था |

yahoo सबसे ज्यादा email providers में से एक है | अभी पूरी दुनिया मैं 3.90% की market शेयर yahoo के पास है और वो fourth नंबर पर आता है |

2011 से लेकर 2015 तक bing द्वारा ही yahoo के search इंजन की सर्विस को चलाया गया था | हालंकि 2015 के बाद से अब गूगल और bing दोनों मिलकर yahoo के सर्च इंजन सर्विस को चलाते हैं |

Bing

बिंग Google के लिए Microsoft का उत्तर है और इसे 2009 में लॉन्च किया गया था। बिंग Microsoft के वेब ब्राउज़र में डिफ़ॉल्ट खोज इंजन है। बिंग में, वे इसे बेहतर खोज इंजन बनाने के लिए हमेशा प्रयासरत रहते हैं, लेकिन Google प्रतियोगिता देने के लिए इसे एक लंबा रास्ता तय करना है।

Microsoft का खोज इंजन नक्शे के साथ-साथ छवि, वेब और वीडियो खोज सहित विभिन्न सेवाएँ प्रदान करता है। बिंग ने स्थान पेश किया (Google का समकक्ष Google मेरा व्यवसाय है), यह व्यवसाय के लिए अपने खोज परिणामों को अनुकूलित करने के लिए अपने विवरण प्रस्तुत करने का एक बेहतरीन मंच है।

खोज इंजन बाजार में हिस्सेदारी लगातार 10% से नीचे है, भले ही बिंग विंडोज पीसी पर डिफ़ॉल्ट खोज इंजन है।

Google

Google Search Engine दुनिया का सबसे अच्छा Search Engine है और यह Google के सबसे लोकप्रिय उत्पादों में से एक है। लगभग 70 प्रतिशत सर्च इंजन बाजार का अधिग्रहण Google द्वारा किया गया है। टेक दिग्गज हमेशा विकसित हो रहा है और अंतिम-उपयोगकर्ता को सर्वोत्तम परिणाम प्रदान करने के लिए खोज इंजन एल्गोरिथ्म में सुधार कर रहा है। हालाँकि Google सबसे बड़ा खोज इंजन प्रतीत होता है, 2015 तक YouTube अब Google (डेस्कटॉप कंप्यूटर पर) से अधिक लोकप्रिय है।

Google के खोज इंजन शेयर का लाभ कैसे उठाना चाहते हैं? Google के लिए अपनी वेबसाइट का अनुकूलन करें।

अगर हम इन्टरनेट पर कुछ भी सर्च करने की बात करें तो सबसे पहले गूगल ही हमारे दिमाग में आता है गूगल की सर्च इंजन की सर्विस दुनिया में सबसे बेहतरीन है और यही रीज़न है की बाकि सभी सर्च इंजन इसके आस-पास भी नही आते हैं | तो जो भी लोग ऑनलाइन बिज़नस करते हैं वो सभी सिर्फ गूगल पर ही अपनी वेबसाइट की परफॉरमेंस को बेहतर बनाने के लिए प्रयास करते हैं | क्योंकि दुनिया में सबसे ज्यादा लोग गूगल के ही प्रयोग करते हैं |

Search engine और वेब ब्राउज़र में क्या अंतर होता है

मैंने देखा है की काफी सारे लोग वेब ब्राउज़र (गूगल chorme, firefox) और सर्च इंजन (google,bing,yahoo) में क्या difference होता है नही जानते हैं | पहले तो में आपको क्लियर कर दूँ की वेब ब्राउज़र और सर्च इंजन दो अलग-अलग चीज़ें हैं, हाँ हालंकि बिना ब्राउज़र के सर्च इंजन का प्रयोग नही किया जा सकता है | तो चलिए आइये जानते हैं इन दोनों में क्या डिफरेंस होता है |

1- वेब ब्राउज़र वेबसाइट और वेब पेज को access करता है जबकि सर्च इंजन वेबसाइट को फ़िल्टर और searches करता है |

2 – वेब ब्राउज़र को सर्च इंजन की जरुरत नही पडती जबकि सर्च इंजन को वेब ब्राउज़र की जरुरत पडती है जैसे अगर हमे कुछ भी जानना है तो पहले हम गूगल क्रोम को ओपन करते हैं फिर गूगल को सर्च करके उसमे अपनी query को सर्च करते हैं |

3 – गूगल chrome, mozila,firefox और safari ये सब वेब ब्राउज़र हैं जबकि google,bingऔर yahoo ये सभी सर्च इंजन होते हैं |

Final words

मुझे पूरी आशा है की मेरे इस पोस्ट के जरिये आप जान ही गये होंगे की search engine क्या है , और कैसे काम करता है साथ ही search engine कितने प्रकार होते हैं |

अगर आपका कोई भी सवाल या सुझाव हमारे इस पोस्ट या फिर हमारे ब्लॉग के बारे में है तो आप हमे कमेंट करके बता सकते हैं | साथ ही दोस्तों अगर आपको मेरी ये जानकारी हेल्पफुल लगी तो इसे अपने बाकि दोस्तों में जरुर शेयर

The post Search Engine क्या है,कितने प्रकार का होता है और कैसे काम करता है appeared first on DeepakBhandari.in.



This post first appeared on DeepakBhandari.in, please read the originial post: here

Share the post

Search Engine क्या है,कितने प्रकार का होता है और कैसे काम करता है

×

Subscribe to Deepakbhandari.in

Get updates delivered right to your inbox!

Thank you for your subscription

×