Get Even More Visitors To Your Blog, Upgrade To A Business Listing >>

Tere Jalwe Ab Mujhe Har Soo Nazar Aane Lage. / तेरे जलवे अब मुझे हर सू नज़र आने लगे,

तेरे जलवे अब मुझे हर सू नज़र आने लगे,
काश ये भी हो के मुझ में तू नज़र आने लगे ।

इब्तिदा ये थी के देखी थी ख़ुशी कि एक झलक,
इन्तिहाँ ये है के ग़म हर सू नज़र आने लगे ।

बेक़रारी बढ़ते बढ़ते दिल की फ़ितरत बन गयी,
शायद अब तस्कीन का पहलू नज़र आने लगे ।

ख़त्म कर दे ऐ ‘सबा’ अब शाम-ए-ग़म की दास्तान,
देख उन आँखों में भी आँसू नज़र आने लगे ।

  • Saba Afghani.
  • Lata Mangeshkar.


This post first appeared on Bazm-E-Jagjit, please read the originial post: here

Share the post

Tere Jalwe Ab Mujhe Har Soo Nazar Aane Lage. / तेरे जलवे अब मुझे हर सू नज़र आने लगे,

×

Subscribe to Bazm-e-jagjit

Get updates delivered right to your inbox!

Thank you for your subscription

×