Get Even More Visitors To Your Blog, Upgrade To A Business Listing >>

शनिदेव और हनुमान जी के बीच का रिश्ता जानकर हैरान रह जाओगे आप !

बजरंगबली की पूजा से शनि का प्रकोप शांत होता है लेकिन हनुमान जी की पूजा से यूँ ही खुश नही हो जाते शनि महाराज. इनकी पूजा करने से सूर्य व् मंगल के साथ शनि की शत्रुता व् योगो के कारण उत्पन्न कष्ट भी दूर हो जाते है.

पराशर संहिता में हनुमान जी की शादी का उल्लेख मिलता है। माना जाता है कि हनुमान जी का विवाह सूर्य की पुत्री सुवर्चला से हुआ था। आंध्रप्रदेश के खम्मम में एक प्राचीन हनुमान मंदिर है जहां हनुमान जी के साथ उनकी पत्नी की भी मूर्ति विराजमान है। शास्त्रों में शनि महाराज को सूर्य का पुत्र बताया गया है। इस नाते हनुमान जी की पत्नी सुवर्चला शनि महाराज की बहन हुई। और सबके संकट दूर करने वाले हनुमान जी भाग्य के देवता शनि महाराज के बहनोई हुए।

एक बार भगवान राम के गुरु विश्वामित्र किसी कारण वश हनुमान जी से गुस्सा हो गए और उन्होंने प्रभु राम को हनुमान जी को मौत की सजा देने को कहा था भगवान राम ने ऐसा किया भी क्योंकि वह गुरु को मना नही कर सके लेकिन सजा के दौरान हुनमान जी राम नाम जपते रहे और उनके उपर प्रहार किए गए सारे शस्त्र विफल हो गए.

बहुत कम लोग जानते है कि हनुमान जी भगवान शंकर के अवतार हाउ और वह अपनी माता के श्राप को हरने के लिए पैदा हुए थे कहते है कि लंका कांड शुरू होते ही हनुमान जी ने हिमालय जाकर वहां के पहाड़ो पर अपने नाखूनों से रामायण लिखनी शुरू कर दी थी. जब रामायण लिखने के बाद वाल्मीकि जी को ये बात पता चली तो वह हिमालय गए और वहां पर लिखी रामायण पढ़ी.

दोस्तों अगर आपको हमारी यह पोस्ट अच्छी लगे तो लाइक और शेयर जरूर कीजिए और ऐसे ही पोस्ट आगे भी पढ़ते रहने के लिए हमें फॉलो करना ना भूलें, क्योंकि हम हर रोज ऐसे ही पोस्ट आपके लिए लाते रहते हैं।

The post शनिदेव और हनुमान जी के बीच का रिश्ता जानकर हैरान रह जाओगे आप ! appeared first on Hindutva.



This post first appeared on Pursuing The Sublime Ganges – From Heaven To Ear, please read the originial post: here

Share the post

शनिदेव और हनुमान जी के बीच का रिश्ता जानकर हैरान रह जाओगे आप !

×

Subscribe to Pursuing The Sublime Ganges – From Heaven To Ear

Get updates delivered right to your inbox!

Thank you for your subscription

×