Get Even More Visitors To Your Blog, Upgrade To A Business Listing >>

लचकदार अंगूठा हस्तरेखा ( Supple Thumb Palmistry )

लचकदार अंगूठा हस्तरेखा (  Supple Thumb Palmistry )



लचकदार अंगूठा : अंगूठे के प्रथम जोड़ के नरम या लचीला होने से अंगूठा पीछे की ओर आसानी से धनुषाकार होकर घूम जाता है। ऐसे अंगूठे का जोड़ बहुत लचकदार होता है। लचकदार अंगूठे वाले जातकों का स्वभाव भी लचकदार होता है।

अपने किसी निर्णय पर ये बहुत समय तक स्थिर नहीं रह सकते। अवसर एवं समय के रुख के अनुसार इनके विचार बदलते रहते हैं। फुलूलखर्ची, अस्थिरता व भावुकता इनके स्वभाव में होती है। ऐसे लोगों की बातों कोई पता नहीं गिरगिट की तरह रंग बदलनr इनके जीवन की अfभन्न सच्चाई है, किन्तु इसका मतलब यह नहीं है कि वे दगाबाज और बेईमान होते हैं।
दरअसल, ऐसे लोग भावुकता और उदारतावश दूसरों के प्रभाव में आकर अपने निर्णय बदल देते हैं, किन्तु अपने इस बदलाव का दु:ख इन्हें होता है। ऐसे लोग नयी परिस्थितियों व नये व्यक्तियों के साथ आसानी से पुल-मिल जाते हैं, इसलिए इन्हें कहीं भी परेशानी नहीं होती। दूसरों के गुणावगुणों को भी शीघ्र अपनाना इनका स्वभाव होता है। लचीले अंगूठे वाले जातक जल्दबाज, , भावुक व सहज होते हैं। प्रेम-प्रदर्शन, आकर्षण तथा काल्पनिक विचारों में निपुण होते हैं।

घर, परिवार व राष्ट्र के प्रति इन्हें भावात्मक प्रेम होता है, किन्तु इनमें क्रियात्मक क्षमता और संकल्पशक्ति का अभाव होता है। कई बार बिना सोचे-समझे गलत निर्णय ले लेते हैं और परेशानी में पड़ जाते हैं।


This post first appeared on INDIAN PALM READING - HASTREKHA VIGYAN, please read the originial post: here

Share the post

लचकदार अंगूठा हस्तरेखा ( Supple Thumb Palmistry )

×

Subscribe to Indian Palm Reading - Hastrekha Vigyan

Get updates delivered right to your inbox!

Thank you for your subscription

×