Get Even More Visitors To Your Blog, Upgrade To A Business Listing >>

अनामिका अँगुली (Ring Finger) सूर्य की अँगुली । Sun Finger Palmistry

sun finger palmistry

1) अधिकतर यह मध्यमा (Middle) अँगुली से छोटी और तर्जनी (Index Finger) से बहुत थोड़ी-सी बड़ी होती है। यदि यह तर्जनी अँगली से अधिक बड़ी हो, व्यक्ति जीवन में अच्छी उन्नति करता है। उसमें दया, प्रेम, उदारता आदि गुण होते है।

2) यदि यह मध्यमा के बराबर लम्बी हो जाये तो व्यक्ति अपने स्वार्थ हेतु दूसरों को कष्ट पहुँचाने वाला होता है। जुआ, सट्टा आदि खेलता तथा नशा करता है। इस प्रकार वह अपना तथा परिवार का नाश कर सकता है।

3) अनामिका छोटी होने पर व्यक्ति को प्राचीन वस्तुओं, कबाड़ी का काम आदि करके लाभ हो सकता है। इतिहास और ऐतिहासिक भवनों तथा वस्तुओं से सम्बन्धित कार्यों से भी लाभ सम्भव होता है।

4) अगला सिरा नुकीना-संगीतज्ञ, चित्रकार हो।

5) अनामिका का ऊपरी भाग चपटा-प्राचीन चीजों, इतिहास आदि के कार्यों से लाभ।

6) प्रथम पर्व लम्बा-कलात्मक रुचि, अभिनय, संगीत, गायन में लाभ।

7) दूसरा पर्व लम्बा-अपनी प्रतिभा तथा परिश्रम से लाभ।

8) तीसरा पर्व लम्बा तथा चौड़ा-राष्ट्र स्तर का सम्मान सम्भव।

9) अनामिका अँगुली का झुकाव सबसे छोटी अँगुली की ओर हो-प्यार में लाभ।

10) अनामिका का झुकाव मध्यमा की तरफ होने से चिन्तन, मनन करने वाले कार्यों में लाभ।

11) यदि यह अँगुली तर्जनी अँगुली के बराबर हो तो उसे यश पाने की अत्यधिक कामना होती है जो अच्छी सूर्य रेखा से पूरी भी हो सकती है।

पढ़ें -  अँगूठों के झुकाव के आधार पर भाग्य वर्गीकरण


This post first appeared on INDIAN PALM READING - HASTREKHA VIGYAN, please read the originial post: here

Share the post

अनामिका अँगुली (Ring Finger) सूर्य की अँगुली । Sun Finger Palmistry

×

Subscribe to Indian Palm Reading - Hastrekha Vigyan

Get updates delivered right to your inbox!

Thank you for your subscription

×