Get Even More Visitors To Your Blog, Upgrade To A Business Listing >>

मित्र मंडली -54





मित्रों , 
"मित्र मंडली" का चौबनवाँ अंक का पोस्ट प्रस्तुत है।इस पोस्ट में मेरे ब्लॉग के फॉलोवर्स/अनुसरणकर्ताओं के हिंदी पोस्ट की लिंक के साथ उस पोस्ट के प्रति मेरी भावाभिव्यक्ति सलंग्न है। पोस्टों का चयन साप्ताहिक आधार पर किया गया है। इसमें दिनांक 22.01.2018  से 28.01.2018 तक के हिंदी पोस्टों का संकलन है।


पुराने मित्र-मंडली पोस्टों को मैंने मित्र-मंडली पेज पर सहेज दिया है और अब से प्रकाशित मित्र-मंडली का पोस्ट 7 दिन के बाद केवल मित्र-मंडली पेज पर ही दिखेगा, जिसका लिंक नीचे दिया जा रहा है : HTTPS://RAKESHKIRACHANAY.BLOGSPOT.IN/P/BLOG-PAGE_25.HTML मित्र-मंडली के प्रकाशन का उद्देश्य मेरे मित्रों की रचना को ज्यादा से ज्यादा पाठकों तक पहुँचाना है। आप सभी पाठकगण से निवेदन है कि दिए गए लिंक के पोस्ट को पढ़ कर, टिप्पणी के माध्यम से अपने विचार जरूर लिखें। विश्वास करें ! आपके द्वारा दिए गए विचार लेखकों के लिए अनमोल होगा। 
प्रार्थी 
राकेश कुमार श्रीवास्तव "राही"

मित्र मंडली -54  

इस सप्ताह के सात रचनाकार 

"आदत"

मीना भारद्वाज  जी 

"आदत जो अच्छी हो जो दिल को सच्ची लगती हो उसको बदलने की जरूरत नहीं परन्तु जो आदत अच्छी एवं सच्ची न हो उसे बदलने में भी हर्ज नहीं है कम से कम कोशिश तो अवश्य करनी चाहिए। "

गणतंत्र यानि...

श्वेता सिन्हा जी 

"हम सभी केवल अपनी अधिकारों की बातें करते हैं । इसी के मद्देनज़र 1976 में नागरिकों के कर्तव्यों को संविधान में जोड़ा गया। परन्तु इस भागमभाग की ज़िन्दगी में कहीं ना कहीं हम नैतिकता को अनदेखी करते हैं। विचारणीय आलेख और व्यंग करती कविता। सुन्दर प्रस्तुति। "



जिन्होंने वारे लाल वतन पे--- कविता --

रेणु  बाला जी  

"जिस देश में शहीदों का सम्मान न हो , उनके परिवारों के प्रति संवेदना न हो वह राष्ट्र मृत समान है । हम सभी भारतीय शहीदों का सम्मान करते हैं एवं उनके परिवार वालों के प्रति गहरी संवेदना रखते हैं।  इसी के उदगार स्वरुप यह कविता प्रस्तुत है। सुन्दर भावपूर्ण प्रस्तुति।  "

सरकारी आयोजन मात्र नहीं हैं राष्ट्रीय त्यौहार



कविता  रावत जी 

"गणतंत्र दिवस पर ज्ञानवर्धक एवं विचारणीय आलेख।  सुन्दर प्रस्तुति। "

इक दुर्घटना

पुरुषोत्तम कुमार सिन्हा जी 

"दुर्घटना या मौत का मंजर देख लेने के बाद मन में एक अस्थाई भाव आता है। ईश्वर आपकी मनोकामना पूर्ण करें। 800 वीं रचना के प्रस्तुति पर हार्दिक शुभकामनाएँ।"

ये ज़िन्दगी!

विजय बोहरा  जी

"युवा सोच सदैव बगावत के लिए उकसाता है अगर बगावत सकारात्मक है तो संकेत अच्छे हैं।  सुन्दर युवा भावाभिव्यक्ति।"

इश्क़ है

पंकज भूषण पाठक जी



"इश्क़, केवल कही-सुनी बातों में ही परिभाषित नहीं है, ये तो हर शय में है।  सुन्दर भावाभिव्यक्ति।"


आशा है कि मेरा प्रयास आपको अच्छा लगेगा ।  आपका सुझाव अपेक्षित है। अगला अंक 05-02-2018  को प्रकाशित होगा। धन्यवाद ! अंत में ....
मेरी दो प्रस्तुति  : 

1.फोटोग्राफी : पक्षी 45 (Photography : Bird 45 )

http://rakeshkirachanay.blogspot.com/2018/01/45-photography-bird-45.html

Top post on IndiBlogger, the biggest community of Indian Bloggers Top post on IndiBlogger, the biggest community of Indian Bloggers



2 तकनीकी युग के बच्चे


http://rakeshkirachanay.blogspot.com/2018/01/blog-post_26.html




This post first appeared on RAKESH KI RACHANAY, please read the originial post: here

Share the post

मित्र मंडली -54

×

Subscribe to Rakesh Ki Rachanay

Get updates delivered right to your inbox!

Thank you for your subscription

×