Get Even More Visitors To Your Blog, Upgrade To A Business Listing >>

मित्र मंडली - 9



मित्रों ,

"मित्र मंडली" की नौवीं कड़ी का पोस्ट प्रस्तुत है। इस पोस्ट में मेरे ब्लॉग फॉलोवर/अनुसरणकर्ता के हिंदी पोस्ट के लिंक के साथ उस पोस्ट के प्रति मेरी भावाभिव्यक्ति सलंग्न है। पोस्ट का चयन साप्ताहिक आधार पर है।  इसमें  दिनांक 27.02.2017  से 05.03.2017  के हिंदी पोस्ट का संकलन है।


पुराने मित्र-मंडली पोस्टों को मैंने मित्र-मंडली पेज पर सहेज दिया है और अब से प्रकाशित मित्र-मंडली का पोस्ट 7 दिन के बाद केवल मित्र-मंडली पेज दिखेगा, जिसका लिंक नीचे दिया जा रहा है :-HTTPS://RAKESHKIRACHANAY.BLOGSPOT.IN/P/BLOG-PAGE_25.HTML


मित्र-मंडली प्रकाशन का उद्देश्य मेरे मित्रों की रचना को ज्यादा से ज्यादा पाठकों  तक पहुँचाना है। 

आप सभी पाठकगण से निवेदन है कि दिए गए लिंक के पोस्ट को पढ़ कर टिपण्णी के माध्यम से अपने विचार जरूर लिखें। यकीं करें ! आपके द्वारा दिया गया विचार लेखकों के लिए अनमोल होगा।  

प्रार्थी 

राकेश कुमार श्रीवास्तव "राही"

                                  मित्र मंडली - 9 


1.  "11मार्च2017 को कई हो जाएंगे,सत्ता से 9 - 2 > 11 " पीताम्बर दत्त शर्मा (समीक्षक) मो.न.+ 9414657511


"11मार्च2017 को कई हो जाएंगे,सत्ता से 9 - 2 > 11 " पीताम्बर दत्त शर्मा की पोस्ट चुनाव नतीजों के पूर्वाग्रह से ग्रसित लोगों को अगाह करती है।  ऐसे मुझे ही क्या सभी भारतीयों को इंतज़ार है 11 मार्च का, आल इज वेल। 



2. कोलकाता का एक छुपा स्थल → तेरेत्ति बाजार (About Tiretti Bazar, Kolkata by Kishan Bahety )


रितेश जी की ये पोस्ट "कोलकाता का एक छुपा स्थल → तेरेत्ति बाजार" चीनी बाजार की विशेषता एवं उसकी परेशानियों पर विशेष नज़र रखती है। आप भी पढ़ें। 



3.  "बेईमान - जुमले"!!!- पीताम्बर दत्त शर्मा (स्वतन्त्र टिप्पणीकार) मो.न.+9414657511


"बेईमान - जुमले"!!!- पीताम्बर दत्त शर्मा जी की अपनी विशिष्ट मजेदार शैली में गूढ़ बात लिखे हैं। जुमलों के बारे में मेरी एक सोच है कि ये अनपढ़ लोगों पर चढ़कर बोलती है और चुनाव के दौरान इससे कोई अछूता नहीं है। 



4.  कृष्ण ने ग्वालिन घेरी दगड़े में


जयंती प्रसाद जी कविता "कृष्ण ने ग्वालिन घेरी दगड़े में" कृष्ण और ग्वालिन के रोजमर्रा की घटना पर आधारित है। आप भी आनंद लें। 

5. बोलते ही उठ खड़े होते हैं मिलाने आवाज से आवाज गजब हैं बेतार के तार याद आते हैं बहुत ही सियार


सुशील कुमार जोशी की उलूक टाइम्स पर फिर से तीखा व्यंग करती पोस्ट *बोलते ही उठ खड़े होते हैं मिलाने आवाज से आवाज गजब हैं बेतार के तार याद आते हैं बहुत ही सियार* . असल में ये सभी रंगे हुए सियार है जो अपने -अपने  पक्ष की बातें रख रहें परंतु उलूक सब जानता है। 

6. बेटियाँ!!


सारिका जी की छोटी परंतु प्रभावी रचना "बेटियाँ " सहज ही महसूस कराती कि स्त्रियों में बेटी पढ़ाने की ललक बढ़ गई है। 


7. अमर शहीद पंडित चन्द्र शेखर आज़ाद जी की ८६ वीं पुण्यतिथि


अमर शहीद पंडित चन्द्र शेखर आज़ाद जी की ८६ वीं पुण्यतिथि पर शिवम् मिश्रा जी की अमर शहीद पंडित चन्द्र शेखर आज़ाद जी को श्रद्धांजलि स्वरुप सुंदर पोस्ट।  अमर शहीद पंडित चन्द्र शेखर आज़ाद जी को मेरा भी नमन। 


8. कैसी यह मनहूस डगर है


अपने जीवन शैली के कारण प्रकृति से हम दूर होते जा रहे है इस टीस को महसूस कराती  कैलाश शर्मा जी की सुंदर कविता "कैसी यह मनहूस डगर है", आप भी पढ़ें। 

आशा है कि मेरा प्रयास आपको अच्छा लगेगा ।  आपका सुझाव आपेक्षित है। अगला अंक 13-03-2017  को प्रकाशित होगी। धन्यवाद ! अंत में ....

मेरी दो रचनाएँ 



9. रॉक गार्डन, चंडीगढ़ की सैर



http://rakeshkirachanay.blogspot.in/2017/03/blog-post



10. भारत – एक पर्यटक की नज़र में







This post first appeared on RAKESH KI RACHANAY, please read the originial post: here

Share the post

मित्र मंडली - 9

×

Subscribe to Rakesh Ki Rachanay

Get updates delivered right to your inbox!

Thank you for your subscription

×